Bhupesh Baghel : PMO ने मौसम देखकर PM का ट्रैवल प्लान क्यों नहीं बनाया

597

Raipur : प्रधानमंत्री की सुरक्षा में पंजाब में हुई चूक पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) का कहना है कि सारी लापरवाही PM के स्टाफ की है। PMO में जब कार्यक्रम बना, तब मौसम को क्यों नहीं देखा गया। जब दिल्ली से उड़े तब भी मौसम की जानकारी क्यों नहीं ली गई। पहले से मौसम के बारे में जानकारी थी, तब अल्टरनेट व्यवस्था क्यों नहीं की। CM ने कहा कि असलियत ये है कि जहाँ PM भाषण देने जाने वाले थे, वहां भीड़ थी ही नहीं!

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने PM Narendra Modi पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूरे देश में चर्चा है कि PM की सुरक्षा (Security) में चूक हुई है। जबकि, PM की सुरक्षा में कभी कोई चूक नहीं होना चाहिए। प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की सुरक्षा की हमेशा समीक्षा होती रहती है। जिस तरह से घटनाक्रम हुआ और बयानबाजी हो रही है, इसमें पहली बात ये कि PMO से कार्यक्रम बनते समय क्यों ध्यान नहीं दिया गया।

देखिये वीडियो: क्या कह रहे हैं, भूपेश बघेल (छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री)-

 

जब PM दिल्ली से उड़े तब भी मौसम की जानकारी नहीं ली गई। जबकि, पहले से मौसम के बारे में जानकारी थी। तभी अल्टरनेट व्यवस्था की जाना थी। जब बटिंडा से फिरोजपुर चौपर में जाना था, तब भी पंजाब सरकार को तीन जगहों पर सुरक्षा की ज़िमेदारी दी गई थी। तीनों ही जगह सरकार ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। तीनों जगह राज्य सरकार ने अपनी तैयारी की थी।

 

PM की राष्ट्रपति से मुलाकात पर CM भूपेश बघेल ने कहा कि ये राजनीतिक खेल है। पंजाब की सरकार को बदनाम करने का षड्यंत्र रचा गया है। PMO की जितनी सुरक्षा एजेंसियां है, वो सिर्फ विरोधियों को सताने के लिए है। एयरपोर्ट में उतरने के बाद कोई कहे कि 130 किमी सड़क मार्ग से जाना है, तो किसी भी राज्य का अधिकारी तत्काल रोड क्लियरेंस नहीं कर सकता। PM की सुरक्षा में 20 IPS और 10 हज़ार जवान तैनात थे।

बघेल ने कहा कि भाजपा ने पहले से स्क्रिप्ट तैयार करके रखी थी। ये सब कुछ राजनीतिक लाभ के लिए किया गया। केंद्र सरकार, आईबी, मौसम विभाग जिन्होंने PM का यात्रा प्रोग्राम (Travel Plan) प्लान किया, उन पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही। मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान के PM की सुरक्षा में चूक पर महामृत्युंजय जाप करने पर भूपेश बघेल ने कहा कि जब झीरम की घटना घटी, तब उन्होंने छत्तीसगढ़ के तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह से इस्तीफा क्यों नहीं मांगा।