Breaking News – नीमच जिले के 6 पुलिसकर्मी निलंबित

गिरफ्तार इनामी तस्कर साथ संलिप्तता का मामला आगे जांच जारी

846

Breaking News – नीमच जिले के 6 पुलिसकर्मी निलंबित

 

मंदसौर से डॉ घनश्याम बटवाल की रिपोर्ट

मंदसौर । संसदीय क्षेत्र के नीमच मंदसौर जावरा में अफ़ीम उत्पादन के साथ अवैध मादक द्रव्यों की तस्करी भी बड़े पैमाने पर होती आई है । नारकोटिक्स , पुलिस इसके लिए लगाई गई है धरपकड़ भी चलती रहती है पर समानांतर गठबंधन और मिलीभगत के चलते नियंत्रण नहीं होता । इसी अवैध मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में मध्यप्रदेश और राजस्थान सीमांत जिलों के इनामी कुख्यात तस्कर कमल राणा की गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ के बाद राजस्थान पुलिस ने नीमच जिले के 6 पुलिसकर्मियों की भूमिका संदिग्ध बताई । इसी को देखते हुए नीमच पुलिस अधीक्षक अमित तोलानी ने तत्काल प्रभाव से 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया ।
नीमच जिले के विभिन्न थानों में पदस्थ पुलिस कर्मियों की आगे जांच भी कराई जाने की सूचना है ।
बताया गया है कि सालों से तस्करी में लिप्त कमल राणा एवं उसके साथियों द्वारा मादक द्रव्यों की अंतरप्रांतीय स्तर पर तस्करी की जाती है ।
एनडीपीएस के अलावा अन्य अपराधों के तीन दर्ज़न से अधिक मामलों में दोनों राज्यों की पुलिस और नारकोटिक्स पुलिस को आरोपी की तलाश है । गत दिनों उसकी गिरफ्तारी हुई है ।
राजस्थान व मध्यप्रदेश में विभिन्न थाना क्षेत्रों के कुल 37 प्रकरणों में 70000 के इनामी कुख्यात आरोपी कमल राणा की गिरफ्तारी के बाद मध्यप्रदेश के नीमच जिले के 6 पुलिसकर्मियों के
कमल राणा से कनेक्शन मिले है। इसको लेकर नीमच एसपी श्री तोलानी ने छह पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया।

एडिशनल एसपी सुंदर सिंह कनेश ने मंगलवार शाम प्रेस नोट के माध्यम से यह जानकारी दी कि इनामी कुख्यात तस्कर कमल राणा से राजस्थान
पुलिस द्वारा पूछताछ की गई तो कार्यवाहक प्रधान आरक्षक रघुनाथ सिंह महिला थाना नीमच, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक रामप्रसाद शर्मा थाना जीरन, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक रफीक खान थाना बघाना, आरक्षक रामप्रसाद
पाटीदार थाना जीरन, आरक्षक अजीज खान पुलिस लाइन, आरक्षक देवेंद्र चौहान पुलिस लाइन की संदिग्ध भूमिका पाई गई।
गिरफ्तार आरोपी कमलसिंह राणा पिता डूंगरसिंह सौंधिया ( 40 ) ग्राम बम्बोरी थाना रठांजना जिला प्रतापगढ़ राजस्थान का बताया गया है ।
नीमच एस पी श्री तोलानी ने विस्तृत जांच एसडीओपी मनासा यशस्वी शिंदे को सौंपी है ।

संलिप्तता और संदिग्ध पाए जाने पर नीमच जिले के 6 पुलिस कर्मियों को निलंबित होने की सूचना से तस्करों और पुलिस में हड़कंप है ।

पता चला है कि पूछताछ में पुलिस के अलावा अन्य वर्ग के कई बड़े नाम भी सामने आ सकते हैं । साथ मध्यप्रदेश की तरह राजस्थान के निम्बाहेड़ा , चित्तौड़गढ़ , प्रतापगढ़ , बांसवाड़ा आदि क्षेत्रों के लोगों व पुलिस कर्मियों पर भी नज़र है । कुछ नए नामों का खुलासा हो सकता है ।

ज्ञातव्य है कि रतलाम रेंज डीआईजी मनोजकुमार सिंह नीमच एवं मंदसौर जिले के पुलिस अधीक्षक रहे हैं , उनके संज्ञान में मादक द्रव्यों तस्करी की गंठजोड़ के सूत्र हैं ।