बीजेपी ने इस नेता को हटाया कार्यसमिति सदस्य पद से, अनुशासन समिति की बैठक में कई मामले आए

801
BJP's Mission-2023: कितनी तोमर की चलेगी, कितना संगठन सक्रिय होगा ?

बीजेपी ने इस नेता को हटाया कार्यसमिति सदस्य पद से, अनुशासन समिति की बैठक में कई मामले आए

भोपाल: भाजपा मध्य प्रदेश की अनुशासन समिति की बैठक कल भोपाल में संपन्न हुई। इस बैठक में सबसे महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि सागर के भाजपा नेता और महापौर के पति सुशील तिवारी को भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पद से हटा दिया गया हैएम
इस संबंध में देर रात भाजपा के प्रदेश महासचिव और प्रदेश कार्यालय प्रभारी भगवानदास सबनानी द्वारा एक पत्र भी जारी कर उन्हें सूचित किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भाजपा ऐसे कार्यकर्ताओं और नेताओं के खिलाफ कार्यवाही करने का मन बना रही है जो पार्टी के पदाधिकारियों, मुख्यमंत्री और पार्टी की नीति के खिलाफ बयानबाजी करते हैं। इन लोगों पर अब कभी भी गाज गिर सकती है।

गुरुवार को हुई अनुशासन समिति की बैठक में प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा और समिति अध्यक्ष वेद प्रकाश शर्मा के अलावा सदस्य जगदीश अग्रवाल और विधायक देवीलाल धाकड़ भी मौजूद रहे।

IMG 20230602 105430

समिति के सामने संगठन के सभी 57 जिलों के मामले रखे गए। बताया गया है कि अनुशासन से जुड़ी कार्रवाई के 400 से अधिक मामले थे। इनमें कई प्रकरण ऐसे भी हैं जिनमें संगठन की ओर से कारण बताओ नोटिस और निष्कासन संबंधी कार्रवाई की जा चुकी है। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए इनमें कई मामलों में माफी देने का विकल्प रखा गया है लेकिन जिनके द्वारा लगातार बयानबाजी की जा रही है उन पर कार्रवाई करने का भी विचार किया गया है।

इसी क्रम में भाजपा नेता सुशील तिवारी द्वारा कारण बताओ नोटिस पर दिए गए जवाब को समिति ने संतोषजनक नहीं माना और बाद में प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य पद से हटा दिया गया।
बताया गया है कि समिति में कुछ मामलों में अंतिम निर्णय लेने के पहले अपने पार्टी जिला अध्यक्षों की रिपोर्ट मांगी है।