Bhind MP: चम्बल और सिंध नदी का जलस्तर बढ़ा, 25 गांव डूबे, 120 गांव है प्रभावित,सेना और एयरफोर्स ने मोर्चा संभाला

676

भिंड से परानिधेश भारद्वाज की रिपोर्ट

●सिंध किनारे बसे इंदुरखी गांव में 20 फीट से ज्यादा पानी भरा…

●भिंड में सेना और एयरफोर्स ने मोर्चा संभाला…

●राहत और बचाव कार्य तेजी से जारी

भिंड- भिंड जिले में चम्बल और सिंध नदी का जलस्तर बढ़ने से गंभीर हालात बन चुके हैं। इस आपदा मैं 120 गांव बाढ़ प्रभावित हैं। 25 गांव पूरी तरह डूब गए हैं। वहीं जिन गांव में तेजी से पानी भर रहा है उनमें भी राहत और बचाव कार्य तेजी से किया जा रहा है।

हालात यह है कि अब स्थिति काबू से बाहर हो चुकी है, जिसकी वजह से भिंड में सेना और एयरफोर्स ने मोर्चा संभाला है। सिंध किनारे बसे इंदुरखी गांव में 20 फीट से ज्यादा पानी भर चुका है। यह गांव खाली कराने के लिए सेना को मौके पर पहुँच गयी और तेज़ी से राहत बचाव कार्य किया जा रहा है।

दरअसल जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर बसे इंदुरखी गांव और आसपास के 25 गांव में सिंध नदी का पानी तेजी से आगे बढ़ रहा है, जिसकी वजह से पूरे गावो में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है,हालात यह है कि पानी 20 फीट तक वह रहा है, जिसके चलते एक हजार परिवार वाला यह गांव और इसमें रहने वाले ग्रामीण डरे हुए सहमे हुए हैं, इस गांव को तेजी से खाली कराने के लिए पहले ही जिला प्रशासन की ओर से अलर्ट जारी कर मुनादी कराई गई थी, लेकिन लोगों ने समय रहते समझदारी नहीं दिखाई नतीजा यह हुआ कि जल्द ही बुधवार के दिन नदी का जलस्तर तेजी से बड़ा कई लोग तो समय रहते अपना सामान लेकर गांव से बाहर निकल गए लेकिन कई ऐसे लोग भी थे जिन्हें मौका नहीं मिला।

प्रशासन ने तेजी से राहत और बचाव कार्य किया और लोगों को बाहर निकाला, लेकिन ढाई सौ से ज्यादा लोग इस गांव में फंसे हुए है, जिन्हें रेस्क्यू करने के लिए सेना को बुलाना पड़ा, इंदुरखी गांव में ज्यादातर घर पूरी तरह डूबे हुए हैं। मौके पर पहुंची भारतीय सेना की टीम ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

जानकारी के मुताबिक सेना की 150 लोगों की तीन टीम राहत एवं बचाव कार्य के लिए भिंड जिले में बुलाई गई है, जिनमें पहला दल बुधवार देर शाम तक इंदुरखी गांव पर पहुंचा जिसमें करीब 60 जवान पहुंचे हैं, इस टुकड़ी में आर्मी के विशेष डॉक्टरों की एक टीम भी मौजूद है।

बताया जो रहा है की आर्मी के द्वारा सुबह इंदूर्खि गांव में रेस्क्यू ऑपरेशन प्रारंभ किया गया है। बाढ़ में फँसें व्यक्तियों को निकालने प्रशासन एवं पुलिस की टीम भी मौक़े पर उपस्थित है। इसके साथ एयर फोर्स ने भी मोर्चा संभाल लिया है। वह हेलिकॉप्टर के द्वारा भी फँसें व्यक्तियों को एयरलिफ़्ट शुरू किया जा रहा है।

सिंध नदी का जल स्तर अभी 19 मीटर से ज़्यादा है, जो खतरे के निशान से 12 मीटर अधिक बह रहा है जो और भी बढ़ने की सम्भावना है लगातार रेस्क्यू जाती हैं। बाढ़ में फंसे लोगों को रेस्क्यू कर निकालने के बाद ऊपरी इलाकों में स्कूलों में शिफ्ट किया गया है जहां उनके खाने पीने की व्यवस्था भी प्रशासन लगातार कर रहा है।

देखिये वीडियो: क्या कह रहे हैं, सतीश कुमार एस (कलेक्टर भिंड)-