Blog

दिनेश निगम त्यागी

श्री दिनेश निगम 'त्यागी' भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार हैं .


दिग्विजय ने क्यों लिया प्रहलाद-वीडी का नाम....

दिग्विजय ने क्यों लिया प्रहलाद-वीडी का नाम....

मीडियावाला.इन। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह खबरें देने वाले नेता के रूप में जाने जाते हैं। भाजपा में शिवराज सिंह के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए नरेंद्र सिंह तोमर, कैलाश विजयवर्गीय एवं नरोत्तम मिश्रा के नाम लिए जाते...

क्या है सोनिया-कमलनाथ मुलाकात का सच....

क्या है सोनिया-कमलनाथ मुलाकात का सच....

मीडियावाला.इन। कमलनाथ एक बार फिर चर्चा में हैं। वजह है कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में हुई उनकी मुलाकात। बातचीत लगभग एक घंटे तक चली। हर कोई मुलाकात का सच जानने की कोशिश में है। चर्चा चली कि...

कमलनाथ की सोनिया से मुलाकात, कई नेताओं की बांछें खिली

कमलनाथ की सोनिया से मुलाकात, कई नेताओं की बांछें खिली

मीडियावाला.इन। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में मुलाकात के बाद कमलनाथ के केंद्रीय राजनीति में जाने की खबर फैली और इधर प्रदेश में पार्टी के कई नेताओं की बांछें खिल गर्इं। ये लंबे समय से प्रदेश अध्यक्ष एवं...

कहां चूक कर गए कैलाश-राकेश....

कहां चूक कर गए कैलाश-राकेश....

मीडियावाला.इन। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह केंद्रीय मंत्री बनने से वंचित रह गए। दावेदार के तौर पर इनके नाम प्रमुखता से लिए जा रहे थे। कैलाश को पश्चिम बंगाल चुनाव में अच्छे...

नेमावर हत्याकांड के बहाने आदिवासी वर्ग को साधे रखने की कवायद

नेमावर हत्याकांड के बहाने आदिवासी वर्ग को साधे रखने की कवायद

मीडियावाला.इन। कांग्रेस ने आदिवासी वर्ग पर अपनी पकड़ बनाए रखने की कसरत तेज कर दी है। जरिया बन रहा है नेमावर हत्याकांड। इसे  मुद्दा बनाकर कांग्रेस प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस की दिलचस्पी का अंदाजा इसी...

प्रमोशन के बजाय हो गया प्रहलाद-फग्गन का डिमोशन

प्रमोशन के बजाय हो गया प्रहलाद-फग्गन का डिमोशन

मीडियावाला.इन। प्रदेश के एक नेता थावरचंद गहलोत मंत्रिमंडल से हटाए गए बदले में प्रदेश से दो नेताओं को जगह मिल गई। ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं वीरेंद्र खटीक को केबिनेट मंत्री के रूप में शामिल कर अच्छे विभाग दे दिए गए।...

वीरेंद्र को लेकर चौंकाया, ज्योतिरादित्य के लिए संतुलन बनाना चुनौती

वीरेंद्र को लेकर चौंकाया, ज्योतिरादित्य के लिए संतुलन बनाना चुनौती

मीडियावाला.इन। केंद्रीय मंत्रिमंडल के फेरदबल में मप्र की भी लाटरी लगी। प्रदेश के एक नेता थावरचंद गहलोत को मंत्रिमंडल से हटाया गया, बदले में दो मंत्री पद मिल गए। ज्योतिरादित्य सिंधिया का मंत्री बनना तय था। वे लंबे समय...

थपथपा सकती थी पीठ, चूक कर गई कांग्रेस....

थपथपा सकती थी पीठ, चूक कर गई कांग्रेस....

मीडियावाला.इन। इस सच से कोई अनजान नहीं कि कोरोना महामारी से निबटने में वैक्सीन की महत्वपूर्ण भूमिका है। बावजूद इसके  इसे लेकर लगातार आरोप-प्रत्यारोप जारी हैं। तब से ही सवाल उठाए जाने लगे थे, जब वैक्सीनेशन अभियान शुरू नहीं...

कैलाश बनेंगे केंद्र में मंत्री, खंडवा से लड़ सकते उप चुनाव!

कैलाश बनेंगे केंद्र में मंत्री, खंडवा से लड़ सकते उप चुनाव!

मीडियावाला.इन। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की लाटरी खुल सकती है। पश्चिम बंगाल में मेहनत के ईनाम के तौर पर उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में...

शिवराज को पसंद आया गोविंद का सुझाव....

शिवराज को पसंद आया गोविंद का सुझाव....

मीडियावाला.इन। कोरोना से माता-पिता की मृत्यु पर अनाथ हुए बच्चों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिस योजना की घोषणा की है, उसकी पूरे देश में प्रशंसा हो रही है। योजना में अनाथ बच्चों की परिवरिश...

चंबल-ग्वालियर: ज्योतिरादित्य के भाजपा सांसदों से संबंध बेपटरी

चंबल-ग्वालियर: ज्योतिरादित्य के भाजपा सांसदों से संबंध बेपटरी

मीडियावाला.इन। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया की पटरी चंबल-ग्वालियर अंचल के सांसदों के साथ नहीं बैठ पा रही है। खासकर ग्वालियर के विवेक शेजवलकर और गुना-शिवपुरी क्षेत्र के केपी यादव से सिंधिया के साथ संबंध...

सबसे बड़ा सवाल, अब क्या करेंगी उमा....

सबसे बड़ा सवाल, अब क्या करेंगी उमा....

मीडियावाला.इन। एक जमाने में भाजपा की तेजतर्रार नेता रहीं साध्वी उमा भारती को एक बार फिर झटका लगा है। यह दिया है प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने। उमा संकेत दे चुकी थीं कि अब वे प्रदेश की राजनीति...

नहीं माने महाराज, नाराजगी बरकरार, अब दिल्ली में फैसला

नहीं माने महाराज, नाराजगी बरकरार, अब दिल्ली में फैसला

मीडियावाला.इन। भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति में समर्थकों को लेकर महाराज अर्थात ज्योतिरादित्य सिंधिया को संतुष्ट करने का दांव बेकार चला गया। वे नहीं माने। उनकी नाराजगी बरकरार है। लिहाजा, सिंधिया भोपाल का तूफानी दौरा कर चंबल-ग्वालियर अंचल के लिए...

क्या ज्यातिरादित्य को रोक पाएंगे भाजपा के ये दिग्गज?

क्या ज्यातिरादित्य को रोक पाएंगे भाजपा के ये दिग्गज?

मीडियावाला.इन। भाजपा के अंदर संगठन, सरकार में बदलाव और विस्तार को लेकर कवायद तेज है। एक वर्ग इस कवायद को प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन से जोड़कर देख रहा है तो दूसरा ज्योतिरादित्य सिंधिया को ताकतवर होने से रोकने की...

भाजपा की कवायद के केंद्र में ज्योतिरादित्य....

भाजपा की कवायद के केंद्र में ज्योतिरादित्य....

मीडियावाला.इन।  भाजपा के प्रमुख नेताओं नरेंद्र सिंह तोमर, कैलाश विजयवर्गीय, प्रहलाद पटेल, वीडी शर्मा, नरोत्तम मिश्रा, प्रभात झा आदि नेताओं की कमरा बंद मुलाकातों ने राजनीतिक पारा बढ़ा दिया है। एक खबरची पर भरोसा करें तो नेताओं की...

आखिर! ऐसा क्या गलत बोल गए कमलनाथ....

आखिर! ऐसा क्या गलत बोल गए कमलनाथ....

मीडियावाला.इन।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ इन दिनों प्रदेश की राजनीति के केंद्र बिंदु बन गए हैं। वे भाजपा सरकार पर हमला करें या कुछ आपत्तिजनक बोल दें, चर्चा में उनके बयान ही हैं। कमलनाथ ने जब उमंग सिंघार...

साध्वी उमा के लिए प्रदेश की राजनीति में वापसी कितनी आसान!

साध्वी उमा के लिए प्रदेश की राजनीति में वापसी कितनी आसान!

मीडियावाला.इन। भाजपा की फायरब्रांड नेत्री साध्वी उमा भारती एक बार फिर चर्चा में हैं। प्रयास वे लंबे समय से कर रही हैं लेकिन सोलह साल बाद पहली बार उन्होंने खुलकर इस बात का इजहार किया है कि वे लोकसभा...

कमलनाथ को ‘बैक फुट’ से ‘फ्रंट फुट’ पर ले आई भाजपा

कमलनाथ को ‘बैक फुट’ से ‘फ्रंट फुट’ पर ले आई भाजपा

मीडियावाला.इन। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का भाजपा सरकार का पांसा उलटा पड़ता दिख रहा है। हनीट्रैप कांड की आरिजनल पेन ड्राइव अपने पास होने की बात कह कर कमलनाथ बैकफुट पर थे।...

कमलनाथ जी, क्या यह आपका ‘सेल्फ गोल’ नहीं....

कमलनाथ जी, क्या यह आपका ‘सेल्फ गोल’ नहीं....

मीडियावाला.इन। एक पुरानी कहावत है ‘अपने पैर में कुल्हाड़ी पटकना’। कमलनाथ जैसे अनुभवी एवं वरिष्ठ नेता इस कहावत को चरितार्थ करते दिख रहे हैं। उन्होंने  ‘हनीट्रैप कांड’ की ‘ओरिजनल पेन ड्राइव’ अपने पास होने की बात कह...

शिवराज-कमलनाथ ने पेश की नई ‘नजीर’....

शिवराज-कमलनाथ ने पेश की नई ‘नजीर’....

मीडियावाला.इन। इस समय जब कोरोना विकराल रूप में है, सरकारी और निजी तौर पर किए जा रहे प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं, मरीजों को न बेड मिल रहे, न आक्सीजन, वेंटीलेटर और जरूरी दवाएं, तब भी पक्ष-विपक्ष के...