Blog

कौशल किशोर चतुर्वेदी

श्री कौशल किशोर चतुर्वेदी भोपाल में जाने-माने पत्रकार हैं। वे वर्तमान में न्यूज़ 360 चैनल के एडिटर हैं।

जब रोने लगे गांधी ... बोले बहुत दर्द होता है दुर्दशा देखकर ...

जब रोने लगे गांधी ... बोले बहुत दर्द होता है दुर्दशा देखकर ...

मीडियावाला.इन। गांधी शब्द पढ़कर बहुत लोगों के मन में बहुत कुछ चलने लगा होगा, ख़ास तौर से देश की दुर्दशा से जोड़कर।दुर्दशा के लिए कोई एक ज़िम्मेदार नहीं होता, सामूहिक ज़िम्मेदारी होती है। पूर्वाग्रहों को दूर करें भाई, दरअसल...

वायरल ऑडियो-वीडियो ... मददगार,असरदार या बेकार ...

वायरल ऑडियो-वीडियो ... मददगार,असरदार या बेकार ...

मीडियावाला.इन। जैसे-जैसे उप चुनाव का प्रचार ज़ोर पकड़ रहा है, वैसे-वैसे प्रचार में जुटे नेताओं के वीडियो और ऑडियो वायरल होने की गति भी तेज होती जा रही है। हालाँकि कोई भी विवादित बयान और वायरल ऑडियो...

कमल के चक्रव्यूह में घिरते नाथ ...!

कमल के चक्रव्यूह में घिरते नाथ ...!

मीडियावाला.इन। महाभारत के युद्ध में जिस तरह सेनापति द्रोणाचार्य, दुर्योधन और कर्ण सहित दिग्गज योद्धाओं ने मिलकर अकेले अभिमन्यु को चक्रव्यूह में चौतरफ़ा घेरा था, ठीक वैसा ही दृश्य मध्यप्रदेश के उपचुनावों में नज़र आ रहा है। मंत्री...

महाकाल की नगरी में मौतों का उपचुनावी तमाशा ...!

महाकाल की नगरी में मौतों का उपचुनावी तमाशा ...!

मीडियावाला.इन। महाकाल की नगरी उज्जैन में ज़हरीली शराब के सेवन से हुई 14 मौतों का मामला पूरे शबाब पर है। सवाल उठाए जा रहे हैं, जाँच समितियां गठित की जा रही हैं, जाँच रिपोर्ट के आधार पर...

विधायकों को देते थे 5 लाख ... जनता जानती है कि हम बिकाऊ नहीं हैं ...?

विधायकों को देते थे 5 लाख ... जनता जानती है कि हम बिकाऊ नहीं हैं ...?

मीडियावाला.इन। मंत्री इमरती देवी ने उपचुनाव के दौर में एक संगीन आरोप लगाकर बिकाऊ-टिकाऊ का एक नया फ़ार्मूला सार्वजनिक कर दिया है। इमरती देवी का कहना है कि कमलनाथ कांग्रेस के जो विधायक मंत्री न बन पाए थे उन्हें...

‘ग़द्दार’ के बाद अब ‘गरीब’ की उपचुनावों में धमाकेदार एंट्री ...

‘ग़द्दार’ के बाद अब ‘गरीब’ की उपचुनावों में धमाकेदार एंट्री ...

मीडियावाला.इन। मध्य प्रदेश के उपचुनावों में अब ‘गद्दार’ शब्द के बाद ‘गरीब’ शब्द  की धमाकेदार एंट्री हो गई है। गरीब होना गुनाह है #तो मैं भी शिवराज...सोशल मीडिया पर भाजपा का कैंपेन ट्रेंड कर रहा है। सीएम...

यानि ग़द्दारी तो हुई है ... किसने की यह जनता बताएगी ...

यानि ग़द्दारी तो हुई है ... किसने की यह जनता बताएगी ...

मीडियावाला.इन। मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा उपचुनाव क्या रंग दिखाने वाले हैं, इसका फ़ैसला तो 10 नवंबर को ही होगा लेकिन उपचुनावों में आमने-सामने अगर कोई दिख रहा है तो वह हैं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस...

हाँ, यह गांधी और गोडसे का देश है...

हाँ, यह गांधी और गोडसे का देश है...

मीडियावाला.इन। भारत, इंडिया और हिंदुस्तान एक ही देश के तीन अलग-अलग नाम है। जिसको जो पसंद हो उस नाम से देश को याद कर सकता है। कोई भारत बोलता है तब भी कोई परहेज़ नहीं है, कोई...

बेहतर अभिनय की चुनौती से जूझती राजनीति और रंगमंच ...

बेहतर अभिनय की चुनौती से जूझती राजनीति और रंगमंच ...

मीडियावाला.इन। मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तारीख़ तय होने के बाद अब चुनावी रंगमंच के पर्दे की तरफ़ दर्शकों की निगाहें टकटकी लगाए हैं। लोकतंत्र के इस अनूठे  रण में अब मतदाता किसका वरण करते हैं, वह परिणाम तो...

झूठ बोले कौआ काटे ... क़र्ज़माफ़ी पर आख़िर कौन बोल रहा झूठ...

झूठ बोले कौआ काटे ... क़र्ज़माफ़ी पर आख़िर कौन बोल रहा झूठ...

मीडियावाला.इन। किसान कर्ज़माफ़ी पर मध्य प्रदेश में भाजपा-कांग्रेस के बीच घमासान जारी है। अब मंत्री भूपेंद्र सिंह के कर्जमाफ़ी पर बयान के बाद विधानसभा की साख दाँव पर लग चुकी है।यह सवाल मुँह चिढ़ा रहा है कि विधानसभा में...

किसानों के अरमानों पर पानी फेरेंगे यह बिल या जीतेंगे दिल ...!

किसानों के अरमानों पर पानी फेरेंगे यह बिल या जीतेंगे दिल ...!

मीडियावाला.इन। विपक्ष की आवाज दबाना आसान है...अपनों को मना पाना बहुत मुश्किल है, केन्द्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर के इस्तीफ़े ने यह साफ़ कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए निश्चित तौर से यह एक करारा...

राजनीति में नए आयाम गढ़ेगा चम्बल का दंगल!

राजनीति में नए आयाम गढ़ेगा चम्बल का दंगल!

मीडियावाला.इन। आगामी विधानसभा उपचुनावों में चंबल क्षेत्र सबसे अहम किरदार निभाने जा रहा है। आगामी समय में सत्ता में कौन रहेगा, इसका फ़ैसला करने में चंबल क्षेत्र की 16 विधानसभा सीटों की महत्वपूर्ण भूमिका है। हाल ही...

किसान, गरीब, मज़दूर और मजबूर को भी चाहिए ऑक्सीजन ...

किसान, गरीब, मज़दूर और मजबूर को भी चाहिए ऑक्सीजन ...

मीडियावाला.इन। कोरोना संकट ने पहली बार यह साबित कर दिया है कि भविष्य में ऑक्सीजन को लेकर भी राज्यों में संघर्ष की नौबत आ सकती है। और हो सकता है कि जिस तरह नदियों के पानी के बँटवारे के...

सरकारों की उपलब्धियों के बीच दम तोड़ता किसान... नियति की विडंबना...

सरकारों की उपलब्धियों के बीच दम तोड़ता किसान... नियति की विडंबना...

मीडियावाला.इन। मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार में 2004 से 2016 के बीच 13 साल में 15,129 किसानों और खेतिहर मज़दूरों ने आत्महत्या की थी। मध्य प्रदेश विधानसभा में भाजपा सरकार ने ही यह जानकारी दी थी।

ये रिश्ता क्या कहलाता है ...?

ये रिश्ता क्या कहलाता है ...?

मीडियावाला.इन। राजधानी में एक जाने माने बिल्डर के यहाँ पड़े आयकर छापे के बाद राजनीतिक गलियारों से होते हुए यह शब्द कानों में गूंज रहे हैं कि ये रिश्ता क्या कहलाता है...? दरअसल यह कोई पहली दफ़ा नहीं है...

सवालों के घेरे में रामराज्य ...!

सवालों के घेरे में रामराज्य ...!

मीडियावाला.इन। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती और कांग्रेस कार्यकर्ता द्वारा दिए गए एक विज्ञापन ने एक बार फिर राम राज्य को चर्चा में ला दिया है। एक बार फिर वही रामराज्य सवालों के घेरे में है...

मुझे चाहिए आज़ादी ... अंग्रेज़ गए रंगरेज बचे ...

मुझे चाहिए आज़ादी ... अंग्रेज़ गए रंगरेज बचे ...

मीडियावाला.इन। कहने को तो 15 अगस्त 1947 को देश आज़ाद हो गया था लेकिन आज़ादी माँगने वाले नारे अभी भी ज़िंदा हैं यानी कि आज़ादी के 73 साल बाद भी।मुझे चाहिए आज़ादी...सीएए से आज़ादी एनपीआर से आजादी एनआरसी से...

अर्जुन तो बहुत हैं , पर कृष्ण कहाँ हैं ...?

अर्जुन तो बहुत हैं , पर कृष्ण कहाँ हैं ...?

मीडियावाला.इन। प्रदेश की राजनीति के समुंदर में धर्म से रंगा एक छोटा सा कंकड़ ही क्यों न फेंक दिया जाए...राजनीतिक लहरें दो भागों में बँटकर ज्वालामुखी का रूप धारण कर लेती हैं।ज़्यादातर समय यह ज्वालामुखी ख़ुद बख़ुद...

स्मृति शेष: राहत इंदौरी राहत नहीं मिली तो रुखसत ले ली...

स्मृति शेष: राहत इंदौरी राहत नहीं मिली तो रुखसत ले ली...

मीडियावाला.इन। कोरोना महामारी ने इस दुनिया को बहुत दर्द दिया है। लाखों लोग काल के गाल में समा गए तो करोड़ों लोग संक्रमण का शिकार होकर गहरी वेदना से गुज़रने को मजबूर हुए।हर मौत अपने आप में...

ठगे जा रहे शराब पीकर प्रदेश को ख़ुशहाल बनाने वाले...विकास की गंगा बहाने वाले ...

ठगे जा रहे शराब पीकर प्रदेश को ख़ुशहाल बनाने वाले...विकास की गंगा बहाने वाले ...

मीडियावाला.इन। मद्यपान करने वालों की चिंता जितनी सरकार को है मामा जी को है, उससे ज़्यादा विपक्ष को है यानी चाचा ताऊओं को है।मध्य प्रदेश के राजनेताओं की रग-रग में सुरा प्रेमियों के लिए प्रेम की गंगा बह रही...