Blog

कीर्ति राणा

क़रीब चार दशक से पत्रकारिता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा लंबे समय तक दैनिक भास्कर ग्रुप के विभिन्न संस्करणों में संपादक, दबंग दुनिया ग्रुप में लॉंचिंग एडिटर रहे हैं।

वर्तमान में दैनिक अवंतिका इंदौर के संपादक हैं। राजनीतिक मुद्दों पर निरंतर लिखते रहते हैं ।

सामाजिक मूल्यों पर आधारित कॉलम ‘पचमेल’ से भी उनकी पहचान है। सोशल साइट पर भी उतने ही सक्रिय हैं।


संपर्क : 8989789896

अफसोस रहेगा ‘भाईजी’ की किताबों की समीक्षा नहीं कर पाया

अफसोस रहेगा ‘भाईजी’ की किताबों की समीक्षा नहीं कर पाया

मीडियावाला.इन। कलेक्टर रहे गोपाल रेड्डी हों या एसआर मोहंती (दोनों सीएस रहे) इन के विश्वस्त डिप्टी कलेक्टर के रूप में निर्मल उपाध्याय (66) ने जो अपनीसाख बनाई उसकी वजह थी उनकी साफगोई। यदि कलेक्टर कोई डिसिजन लेना चाहते जो...

पहले धड़ल्ले से प्रिसक्रिप्शन में लिखा, अब डॉक्टरों ने आगाह किया, सामान्य मरीजों की अपेक्षा आईसीयू में दाखिल मरीजों के लिए कारगर है रेमडिसिविर इंजेक्शन

पहले धड़ल्ले से प्रिसक्रिप्शन में लिखा, अब डॉक्टरों ने आगाह किया, सामान्य मरीजों की अपेक्षा आईसीयू में दाखिल मरीजों के लिए कारगर है रेमडिसिविर इंजेक्शन

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा की विशेष रिपोर्ट  कोरोना संक्रमण के शिकार मरीजों के परिजनों के लिए प्रामाणिक डॉक्टरों की यह सलाह बेहद उपयोगी हो सकती है कि मरीज का संक्रमण 25...

आंखें मूंद कर खो जाइए पुरानी गेर के रंगों के गुबार में

आंखें मूंद कर खो जाइए पुरानी गेर के रंगों के गुबार में

मीडियावाला.इन। लंबे समय से प्रेयसी का इंतजार जब बैचेनी में बदल जाए तब यही रास्ता बचता है कि आंखें मूंद ली जाएं और बंद आंखों में उभरती प्रेयसी की छवि को ही अपने पहलु में बैठे होने का अहसास...

हॉकर से गेटकीपर, पत्रकार बने बीबीसी और दम तोड़ती उनकी ‘सुचित्रा’

हॉकर से गेटकीपर, पत्रकार बने बीबीसी और दम तोड़ती उनकी ‘सुचित्रा’

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा की विशेष रिपोर्ट ये बीबीसी जाने जाते हैं फिल्मी पत्रकारिता और फेस्टिवल के नियमित दर्शक के रुप में अब ख्वाहिश है इंदौर...

भ्राता कमल दीक्षित ओम शांति  कैंसर और ये कोरोना क्या जाने आप की मौजूदगी का हमारे लिए क्या मतलब है.....

भ्राता कमल दीक्षित ओम शांति कैंसर और ये कोरोना क्या जाने आप की मौजूदगी का हमारे लिए क्या मतलब है.....

मीडियावाला.इन। पिछले कई वर्षों से जब भी उनसे मोबाइल पर मेरी बात होती, मैं इधर से कहता भ्राता कमल दीक्षित जी ओम शांति, उधर से उनके ठहाके की आवाज गूंजती फिर संयत होते कहने लगते कीर्ति तुम व्यंग्य क्यों...

इस बार एक साल पहले हो रहा है हरिद्वार महाकुंभ, उत्तराखंड सरकार की परेशानी बढ़ा सकता है श्रद्धालुओं के लिए तीन डुबकी वाला आदेश

इस बार एक साल पहले हो रहा है हरिद्वार महाकुंभ, उत्तराखंड सरकार की परेशानी बढ़ा सकता है श्रद्धालुओं के लिए तीन डुबकी वाला आदेश

मीडियावाला.इन। हरिद्वार से लौटकर कीर्ति राणा की विशेष रिपोर्ट  इंदौर। हरिद्वार की तरफ जाने वाले रास्तों पर चल रहे चौड़ीकरण और पुल निर्माण के कार्यों पर कड़कड़ाती ठंड और कोहरे का असर...

सामान समेटने के साथ ही इंदौर में बसने का मूड बना चुके थे उज्जैन कमिश्नर

सामान समेटने के साथ ही इंदौर में बसने का मूड बना चुके थे उज्जैन कमिश्नर

मीडियावाला.इन। कहां तो अप्रैल में रिटायर होने वाले उज्जैन कमिश्नर आनंद शर्मा इंदौर में सेटल होने का मन बना चुके थे लेकिन यकायक जारी हुए सेक्रेटरी सीएम के आदेश से न सिर्फ वे बल्कि आयएएस लॉबी से लेकर मालवा-निमाड़...

जब शहर लॉकडाउन, कर्फ्यू की गिरफ्त में था, पत्रकारों से मिली पल-पल की जानकारी

जब शहर लॉकडाउन, कर्फ्यू की गिरफ्त में था, पत्रकारों से मिली पल-पल की जानकारी

मीडियावाला.इन। ‘ज्वाला’ ने मीडियाकर्मियों का कोरोना योद्धा मान कर किया सम्मान इंदौर नगर संवाददाता। जब शहर में कोरोना का संकट गहरा था, उस दौरान प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों और फोटोग्राफरों ने जान की परवाह किए बगैर अपना...

उम्र कहें या साधना का असर बहुत कम बोलते थे दादाजी, प्रवचन करते नहीं फिर भी श्रद्धालु उनके आसपास घंटों टकटकी लगाए बैठे रहते !

उम्र कहें या साधना का असर बहुत कम बोलते थे दादाजी, प्रवचन करते नहीं फिर भी श्रद्धालु उनके आसपास घंटों टकटकी लगाए बैठे रहते !

मीडियावाला.इन। धार्मिक समागम में तो बर्फानी दादाजी के नाम से पुकारा जाता था लेकिन इंदौर सहित देश के जिस भी आश्रम में वो पहुंचते श्रद्धालु उन्हें दादाजी के नाम से ही संबोधित करते थे।कोई भक्त दो सौ तो कोई...

‘माई के लाल’ वाले जख्म पर मरहम लगाने के लिए आना ही पड़ा शिवराज सिंह को

‘माई के लाल’ वाले जख्म पर मरहम लगाने के लिए आना ही पड़ा शिवराज सिंह को

मीडियावाला.इन। भाजपा संगठन और संघ के हीथ में कमान हो तो शिवराज सिंह को हर आदेशमानना ही पड़ता है। पिछले विधानसभा चुनाव (2018) में उनके माई के लाल वाले बयान ने ब्राह्मणऔर राजपूत मतदाताओं में खासी नाराजी पैदा कर ...

इंदौर थियेटर ने आपदा में तलाशा अवसर, नाश्ते की तरह नाटक का आर्डर भी कर सकते हैं ऑनलाइन!

इंदौर थियेटर ने आपदा में तलाशा अवसर, नाश्ते की तरह नाटक का आर्डर भी कर सकते हैं ऑनलाइन!

मीडियावाला.इन। इंदौर। मनपसंद नाश्ता-खाना ऑनलाइन उपलब्ध कराने के लिए तो विभिन्न कंपनियां सेवा दे ही रही हैं ऐसे में यदि किसी रहवासी संघ की घर बैठे नाटक देखने की इच्छा हो जाए तो...? ऐसी इच्छा की पूर्ति इंदौर...

मुकाबला अब राज्यवर्द्धन सिंह और कमल (सोलंकी) पटेल के बीच, टिंकू बना को बदला

मुकाबला अब राज्यवर्द्धन सिंह और कमल (सोलंकी) पटेल के बीच, टिंकू बना को बदला

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा की विशेष रिपोर्ट बदनावर में उमंग सिंगार ने दिग्विजय को झटका दिया इंदौर| बदनावर में...

पहले नाम भुलाया, अब प्रतिमा पर राजेंद्र माथुर का परिचय तक भी नहीं, नाम भी हो गया गिटार तिराहा

पहले नाम भुलाया, अब प्रतिमा पर राजेंद्र माथुर का परिचय तक भी नहीं, नाम भी हो गया गिटार तिराहा

मीडियावाला.इन। इंदौर ।शहर की पत्रकार बिरादरी को तो स्व राजेंद्र माथुर का नाम सदैव याद रहेगा लेकिन हाल ही जवान हुई पीढ़ी को गिटार के पीछे दबी छुपी प्रतिमा से कोई मतलब नहीं है।उसे तो पलासिया थाने वाला यह...

तब जासूस बन गए थे आज के कलेक्टर !

तब जासूस बन गए थे आज के कलेक्टर !

मीडियावाला.इन। कोई आसानी से भरोसा नहीं करेगा लेकिन यह हकीकत है कि कलेक्टर मनीष सिंह ने कचरे का ढेर फेंकने वाले मुख्य आरोपी तक पहुंचने के लिए जासूस की तरह एक से दूसरी कड़ी जोड़ते हुए निगम की टीम...

नेताजी का बेड रेस्ट और रुम बना आर्केस्ट्रा क्लब

नेताजी का बेड रेस्ट और रुम बना आर्केस्ट्रा क्लब

मीडियावाला.इन। मरीज पूर्व विधायक जीतू जिराती हो तो उनकी खैरियत जानने वाले मुलाकाती भी खास ही तो होंगे। ऑपरेशन करने वाले डॉ प्रमोद नीमा (यूनिक हॉस्पिटल) के हाथों के हुनर का अंदाज तो मरीज को ऑपरेशन की सफलता से...

किल कोरोना अभियान से मिला जिले की आबादी का प्रामाणिक आंकड़ा, इंदौर की आबादी 40 लाख पार !

किल कोरोना अभियान से मिला जिले की आबादी का प्रामाणिक आंकड़ा, इंदौर की आबादी 40 लाख पार !

मीडियावाला.इन। वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा की खास खबर ⭕️ऐसे चला अभियान  🔹1 जुलाई से शुरु, 15 जुलाई को समाप्त  🔹12 बीमारियां रहीं सर्वे का आधार  🔹2831 टीम लगी...

धुंधली यादें : तब सेकंडहैंड साइकिल ₹125 में ली थी और 1984 के सिख दंगों की भेंट चढ़ गई मेरी साइकिल भी

धुंधली यादें : तब सेकंडहैंड साइकिल ₹125 में ली थी और 1984 के सिख दंगों की भेंट चढ़ गई मेरी साइकिल भी

मीडियावाला.इन। अपनी आंखों के सामने भी सवा सौ रु में खरीदी वो सेकंडहैंड साइकिल घूम गई जब गूगल पर ‘वर्ल्ड साइकिल डे-3जून’ की जानकारी देखी। उस लेडीज साइकिल के पहिये की तरह यादों की चकरी भी घूम गई....। ...

समझिए प्लाजमा थैरेपी: प्लाजमा छानकर वापस डोनर को चढ़ा दिया जाता है ब्लड…

समझिए प्लाजमा थैरेपी: प्लाजमा छानकर वापस डोनर को चढ़ा दिया जाता है ब्लड…

मीडियावाला.इन। कीर्ति राणा की विशेष रिपोर्ट यदि आप कोरोना संक्रमित होने के बाद लड़ाई में विजयी योद्धा साबित हो चुके हैं तो इस महामारी से जूझ रहे मरीजों के लिए आप जीवनदाता भी...

लॉक डाउन: खुलेगा जरूर पर उतना खुला खुला थोड़ी होगा !

लॉक डाउन: खुलेगा जरूर पर उतना खुला खुला थोड़ी होगा !

मीडियावाला.इन। बकरे की मां आखिर कब तक खैर मनाएगी कि तर्ज पर मई नहीं तो जून में तो लॉकडाउन खोलना ही पड़ेगा। आखिर सरकार और कलेक्टर भी कोरोना से ज्यादा लॉकडाउन पर लोगों की नाराजी कब तक झेलेंगे। स्वाइन फ्लू...

शरद जी ने तो मना किया था बंबई मत छोड़ो.....

शरद जी ने तो मना किया था बंबई मत छोड़ो.....

मीडियावाला.इन। ये किस्सा है सन 1982 नवंबर महीने का...मुंबई (तब बंबई) में हिंदी ‘करंट’ साप्ताहिक से मैं 1 दिसंबर से कामनहीं करने संबंधी इस्तीफा दे चुका था। तब शरद जी इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप की पत्रिका ‘हिंदी एक्सप्रेस’ केसंपादक हुआ ...