Blog

क्रांति चतुर्वेदी

क्रांति चतुर्वेदी मध्यप्रदेश की पत्रकारिता जगत के एक चर्चित हस्ताक्षर हैं. आपको पत्रकारिता जगत के राष्ट्रीय और प्रादेशिक पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है. इसमें के.के. बिड़ला अवार्ड, नई दिल्ली, माखनलाल चतुर्वेदी पुरस्कार, रक्तसूर्य सम्मान, देवर्षि नारद सम्मान, भोपाल शामिल हैं. आप मध्यप्रदेश सरकार सहित कई महत्वपूर्ण संस्थाओं के फैलो रह चुके हैं. आपने 200 से ज्यादा शोध और अध्ययन यात्राएं की हैं. विकासात्मक पत्रकारिता पर आपकी 6 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है. आप पत्रकारिता में पीएचडी भी हैं. सम्प्रति सेंट्रल इंडिया से प्रकाशित हिंदी दैनिक नवभारत के मध्यप्रदेश क्षेत्र के समूह संपादक हैं.

बड़गोंदा : जल-जंगल की पाठशाला

बड़गोंदा : जल-जंगल की पाठशाला

मीडियावाला.इन। ......जंगल तो आपने बहुत देखे होंगे?  ......लेकिन जंगल की ‘गंगोत्री’ की ‘तीर्थयात्रा’ के प्रसंग कम ही आ पाते हैं।  ..........बीज से वृक्ष की यात्रा की फिलासफी तो बहुत सुनी होगी?  ......लेकिन...

विश्व जल दिवस पर विशेष - एमपी में अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं पानी परंपराओं के खजाने !

विश्व जल दिवस पर विशेष - एमपी में अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं पानी परंपराओं के खजाने !

मीडियावाला.इन।             जल संरक्षण परम्पराओं की प्राचीन तकनीक में पूरी दुनिया में भारत का अपना स्थान है। भारत का हृदय - मध्य प्रदेश भी इस सन्दर्भ में देश में अपना अहम स्थान रखता है। प्रदेश के मालवा, निमाड़,...

रंगा का जंगल: नदियों के पुनर्जीवन का प्रकाश स्तंभ

रंगा का जंगल: नदियों के पुनर्जीवन का प्रकाश स्तंभ

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश के जबलपुर में नर्मदा और नरई नदी  के संगम के आसपास के 3 गांवों में जमीन पर सीना ताने खड़ा करीब 10 लाख वृक्षों का बना निजी जंगल नदियों को फिर से जिंदा करने की सरकारों की योजना...

मध्यप्रदेश में छाए थे मोदी और राष्ट्रवाद

मध्यप्रदेश में छाए थे मोदी और राष्ट्रवाद

मीडियावाला.इन। लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुनामी ने मध्य प्रदेश के समर में अनेक दिग्गजों के किले ढहा दिए. देश के 3 राज्यों राजस्थान , छत्तीसगढ़  मध्य प्रदेश से कांग्रेस विशेष उम्मीद संजोए बैठी थी ,जहां 5...

नरेन्द्र मोदी के तरकश में और कौन – कौन से तीर ?

नरेन्द्र मोदी के तरकश में और कौन – कौन से तीर ?

देश के आम चुनावों को अब केवल तीन माह ही शेष बचे हैं, ऐसे में यह जिज्ञासा उठना लाजमी है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तरकश में अभी और कौन – कौन से ऐसे तीर शेष हैं, जिन्हें...

मैदानी योद्धा थे ,' बहुव्यापी ' तपन भट्टाचार्य 

मैदानी योद्धा थे ,' बहुव्यापी ' तपन भट्टाचार्य 

मीडियावाला.इन। इंदौर की तेजस्वी छात्र राजनीति में अनिल माधव दवे , सज्जन सिंह वर्मा , तुलसीराम सिलावट आदि नेताओं के हमकदम सक्रिय हुए सामाजिक कार्यकर्ता तपन भट्टाचार्य अब हमारे बीच नहीं रहे । तपन एक ऐसे ऐसे बहुआयामी...

2019 की तैयारियों की झलक है, कमलनाथ की कैबिनेट

2019 की तैयारियों की झलक है, कमलनाथ की कैबिनेट

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की नवगठित कैबिनेट में एक साथ कई निशाने साधने की कोशिश की गई है. राजनीति के इन्द्रधनुष में मौजूद प्राय: सभी रंगों से इसे सजाने के प्रयास किए गए हैं. 'सामंजस्य और संतुलन' इस...

कर्ज माफी कर दिया बड़ा संदेश कमलनाथ ने

कर्ज माफी कर दिया बड़ा संदेश कमलनाथ ने

मध्यप्रदेश में शपथ लेने के तुरंत बाद ही राज्य के किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ करने की फाइल पर हस्ताक्षर कर , इसे अपना पहला कार्य निरूपित कर , शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ...

अपनी खास प्रबंधन शैली , पहचान है कमलनाथ की 

अपनी खास प्रबंधन शैली , पहचान है कमलनाथ की 

आज मध्य प्रदेश के 18 वें मुख्यमंत्री की शपथ ले चुके कमलनाथ की खास प्रबंधन शैली उनकी पहचान है । वे दिल्ली , भोपाल या छिंदवाड़ा में जहां भी हो -  आम आदमी और कार्यकर्ताओं से नियमित तौर...

चेहरों में नहीं , लेकिन चर्चाओं में जरूर रहे दिग्विजय !

चेहरों में नहीं , लेकिन चर्चाओं में जरूर रहे दिग्विजय !

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव की बेला में लगभग 1 साल पूर्व नर्मदा परिक्रमा की बात हो या मतदान के बाद भोपाल के इंडियन कॉफी हाउस में अपने दोस्तों के साथ गपशप हो -  दिग्विजय सिंह सदैव चर्चा का...

अजयसिंह से मिलकर क्यों रोए अरुण यादव ?

अजयसिंह से मिलकर क्यों रोए अरुण यादव ?

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश की कांग्रेस राजनीति में अपना अहम स्थान रखने वाले नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव – दोनों को खुशी है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है, लेकिन एक...

मध्यप्रदेश में उम्मीदों के साथ हुआ कांग्रेस का सूर्योदय

मध्यप्रदेश में उम्मीदों के साथ हुआ कांग्रेस का सूर्योदय

मध्य प्रदेश में 15 साल के वनवास के बाद निजाम के गलियारों में कांग्रेस पार्टी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही है। लंबे समय से मायूस हो चुके कार्यकर्ता और समर्थकों में नया उत्साह दिखाई दे रहा है ।...

दिशा दर्शन की पत्रकारिता के प्रमुख स्तंभ थे प्रफुल्ल जी

दिशा दर्शन की पत्रकारिता के प्रमुख स्तंभ थे प्रफुल्ल जी

नवभारत एवं सेंट्रल क्रॉनिकल पत्र समूह के प्रधान संपादक, समाचार एजेंसी यूनीवार्ता के चेयरमेन, देश के वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद श्री प्रफुल्ल माहेश्वरी जी का अवसान न केवल सेन्ट्रल इंडिया अपितु देश की पत्रकारिता के लिए इसलिए...

नर्मदा जी का एक 'उद्गम लुप्त हो गया...!

नर्मदा जी का एक 'उद्गम लुप्त हो गया...!

स्मृति शेष - अमृतलाल वेगड़ ख्यात साहित्यकार, चित्रकार अमृतलाल वेगड़ नहीं रहे-यह शोक समाचार भारत और दुनिया के कई श्रेणियों के 'वेगड़ प्रेमियों' के लिए बड़ा आघात है. लेखन, कथा, संस्मरण, चित्रकारी से जुड़े महानुभावों के...