कॉलम / नजरिया

मुख्यमंत्री जी नर्मदा मैय्या को धन-धरम के धुरंधरों से बचाइये..!

मुख्यमंत्री जी नर्मदा मैय्या को धन-धरम के धुरंधरों से बचाइये..!

मीडियावाला.इन। संदर्भ: नर्मदा महोत्सव मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने भक्तिभाव के साथ माँ नर्मदा के महात्म्य को रेखांकित किया है, लेकिन जनजन की अपेक्षा यही है कि "नर्मदा मैय्या को धन और धरम के उन धुरंधरों से भी मुक्ति...

संसद का यह तूफानी सत्र

संसद का यह तूफानी सत्र

मीडियावाला.इन। संसद का यह सत्र तूफानी होनेवाला है, इसमें किसी को ज़रा-सा भी शक नहीं है। राष्ट्रपति के भाषण के दौरान विपक्षी सदस्यों ने जो हंगामा मचाया, वह आनेवाले कल की सादी-सी बानगी है। एक अर्थ में यह सत्र...

एक लाइन का फ़ैसला - फाँसी अगले आदेश तक रोकी जाती है

एक लाइन का फ़ैसला - फाँसी अगले आदेश तक रोकी जाती है

मीडियावाला.इन।                   हम लड़ेगें, मिल कर लड़ेगें, एक स्त्री की लड़ाई नहीं है यह, यह आधी आबादी की लड़ाई है उस दिन हम मिले थे  "वी द वुमन " इवेंट के दौरान .हमने...

मंत्री जी का गोली चलाने का सार्वजनिक आव्हान, लो चला दी गोली

मंत्री जी का गोली चलाने का सार्वजनिक आव्हान, लो चला दी गोली

मीडियावाला.इन। इस बार 30 जनवरी को दो ऐसी घटनाएं देश में हुईं जिनसे साबित हो गया की आजादी के 72  साल बाद भी हम जहाँ खड़े थे आज भी वहीं खड़े हैं,यानि नौ दिन चले अढ़ाई कोस...

रतन और मूर्ति: कामयाबियों के पर्वत पर भारी एक विनम्रता...!

रतन और मूर्ति: कामयाबियों के पर्वत पर भारी एक विनम्रता...!

मीडियावाला.इन। मुंबई में बीते मंगलवा जो ऐतिहासिक और प्रेरक दृश्य देखने को मिला, वो देश के क्षुब्धकारी माहौल में भी आशा और विश्वास की किरण की तरह है। कुछ लोग कह सकते हैं कि किसी के पैर छूने में...

यह ध्रुवीकरण नहीं, धुंआकरण है

यह ध्रुवीकरण नहीं, धुंआकरण है

मीडियावाला.इन। एक पुरानी कहावत है कि प्रेम और युद्ध में किसी नियम-कायदे का पालन नहीं होता। मैं सोचता हूं कि यह कहावत सबसे ज्यादा लागू होती है हमारे चुनावों पर ! चुनाव जीतने के लिए कौन-सी मर्यादा भंग नहीं...

शाहीन बाग का चुनावी दांव क्या देश की राजनीति भी बदलेगा?

शाहीन बाग का चुनावी दांव क्या देश की राजनीति भी बदलेगा?

मीडियावाला.इन। दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा नेताओं के बिगड़े बोलों से नाराज चुनाव आयोग ने उन्हें पार्टी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट बाहर करने का आदेश देकर थोड़ी हिम्मत जरूर दिखाई है, लेकिन ये दोनो नेता केन्द्रीय...

पश्चिम मध्यप्रदेश छाया रहा 'पद्म' पुरस्कारों में!

पश्चिम मध्यप्रदेश छाया रहा 'पद्म' पुरस्कारों में!

मीडियावाला.इन। केंद्र सरकार द्वारा घोषित पद्म पुरस्कारों में इस बार मध्यप्रदेश के पश्चिमी इलाके का दबदबा रहा। प्रदेश की चार असाधारण हस्तियों को मिले 'पद्म श्री' सम्मान में से तीन इंदौर और उज्जैन संभाग के लोगों को मिले हैं।...

कोरोना वायरस: इंसानी जिंदगी में मौत के मुकुट की नई दस्तक

कोरोना वायरस: इंसानी जिंदगी में मौत के मुकुट की नई दस्तक

मीडियावाला.इन। विडंबना ही है कि दुनिया जितनी करीब आती जा रही है, नई-नई और पहले से ज्यादा खतरनाक बीमारियों के लिए भी गुंजाइश भी बढ़ती जा रही है। मनुष्य और जानवरों के बीच बीमारियों के डरावने पुल...

अदनान सामी: पुरस्कार पर उंगली उठाकर सियासी लिफ्‍ट लेने के मायने?

अदनान सामी: पुरस्कार पर उंगली उठाकर सियासी लिफ्‍ट लेने के मायने?

मीडियावाला.इन। करीब 20 साल पहले जब भारतीयों ने ‘थोड़ी सी तो लिफ्ट करा दे’ गीत के माध्यम से गायक-संगीतकार अदनान सामी को जाना, तब सामी ने भी नहीं सोचा होगा कि मोदी सरकार उन्हें इतना लिफ्ट करा...

आओ ! ध्वज वाहक एयर इण्डिया बेचें

आओ ! ध्वज वाहक एयर इण्डिया बेचें

मीडियावाला.इन। देश वासियों के लिए खुशखबरी है कि हमारी व्यापारी सरकार देश की ध्वज वाहक कही जाने वाली सरकारी विमान सेवा एयर इंडिया को बेचने जा रही है ।देश के 71  वे गणतंत्र दिवस के दूसरें दिन ही  सरकार...

दो खास मुसलमानों को पद्मश्री

दो खास मुसलमानों को पद्मश्री

मीडियावाला.इन। हर 26 जनवरी पर भारत सरकार पद्मश्री आदि पुरस्कार बांटती है। इन पुरस्कारों के लिए कई लोग दौड़-धूप करते हैं। नेताओं, अफसरों और पत्रकारों से सिफारिश करवाते हैं। उन्हें लालच भी देते हैं। लेकिन कई लोग ऐसे होते...

गणतंत्र की मुंडेर पर बैठे हुए महाजनों से!

गणतंत्र की मुंडेर पर बैठे हुए महाजनों से!

मीडियावाला.इन। क्या आपको ऐसा नहीं लगता कि रोशन रंगीनियों के जमाने में अपने देश की तस्वीर कुछ ज्यादा ही श्वेत-श्याम बनकर उभर रही है?    भारत के आँगन में ताड़ के...

इस गणतंत्र दिवस पर जरा सोचिएगा!

इस गणतंत्र दिवस पर जरा सोचिएगा!

मीडियावाला.इन। देश में कुछ समूह खुद को संविधान से ऊपर या संविधान को ही नहीं मानते। (माओवादी भी हमारा संविधान कहाँ मानते हैं) इन्हें संसद समेत अन्य लोकतांत्रिक संस्थाओं पर विश्वास नहीं। इन्हें न्यायपालिका पर भी अँगुली...

गोयनका अवार्ड के बहाने टीवी रिपोर्टिग  पर चर्चा। ...

गोयनका अवार्ड के बहाने टीवी रिपोर्टिग पर चर्चा। ...

मीडियावाला.इन। इस बार दिसंबर के आखिरी दिनों में बडी धुकधुकी थी अपन को। हर अंजान फोन को उम्मीद से उठाते थे कि हो ना हो ये फोन भी इंडियन एक्यप्रेस के रामनाथ गोयनका अवार्ड की टीम से हो सकता...

मुसलमानों की देशभक्ति?

मुसलमानों की देशभक्ति?

मीडियावाला.इन। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उन शांतिपूर्ण आंदोलनों की तारीफ की है, जो नए नागरिकता कानून के विरोध में चल रहे हैं। उनका कहना है कि इससे भारत का लोकतंत्र मजबूत हो रहा है। मैं तो...

परदे पर देशभक्ति का तड़का लगाती फिल्में!

परदे पर देशभक्ति का तड़का लगाती फिल्में!

मीडियावाला.इन। फिल्म के परदे पर बिकने वाले हर विषय को भुनाया जाता है। उनमें एक देशभक्ति भी है। लेकिन, ये ऐसा विषय है जिसके विविध आयाम होते हैं! आजादी के परवानों की जिंदगी और उनके संघर्ष पर...

‘अबाइड’ बजेगी, पर यह बापू को आखिरी सैन्य संगीत श्रद्धांजलि न हो...

‘अबाइड’ बजेगी, पर यह बापू को आखिरी सैन्य संगीत श्रद्धांजलि न हो...

मीडियावाला.इन। गनीमत मानिए कि गण‍तंत्र दिवस समारोह के अंतिम दिन होने ‘बीटिंग द रिट्रीट’ आयोजन में नियमित रूप से बजने वाली राष्ट्रपिता बापू की प्रिय धुन ‘अबाइड विद मी’ खारिज होते-होते बच गई। दस दिन पहले खबर चली थी...

पंगा फिल्म में कोई पंगा नहीं

पंगा फिल्म में कोई पंगा नहीं

मीडियावाला.इन। पंगा फिल्म का नाम वापसी या कमबैक होना चाहिए था। कबड्डी की राष्ट्रीय स्तर की महिला खिलाड़ी शादी और एक बच्चे को जन्म देने के 7 साल बाद वापस कबड्डी की राष्ट्रीय टीम में आने के लिए...

आईएएस का थप्पड़: यह तो लोक की पीठ पर तंत्र का चाबुक है

आईएएस का थप्पड़: यह तो लोक की पीठ पर तंत्र का चाबुक है

मीडियावाला.इन। प्रदर्शन कर रहे राजनीतिक कार्यकर्ताओं को राजगढ कलेक्टर की झन्नाटेदार झपड़, एक मंत्री का सांसद के प्रति उत्श्रृखंलता पूर्ण अहंकार की चर्चा...