Blog

रमण रावल

संपादक - वीकेंड पोस्ट 

स्थानीय संपादक - पीपुल्स समाचार,इंदौर                               

संपादक - चौथासंसार, इंदौर                                                            

प्रधान संपादक - भास्कर टीवी(बीटीवी), इंदौर

शहर संपादक - नईदुनिया, इंदौर

समाचार संपादक - दैनिक भास्कर, इंदौर 

कार्यकारी संपादक  - चौथा संसार, इंदौर  

उप संपादक - नवभारत, इंदौर

साहित्य संपादक - चौथासंसार, इंदौर                                                             

समाचार संपादक - प्रभातकिरण, इंदौर                                                            


1979 से 1981 तक साप्ताहिक अखबार युग प्रभात,स्पूतनिक और दैनिक अखबार इंदौर समाचार में उप संपादक और नगर प्रतिनिधि के दायित्व का निर्वाह किया । 


शिक्षा - वाणिज्य स्नातक (1976), विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन


उल्लेखनीय-

० 1990 में  दैनिक नवभारत के लिये इंदौर के 50 से अधिक उद्योगपतियों , कारोबारियों से साक्षात्कार लेकर उनके उत्थान की दास्तान का प्रकाशन । इंदौर के इतिहास में पहली बार कॉर्पोरेट प्रोफाइल दिया गया।

० अनेक विख्यात हस्तियों का साक्षात्कार-बाबा आमटे,अटल बिहारी वाजपेयी,चंद्रशेखर,चौधरी चरणसिंह,संत लोंगोवाल,हरिवंश राय बच्चन,गुलाम अली,श्रीराम लागू,सदाशिवराव अमरापुरकर,सुनील दत्त,जगदगुरु शंकाराचार्य,दिग्विजयसिंह,कैलाश जोशी,वीरेंद्र कुमार सखलेचा,सुब्रमण्यम स्वामी, लोकमान्य टिळक के प्रपोत्र दीपक टिळक।

० 1984 के आम चुनाव का कवरेज करने उ.प्र. का दौरा,जहां अमेठी,रायबरेली,इलाहाबाद के राजनीतिक समीकरण का जायजा लिया।

० अमिताभ बच्चन से साक्षात्कार, 1985।

० 2011 से नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की संभावना वाले अनेक लेखों का विभिन्न अखबारों में प्रकाशन, जिसके संकलन की किताब मोदी युग का विमोचन जुलाई 2014 में किया गया। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को भी किताब भेंट की गयी। 2019 में केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के एक माह के भीतर किताब युग-युग मोदी का प्रकाशन 23 जून 2019 को।

सम्मान- मध्यप्रदेश शासन के जनसंपर्क विभाग द्वारा स्थापित राहुल बारपुते आंचलिक पत्रकारिता सम्मान-2016 से सम्मानित।

विशेष-  भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा 18 से 20 अगस्त तक मॉरीशस में आयोजित 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन में सरकारी प्रतिनिधिमंडल में बतौर सदस्य शरीक।

मनोनयन- म.प्र. शासन के जनसंपर्क विभाग की राज्य स्तरीय पत्रकार अधिमान्यता समिति के दो बार सदस्य मनोनीत।

किताबें-इंदौर के सितारे(2014),इंदौर के सितारे भाग-2(2015),इंदौर के सितारे भाग 3(2018), मोदी युग(2014), अंगदान(2016) , युग-युग मोदी(2019) सहित 8 किताबें प्रकाशित ।

भाषा-हिंदी,मराठी,गुजराती,सामान्य अंग्रेजी।

रुचि-मानवीय,सामाजिक,राजनीतिक मुद्दों पर लेखन,साक्षात्कार ।

संप्रति- 2014 से बतौर स्वतंत्र पत्रकार भास्कर, नईदुनिया,प्रभातकिरण,अग्निबाण, चौथा संसार,दबंग दुनिया,पीपुल्स समाचार,आचरण , लोकमत समाचार , राज एक्सप्रेस, वेबदुनिया , मीडियावाला डॉट इन  आदि में लेखन।



 


अमेरिका बच्चों को टीका लगाना शुरू कर रहा है, हम कब सोचेंगे?

अमेरिका बच्चों को टीका लगाना शुरू कर रहा है, हम कब सोचेंगे?

मीडियावाला.इन। फिलहाल तो हम युवा और प्रौढ़ पीढ़ी को ही पूरी तरह से वैक्सीन लगाने का इंतजाम नहीं कर पा रहे हैं तो भला कोई  बच्चों के बारे में सोच भी कैसे सकता है?वह भी तब जब अमेरिका के...

ममता के बहाने विपक्षी एकता के शेख चिल्ली ख्वाब

ममता के बहाने विपक्षी एकता के शेख चिल्ली ख्वाब

मीडियावाला.इन। एक कहावत है,घर में नहीं दाने,अम्मा चली भुनाने।अभी जुम्मा,जुम्मा आठ पहर बीते नहीं कि देश के एक तबका विशेष ने ममता बैनर्जी में राष्ट्रीय नेतृत्व की झलक देख ली। देश के राष्ट्रीय कहलाने वाले गैर भाजपाई राजनीतिक...

बंगाल में शुरू हुआ हिंसा, लूटपाट का दौर क्या बताता है?

बंगाल में शुरू हुआ हिंसा, लूटपाट का दौर क्या बताता है?

मीडियावाला.इन। एक डॉक्टर मित्र का संदेश आया कि वे रात भर सो नहीं पाए तो मुझे लगा कि कोरोना पीड़ितों का इलाज करते,करते ये हाल हुए होंगे। पिछले दिनों उन्होंने बताया था कि एक दिन में उन्होंने...

हिंदू वोटों का एकतरफा ध्रुवीकरण न होने से गच्चा खा गई भाजपा

हिंदू वोटों का एकतरफा ध्रुवीकरण न होने से गच्चा खा गई भाजपा

मीडियावाला.इन। पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव के परिणाम जितने चौंकाने वाले हैं उतने ही चिंतन करने लायक भी हैं। अब यह होने लगा है कि राज्यों की परिस्थितियों,नेतृत्व,स्थानीय मुद्दे और बीते कार्यकाल की समीक्षा के मिले जुले आधार पर...

बंगाल चुनाव नतीजों के बाद कैलाशजी का कद ज़रूर बढ़ेगा

बंगाल चुनाव नतीजों के बाद कैलाशजी का कद ज़रूर बढ़ेगा

मीडियावाला.इन। यह थोड़ा अटपटा लग सकता है,लेकिन हकीकत तो यही है कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद वहां भाजपा की सरकार बने ना बने, मध्य प्रदेश के कद्दावर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय को पार्टी में तवज्जो बढ़...

बंगाल में भाजपा चमत्कार करेगी या माकपा के हाथ रहेगी डोर?

बंगाल में भाजपा चमत्कार करेगी या माकपा के हाथ रहेगी डोर?

मीडियावाला.इन। जिस पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों को देश में कोरोना संक्रमण को बढ़ाने में योगदान देने वाले बताकर देश,दुनिया में हल्ला मचा,उनके नतीजे दो मई की शाम तक काफी हद तक स्पष्ट हो...

Covid19: डॉक्टर्स,नर्स नहीं होंगे तो बेड,ऑक्सिजन किस काम के ?

Covid19: डॉक्टर्स,नर्स नहीं होंगे तो बेड,ऑक्सिजन किस काम के ?

मीडियावाला.इन। भारत में रोजाना करीब साढ़े तीन लाख कोरोना संक्रमित मरीज अस्पतालों में आ रहे हैं। इनके लिए आई सी यू बेड,ऑक्सीजन,रेमदेसिविर इंजेक्शन जैसे जीवन रक्षक संसाधनों की अत्यंत कमी ने सांसे ऊपर,नीचे कर रखी है। ऐसे में किसी...

हम कोरोना से लड़ रहे हैं या सरकार से ?

हम कोरोना से लड़ रहे हैं या सरकार से ?

मीडियावाला.इन। यह वक्त मुश्किल से भी परे है।स्पेनिश फ्लू के कहर के एक शताब्दी बाद लाचारगी, असहायपन,खौफ,हताशा,अवसाद का ऐसा मंजर अब कभी किसी को देखने न मिले, यही प्रार्थना की जा सकती है।ऐसा तब है, जब यह दुनिया चिकित्सा...

कोरोना ने छकाया, व्यवस्थाओं ने रुलाया तो याद आ रही है सेना

कोरोना ने छकाया, व्यवस्थाओं ने रुलाया तो याद आ रही है सेना

मीडियावाला.इन। जितने लोग, उतनी बातें। वे रुक भी नहीं सकतीं। कोरोना का कहर तो ऐसा टूटा पड़ा है कि मार भी रहा है और रोने भी नहीं दे रहा।यही सिलसिला लंबा खींचा तो वाकई आंखों के आंसू सूख जाएंगे।...

कोई नेता, नौकरशाह क्यों नहीं होता भामाशाह?

कोई नेता, नौकरशाह क्यों नहीं होता भामाशाह?

मीडियावाला.इन। देश पर जब भी संकट आता है और सरकारी प्रयास नाकाफी हो जाते हैं,तब समाज की ओर से हर संभव मदद बरसने लगती है। मुझे हैरत है कि तब नेता, राजनीतिक दल और नौकरशाहों के हाथ...

कोरोना, तूने दुनिया को कर दिया बौना

कोरोना, तूने दुनिया को कर दिया बौना

मीडियावाला.इन। जीवन के 64 वसंत देखने के बाद ऐसे पतझड़ की आशंका तो कतई नहीं थी। प्रथम श्रेणी का यह अंक निम्नता का अहसास जगा गया। पत्रकारिता जीवन की 42 वीं पायदान पर खड़े होकर सोचने-विचारने लगता हूं तो...

स्वास्थ्य सेवाओं में अब भी चेत जाए मप्र सरकार, मीडियावाला ने 27 मई 2020 को किया था आगाह

स्वास्थ्य सेवाओं में अब भी चेत जाए मप्र सरकार, मीडियावाला ने 27 मई 2020 को किया था आगाह

मीडियावाला.इन। यह कोई शाबाशी लेने वाली बात नहीं है, बल्कि अफसोस इस बात का है कि मध्य प्रदेश सरकार ने तब यदि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को चाक, चौबंद करने के मेरे सुझावों पर किंचित भी गौर...

जनाब, सफाई के अलावा भी तो ढेरों गम हैं इंदौर के

जनाब, सफाई के अलावा भी तो ढेरों गम हैं इंदौर के

मीडियावाला.इन। एक इंदौरी के नाते मेरी दिली ख्वाहिश है कि हम पांचवीं बार भी सफाई में देश में सिरमौर रहें। बावजूद इसके कुछ सवाल मन में हैं। क्या इंदौर नगर निगम ने अपने हिस्से के दूसरे वे...

परमवीर के आरोप: प्रशासन-राजनीति के गंदे गठजोड़ का ठोस सबूत

परमवीर के आरोप: प्रशासन-राजनीति के गंदे गठजोड़ का ठोस सबूत

मीडियावाला.इन। महाराष्ट्र के मौजूदा पुलिस महानिदेशक परमवीर सिंह का अपने ही विभाग के मंत्री अनिल देशमुख पर गुंडे-पहलवान की तरह वसूली का आरोप एक नासूर के समूचे तंत्र के शरीर में फैल जाने का प्रमाण है। ऐसा...

एंटिलिया हाउस कांड ने हटा दिया राजनीतिक चरित्र का मुखौटा

एंटिलिया हाउस कांड ने हटा दिया राजनीतिक चरित्र का मुखौटा

मीडियावाला.इन। अफसोसजनक....शर्मनाक....अविश्वसनीय.....सच कहूं तो ऐसी तमाम उपमाएं कोई महत्व ही नहीं रखती। देश के उद्योग रत्न और दुनिया में भारत की पहचान को बुलंदियों पर पहुंचाने वाले अंबानी उद्योग घराने के मुखिया मुकेश अंबानी के घर के...

मोदी न होते तो क्या होता, जरा सोचिए

मोदी न होते तो क्या होता, जरा सोचिए

मीडियावाला.इन। मसला परिवार का हो,जंग का मैदान हो या देश का नेतृत्व हो - यदि मुखिया हिचू, पिचू मानसिकता का हो,त्वरित फैसले लेने में अक्षम हो,दृढ़ चरित्र का न हो तो किसी गंभीर समस्या तो छोड़ो,...

राहुल-प्रियंका, तुम राजनीति छोड़ क्यों नहीं देते?

राहुल-प्रियंका, तुम राजनीति छोड़ क्यों नहीं देते?

मीडियावाला.इन। खुद्दार फिरोज गांधी के चर्चित  पोते राहुल गांधी और विवादास्पद व रहस्यमय  वाड्रा परिवार की बहू प्रियंका समेत उन तमाम लोगों को मुझसे असहमत होने और बुरा मानने का अधिकार है, जो मेरे इस विचार को अभी अनुचित...

क्या बंगाल में चमकेगी कैलाशजी की इंदौरी ब्रांड राजनीति?

क्या बंगाल में चमकेगी कैलाशजी की इंदौरी ब्रांड राजनीति?

मीडियावाला.इन। इन दिनों देश में बंगाल चुनाव की और भाजपा में कैलाश विजयवर्गीय की काफी चर्चा है। बेशक यह मीडिया में तो है ही, भाजपा के उस तबके में भी है जो कैलाश जी के बढ़ते कारवां...

क्या कांग्रेस नेताओं के निशाने पर हैं सोनिया-राहुल? आ रही है साजिश की बू...

क्या कांग्रेस नेताओं के निशाने पर हैं सोनिया-राहुल? आ रही है साजिश की बू...

मीडियावाला.इन। सुनने में यह अजीब लग सकता है, लेकिन जब परिस्थितियों पर सिलसिलेवार नजर डालें तो यह आशंका यकीन में बदलने लगती है कि यह पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के आसपास मौजूद कुछ कांग्रेसियों की ही कारगुजारी...

कोरोना काल में चौड़ी छाती लायक भारत की उपलब्धियां

कोरोना काल में चौड़ी छाती लायक भारत की उपलब्धियां

मीडियावाला.इन। आप यदि दुनिया के हालात पर नजर डालेंगे तो कोरोना से निपटने और उससे निकलकर हमने जो अप्रतिम उपलब्धियां हाासिल की हैं, वे बेमिसाल हैं, गर्व करने लायक है। चंद बातों पर गौर कीजिये। भारत में किसी भी...