कॉलम / नजरिया

उत्तरायण का सूर्य

उत्तरायण का सूर्य

मीडियावाला.इन। उत्तरायण का सूर्य सूरज का भी बड़ा अजीब है ना, जब करीब होता है तो पसीने-पसीने कर देता है। दूर होता है तो कंपकंपी छुड़ा देता है। कभी मन करता है कि सूरज को ओढ़कर बैठ जाए। कभी...

सियासी पतंगबाजी के दौर में भी असली पतंगों का यूं बेखौफ उड़ना...

सियासी पतंगबाजी के दौर में भी असली पतंगों का यूं बेखौफ उड़ना...

मीडियावाला.इन। इस देश में बारहों महीने चलने वाली राजनीतिक पतंगबाजी के इस दौर में भी संक्रांति के मौके पर लोग असली पतंग उड़ाना अभी नहीं भूले हैं, यह देखना सचमुच सुखद है। सुखद इसलिए भी है क्योंकि...

मस्ती और उल्लास के साथ आदिवासी संस्कृति का  भगोरिया पर्व

मस्ती और उल्लास के साथ आदिवासी संस्कृति का भगोरिया पर्व

मीडियावाला.इन। झाबुआ: प्रदेश के पश्चिमी अंचल के आदिवासी क्षेत्रों का प्रमुख आदिवासी लोकपर्व भगोरिया इस वर्ष 3 मार्च से आरंभ होकर 9 मार्च तक चलेगा। वर्ष में एक बार मनाए जाने वाले इस पर्व के कारण हफ्तेभर तक क्षेत्र...

माफिया राज......

माफिया राज......

मीडियावाला.इन। एक समय था जब लोग माफिया शब्द का उच्चारण करने से हिचकते थे। आजकल लोग विपरीत दिशा में इतना आगे निकल गए हैं कि इस शब्द का दिन-ब-दिन प्रयोग बढ़ता जा रहा है। 

भूमाफियाओं को तो घेर लिया, सूदखोरों को सरकार कब पकड़ेगी!

भूमाफियाओं को तो घेर लिया, सूदखोरों को सरकार कब पकड़ेगी!

मीडियावाला.इन। साठ के दशक में एक फिल्म आई थी 'मदर इंडिया' इसमें गाँव का सूदखोर सुक्खीलाल विधवा नर्गिस से कहता है 'तेरे गहने का तो तू मूल नहीं चुका पाई, अब तेरी उम्र ब्याज लौटाने की भी नहीं रही।...

केरल से सीखे सारा देश

केरल से सीखे सारा देश

मीडियावाला.इन। केरल में कल-परसों ऐसा काम हुआ है, जो पूरे देश में बड़े पैमाने पर होना चाहिए। कोची के समुद्रतट के किनारे चार गगनचुंबी भवनों को कुछ ही सेकेंड में जमीदोज़ कर दिया गया। ये भवन 17 से 19...

एनबीटी में फौजी: लेखक बिरादरी पर पाठकों की जीत का परचम...!

एनबीटी में फौजी: लेखक बिरादरी पर पाठकों की जीत का परचम...!

मीडियावाला.इन। देश की सबसे बड़ी सरकारी पुस्तक प्रकाशन संस्था नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) जिसका हिंदी नाम राष्ट्रीय पुस्तक न्यास है, में अहम पदों पर नियुक्तियां वैचारिक आग्रह-दुराग्रहों के कारण तो चर्चा में रही हैं, लेकिन यह पहली...

विपक्ष के सियासी चक्रव्यूह में घिरती जा रही हैं ममता ?

विपक्ष के सियासी चक्रव्यूह में घिरती जा रही हैं ममता ?

मीडियावाला.इन। लगता है पश्चिम बंगाल की राजनीति में प्रदेश की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी) प्रमुख ममता बैनर्जी की स्थिति महाभारत के अभिमन्यु जैसी होती जा रही है। वो वोटों की छीना झपटी के चक्रव्यूह में लगातार धंसती...

अब कैसे पढूँगी कविता ' गुलाबी चूड़ियाँ '

अब कैसे पढूँगी कविता ' गुलाबी चूड़ियाँ '

मीडियावाला.इन। सात साल की बच्ची के पिता के वात्सल्य की कविता एक यौन उत्पीड़क कवि की कलम से लिखी जानकर ----------------------------------------------------------- कुछ रोज़ पहले की बात है एक दोस्त को मैं Neruda की कविता सुना रही थी कविता के...

कश्मीर:अदालत की सफ़ाई

कश्मीर:अदालत की सफ़ाई

मीडियावाला.इन। कश्मीर के सवाल पर सर्वोच्च न्यायालय का जो फैसला आया है, उस पर विपक्षी दल क्यों बहुत खुश हो रहे हैं, यह समझ में नहीं आता। क्या अदालत ने सब गिरफ्तार नेताओं की रिहाई के आदेश...

कुछ अभागे जिनका भाग्य भूगोल लिखता है

कुछ अभागे जिनका भाग्य भूगोल लिखता है

मीडियावाला.इन। अपने संविधान की प्रस्तावना ही हमें आश्वस्त करती है कि सभी देशवासियों को समान जीवन स्तर,समान दर्ज़ा और जीवन में समान अवसर,अधिकार के रूप में मिलेंगे.किन्तु, क्या यह सच नहीं है कि 'भूगोल'भी अपने यहाँ ज्यादातर...

लो फिल्में भी अब बीजेपी कांग्रेस की हो गयीं

लो फिल्में भी अब बीजेपी कांग्रेस की हो गयीं

मीडियावाला.इन। भोपाल की रंगमहल टाकीज पर सुबह दस बजे से ही भीड लगने लगी थी ये अलग बात है कि ये भीड सिनेमा देखने वाले दर्शकों की कम हम टीवी रिपोर्टर और उनके कहने पर आये बीजेपी कांग्रेस के...

कश्मीर को भी अब ‘ऑन लाइन’ लाना ही होगा

कश्मीर को भी अब ‘ऑन लाइन’ लाना ही होगा

मीडियावाला.इन। संदर्भ भले जम्मू-कश्मीर का हो, लेकिन इसकी व्याप्ति संपूर्ण देश और मानव समाज तक है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सरकार द्वारा इंटरनेट सुविधा पर मनमानी पाबंदी को लेकर जो फैसला दिया है, वह दूरगामी और गहरा अर्थ...

हिंदी की नियति और हम पाखंडी लोग

हिंदी की नियति और हम पाखंडी लोग

मीडियावाला.इन। पाँच साल पहले भोपाल में विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित किया गया था तब ऐसा लगा था कि सरकार के साथ ही हम प्रदेशवासी सोते जागते इसी की माला जपेंगे। पूरा शहर हिंदी मय, तत्कालीन मुख्यमंत्री स्वयं...

सुदूर अंचलों तक उच्च शिक्षा व्यवस्था की पहल

सुदूर अंचलों तक उच्च शिक्षा व्यवस्था की पहल

मीडियावाला.इन। भारत का उच्च शिक्षा तन्त्र अमेरिका और चीन के बाद विश्व का सबसे बड़ा उच्च शिक्षा तंत्र है। मध्यप्रदेश में राज्य सरकार ने इस तंत्र को सशक्त बनाने की पहल शुरू की है। यह प्रयास...

देखनीय है ‘छपाक’

देखनीय है ‘छपाक’

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश में तो सरकार ने छपाक को टैक्स फ्री भी कर दिया है। वास्तव में छपाक दर्शनीय फिल्म है। इसलिए नहीं कि यह एसिड अटैक पर आधारित है, बल्कि इसलिए की इसमें अन्याय के विरुद्ध लड़ने की...

अब भारत की भूमिका ज्यादा जरुरी

अब भारत की भूमिका ज्यादा जरुरी

मीडियावाला.इन। ईरानी सेनापति कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका और ईरान के बीच युद्ध छिड़ जाने की जो आशंका थी, वह अभी तक आशंका ही है, यह संतोष का विषय है। ईरान ने एराक के अमेरिकी सैनिक अड्डों...

उफ्, भूख मिटाने उस युवती का जिंदा कबूतर खा जाना...

उफ्, भूख मिटाने उस युवती का जिंदा कबूतर खा जाना...

मीडियावाला.इन। शायद यकीन न हो, लेकिन जो तस्वीर बोलती है, वह भयावह है। झारखंड की राजधानी रांची के सरकारी रिम्स अस्पताल में भूख से कराहती युवती एक जिंदा कबूतर को ही मार कर कच्चा खा जाती है।...

मुर्दे बौखलाए हुए हैं

मुर्दे बौखलाए हुए हैं

मीडियावाला.इन। बभनगामा, बेगूसराय के मशहूर डॉ. अजित भारती दवाओं के परचे नहीं लिखते। वे ऑपरेशन थिएटर में पाए जाते हैं और मनगढ़ंत बीमारियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नीचे मुर्दाघर की खिड़की पर मुर्दे को ही थमा देते हैं। हद है...

माफियाओं पर सरकार का प्रहार

माफियाओं पर सरकार का प्रहार

मीडियावाला.इन। आमतौर पर आम आदमी माफिया का मतलब भूमाफिया ही समझता है लेकिन मध्यप्रदेश में भू माफिया के साथ साथ मिलावट, शराब, परिवहन, रेत,‌ वन, जुए सट्टे, चिटफंड, शिक्षा, चिकित्सा और अन्य कई क्षेत्रों में माफिया पिछले...