कॉलम / नजरिया

अब वही उद्योगपति आएगा, जो निवेश साथ लाएगा!

अब वही उद्योगपति आएगा, जो निवेश साथ लाएगा!

मीडियावाला.इन। शिवराज-सरकार के कार्यकाल में पाँच इन्वेस्टर्स समिट हुए! लेकिन, सब बेनतीजा रहे! इन समिट में लाखों करोड़ के एमओयू पर दस्तखत हुए, पर कोई भी निवेश जमीन पर नहीं उतरा! क्योंकि, इन इंवेस्टर्स समिट के प्रति सरकार गंभीर...

कैसे चुनें कांग्रेस अध्यक्ष

कैसे चुनें कांग्रेस अध्यक्ष

मीडियावाला.इन। कांग्रेस-जैसी महान पार्टी कैसी दुर्दशा को प्राप्त हो गई है ? उसकी कार्यसमिति जैसी अंधी गुफा में आजकल फंसी हुई है, वैसी वह सुभाषचंद्र बोस और पट्टाभिसीतारमय्या तथा नेहरु और पटेल की टक्कर के समय भी नहीं फंसी...

कांग्रेस में गांधी बिन सब सून..

कांग्रेस में गांधी बिन सब सून..

मीडियावाला.इन। यदि मामला किसी परिवार का, किसी कारोबारी घराने का, किसी दुकान,शॉपिंग मॉल का हो तो आप यह तय करने वाले कौन कि उसे कौन चलाये, कौन उसका मुखिया हो? लेकिन बात जब देश के प्रमुख राजनीतिक दल की...

गरीबी कलंक ही नहीं 'कोढ़ में खाज'भी है

गरीबी कलंक ही नहीं 'कोढ़ में खाज'भी है

मीडियावाला.इन। दुनिया का सभ्य समाज गरीबी को अपने ऊपर लगा सबसे बड़ा कलंक मानता है.आपको,यह आंकड़ा ढूंढने से कहीं भी मिल जाएगा कि 1960 के विश्व आर्थिक सर्वेक्षण में आय का अधिकतम अंतर 30 गुना था.उसके अगले...

कश्मीरः अब आगे क्या करें ?

कश्मीरः अब आगे क्या करें ?

मीडियावाला.इन। कश्मीर के सवाल पर भारत को रोज़ ही किसी न किसी राष्ट्र का सीधा या घुमा-फिराकर समर्थन मिलता जा रहा है। अब तो रुस ने भी कह दिया है कि यह भारत का आतंरिक मामला है।...

कश्मीर-देश की चाहत,मोदी ने दी राहत 

कश्मीर-देश की चाहत,मोदी ने दी राहत 

मीडियावाला.इन। कहते हैं, जहाँ चाह वहां राह होती हैं.प्रधानमंत्री नरेन्द्र भाई मोदी ने उस कहावत को चरितार्थ किया और महिमा मंडित भी.जो पिछले 66 वर्षों में नहीं हो सका वो महज़ 66 घंटों में हो गया.देश का अभिशाप धारा...

धारा 370 और कश्मीरी लडकियां

धारा 370 और कश्मीरी लडकियां

मीडियावाला.इन। जम्मू कश्मीर में धारा 370 क्या हटी , वहां की लडकियों को लेकर बडी अजीब तरह की पोस्ट सोशल मीडिया पर आने लगीं - हम कश्मीरी दुल्हन लाएंगे । अब दुल्हनों की कमी नहीं रहेगी और कुछ तो इससे...

कानून के गलियारे में 'तीन तलाक़' और दुनिया का नजरिया!

कानून के गलियारे में 'तीन तलाक़' और दुनिया का नजरिया!

मीडियावाला.इन। संसद में पारित होने के बाद 'तीन तलाक' से जुड़ा विधेयक अब कानून बन गया। सरकार ने अब पुरुषों की पत्नी को तीन बार बोलकर छोड़ देनेकी प्रथा को अपराध बना दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने पहले...

कश्मीर - धारा 370 की समाप्ति

कश्मीर - धारा 370 की समाप्ति

मीडियावाला.इन। एन के त्रिपाठी                              अपने पिछले लेख में मैंने कश्मीर में हो रही सुरक्षा की तैयारियों के संबंध में कहा था कि इसमें कुछ संकेत अवश्य निहित है।कल गृह मंत्री द्वारा सुरक्षा से संबंधित अधिकारियों...

भरोसा है: एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज को विश्वास है मंजूरी दे देंगे कमलनाथ  बिजली में 60 पैसे की सबसिडी

भरोसा है: एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज को विश्वास है मंजूरी दे देंगे कमलनाथ बिजली में 60 पैसे की सबसिडी

मीडियावाला.इन। प्रस्ताव से खुश हैं हजारों उद्यमी !  इंदौर। मप्र में कमलनाथ सरकार के अस्तित्व में आने के बाद मप्र विद्युत नियामक आयोग ने सूक्ष्म और लघु उद्यमियों को प्रति यूनिट 60...

कश्मीर की यह एतिहासिक ईद

कश्मीर की यह एतिहासिक ईद

मीडियावाला.इन।   कश्मीर ने कांग्रेस तथा कई अन्य विपक्षी दलों को बड़ी दुविधा में डाल दिया है। इन दलों के कई प्रमुख नेता (कश्मीर के मामले में) खुलकर सरकार का समर्थन कर रहे हैं बल्कि कश्मीर के पूर्व महाराजा...

टाइम पास मूंगफली के तरह ‘जबरिया जोड़ी’

टाइम पास मूंगफली के तरह ‘जबरिया जोड़ी’

मीडियावाला.इन। फिल्म समीक्षा : जबरिया जोड़ी बालाजी फिल्म फैक्ट्री की नई फिल्म जबरिया जोड़ी मनोरंजक है। मसालों से भरपूर यह फिल्म बिहार के पकड़वा विवाह की घटनाओं पर आधारित है, जहां विवाह...

पड़ोसी न बदल पाने की मजबूरी और राजनाथ की पीड़ा

पड़ोसी न बदल पाने की मजबूरी और राजनाथ की पीड़ा

मीडियावाला.इन। अगर हम पड़ोसी का चुनाव नहीं कर सकते तो पड़ोसी धर्म की व्याख्या किस तरह की जानी चाहिए? मनुष्य के पड़ोसीपन और दो देशों के पड़ोसीपन में कितना फर्क है? उनकी क्या मर्यादाएँ और तकाजे हैं?...

जुमला है 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी

जुमला है 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी

मीडियावाला.इन। शेयर बाज़ार धड़ाम, ऑटोमोबाइल सेक्टर में ऐतिहासिक मंदी, हाउसिंग में लाखों अनबिके मकान, विदेशी निवेशकों का पलायन, टैक्स की वसूली का पिछड़ता लक्ष्य, लाखों को रोज़गार खोने का डर... इस सबके बावजूद 5 ट्रिलियन...

कश्मीर.. जो पहले मारे वो मीर

कश्मीर.. जो पहले मारे वो मीर

मीडियावाला.इन। जब रणभूमि में सेनायें आमने-सामने हों तो हर बार तीर चलाने से पहले विचार नहीं किया जाता। रणनीति भी रणभूमि में नहीं  शिविर में बनाई जाती है। ऐसा न हो तो युद्ध से पहले हार सुनिश्चित...

ऋषि तुल्य साहित्य पत्रकारिता

ऋषि तुल्य साहित्य पत्रकारिता

मीडियावाला.इन। साहित्य और पत्रकारिता दो नदियों के संगम स्थल के जल की तरह हैं। दोनों के जल के रंग, स्वाद, लाभ (हाँ विषैले जीवाणु हों तो हानि भी) में अंतर नहीं होता। अध्ययन करने वाले शोधार्थी साहित्य में इस...

फिर सभी को चौंकाया प्रधानमंत्री मोदी ने

फिर सभी को चौंकाया प्रधानमंत्री मोदी ने

मीडियावाला.इन। उधर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, अमेरिका के प्रधानमंत्री ट्रंप से मिलकर जम्मू-कश्मीर के मामले में मध्यस्थता का झुनझुना ढूंढ रहे थे उसी समय नरेंद्र मोदी-अमित शाह की जोड़ी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के अजीत डोभाल के...

अब कश्मीर को सच्ची आजादी

अब कश्मीर को सच्ची आजादी

मीडियावाला.इन। जम्मू-कश्मीर के सवाल को मोदी सरकार ने हमेशा के लिए हल कर दिया है। भाजपा की इस सरकार ने जैसी हिम्मत दिखाई है, वैसी हिम्मत अब तक की कोई भी सरकार नहीं दिखा पाई। यदि इंदिरा...

कश्मीर: डर के आगे जीत है.!

कश्मीर: डर के आगे जीत है.!

मीडियावाला.इन। वाकई ये मोदी की अगस्त क्रांति है। 9 अगस्त को हम हर साल 'अँग्रेजों भारत छोड़ों' के आह्वान का स्मरण करते हैं। अगले साल के 5 अगस्त को 'कश्मीर दिवस' के रूप में मनाने लगेंगे। आजादी...

कभी नहीं देखा होगा आत्मविश्वास का ये अंदाज!

कभी नहीं देखा होगा आत्मविश्वास का ये अंदाज!

मीडियावाला.इन। कमलनाथ की अपनी एक राजनीतिक शैली है, जो अमूमन राजनीतिकों में बहुत कम देखी जाती है! वे कम बोलते हैं, बेवजह बयानबाजी नहीं करते! कभी किसी ने उन्हें खुलकर ठहाके लगाते नहीं देखा! उनके...