Brajvasis’s are Angry : राधारानी को लेकर कथावाचक प्रदीप मिश्रा और प्रेमानंद महाराज क्यों भिड़ गए ?

939
Brajvasis's are Angry

Brajvasis’s are Angry : राधारानी को लेकर कथावाचक प्रदीप मिश्रा और प्रेमानंद महाराज क्यों भिड़ गए ?

ध्यप्रदेश के चर्चित कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने राधारानी को लेकर दिए बयान पर वृंदावन वाले प्रेमानंद महाराज ने कड़ी आपत्ति जताई। इस प्रकरण में दोनों आमने-सामने आ गए। प्रेमानंद ने प्रदीप मिश्रा को खरी-खोटी सुना दी।

प्रेमानंद ने कहा कि उसे कुछ अता-पता नहीं है, प्रदीप मिश्रा ने राधा को समझा ही नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कैसे प्रदीप के बयान से उनके दिल को ठेस पहुंची है। उधर, ब्रजवासियों में भी प्रदीप मिश्रा के बयान पर आक्रोश है। लोगों ने प्रदीप मिश्रा के बयान की निंदा की है। यही नहीं विरोध प्रदर्शन भी किया है।

दरअसल, कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने अपनी एक कथा में राधारानी के मायके पर सवाल उठाया था। भक्तों से पूछा कि राधा रानी कहां की हैं तो भक्तों का जवाब- बरसाने था। पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा था कि राधारानी बरसाना की नहीं थी। प्रदीप मिश्रा ने कहा कि श्री कृष्ण की पत्नियों में राधा का नाम नहीं है। प्रदीप मिश्रा ने कहा कि राधा जी की शादी छात्रा गांव में हुई थी।

Premanand Ji Maharaj Story; Pandit Pradeep Ji Mishra Sehore Wale Controversy | प्रदीप मिश्रा से दोगुना फॉलोअर्स हैं प्रेमानंद महाराज के: राधा रानी पर भिड़ने वाले कथावाचक और ...

कथावाचक के बयान पर संतों में उबाल
श्रीकृष्ण जन्मभूमि संघर्ष न्यास एवं हिंदूवादियों ने हृदय स्थल होली गेट पर कथा वाचक प्रदीप मिश्रा का प्रतीकात्मक पुतला फूंकते हुए बरसाने की लाडली जी के विरुद्ध की गई टिप्पणी को लेकर आक्रोश जताया। श्रीकृष्ण जन्मभूमि के पक्षकार दिनेश शर्मा ने नेतृत्व करते हुए कहा कि कथा वाचक की टिप्पणी पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। ब्रज की अधिष्ठात्री राधारानी एवं बृजवासियों पर टिप्पणी करने काम निंदनीय है। ऐसे व्यक्ति को धर्माचार्य बहिष्कृत करें। हिंदू महासभा की जिला अध्यक्ष छाया गौतम ने कहा कि राधारानी की कृपा से ही यह धनाढ्य बने हैं, उन्हीं के नाम का दिया खाते हैं और उन पर ही अशोभनीय टिप्पणी करते हैं, जो सनातन विरोधी है वह हमारा दुश्मन है।

प्रदीप को ब्रज में आकर शास्त्रत्तर्थ की दी खुली चुनौती
प्रदीप मिश्रा प्रकरण में तीर्थ पुरोहित महासंघ के प्रमुख पदाधिकारियों व ब्रज तीर्थ देवालय न्यास की संयुक्त बैठक श्रीजी बाबा आश्रम भूतेश्वर रोड पर तीर्थ पुरोहित महासंघ के ब्रजमंडल अध्यक्ष मुरारीलाल उपाध्याय की अध्यक्षता में हुई, जिसमें राधारानी को लेकर कथावाचक प्रदीप मिश्रा द्वारा दिये गये वक्तव्य का विरोध किया गया। तीर्थ देवालय न्यास के अध्यक्ष भागवताचार्य रमाकांत गोस्वामी ने प्रदीप मिश्रा को ब्रज में आकर शास्त्रत्तर्थ की खुली चेतावनी दी। रिसीवर दाऊजी मन्दिर आरके पाण्डेय ने कहा यदि माफी नहीं मांगी तो देश में सभी देवालयों द्वारा प्रदीप मिश्रा की कथाओं को नहीं करने दिया जायेगा।

कथा वाचक प्रदीप मिश्रा के खिलाफ हुए ब्रजवासी

ब्राह्मण महासभा के द्वारा परिक्रमा मार्ग बिहारघाट पर स्थित कार्यालय पर बुधवार को एक बैठक आयोजित कर कथा वाचक प्रदीप मिश्रा के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने व कथा का बहिष्कार करने की मांग की गईं। संस्थापक सुरेशचंद्र शर्मा एवं पूर्व पालिकाध्यक्ष पुष्पा शर्मा ने कहा कि राधाजी भगवान श्रीकृष्ण की अल्हादनी शक्ति हैं उनके लिए कुछ भी गलत कहना अपराध के बराबर है। प्रदीप मिश्रा को राधारानी के लिए अपशब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए था। वर्तमान में प्रदीप मिश्रा के अनर्गल शब्दों से ब्रजवासी आहत है। राधावल्लभ मंदिर के सेवायत आनंदलाल गोस्वामी एवं सुकृतलाल गोस्वामी ने कहा कि ब्रज में भगवान श्रीकृष्ण से भी प्रधान राधारानी की उपासना है। प्रदीप मिश्रा पूर्व में भी भगवान शंकर के लिए अनाप-शनाप कह चुके हैं। अध्यक्ष महेश भारद्वाज एवं मीडिया प्रभारी गोपाल शरण शर्मा ने कहा कि सभी विप्रजनों एवं भागवताचार्यों को मिलकर प्रदीप मिश्रा जैसे भागवताचार्य के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्यवाही करनी चाहिए।