Tuesday, February 25, 2020

कॉलम / नजरिया

प्रज्ञा अपनी उम्मीदवारी वापिस ले

प्रज्ञा अपनी उम्मीदवारी वापिस ले

मीडियावाला.इन। भोपाल से भाजपा की लोकसभा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने भाजपा को गहरा नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने महाराष्ट्र के स्वर्गीय पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के विरुद्ध बयान देकर महाराष्ट्र में भाजपा को चोट पहुंचाई है। बाबरी मस्जिद गिराने में अपनी...

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

मीडियावाला.इन।  भाजपा ने इस बार इंदौर लोकसभा सीट से सुमित्रा महाजन 'ताई' का टिकट 75 साल के फार्मूले के तहत काट दिया। यहाँ से नए उम्मीदवार शंकर लालवानी को उम्मीदवार बनाया गया। ऐसे में 'ताई'...

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

उथली कहानी, छिछला मनोरंजन। अजय देवगन, तबु और रकुल प्रीत सिंह की दे दे प्यार दे फिल्म को कॉमेडी रोमांस फिल्म कहा जा रहा है, लेकिन इसमें कॉमेडी का पार्ट उतना ही है, जितना इसके प्रोमो में दिखाया...

बचपन को बचाइए सेक्सुअल हैरेसमेंट का पाश उन्हें ताउम्र जकड़ा रहता है..

बचपन को बचाइए सेक्सुअल हैरेसमेंट का पाश उन्हें ताउम्र जकड़ा रहता है..

मीडियावाला.इन | केके बिड़ला फौन्डेशन से बिहारी पुरस्कार प्राप्त उपन्यास स्वप्नपाश  पर चर्चा  "कुछ किताबों में जिंदगी खुद शब्द का रूप लेकर मुखर होती है...हंसती-मुस्कुराती ही नहीं डराती है...सहमाती है...फिर धीरे से चाबी दे जाती है, उस बंद ताले...

उच्चतम न्यायालय का माफी मांगने की शर्त के साथ जमानत पर छोड़ने  का असाधारण आदेश!

उच्चतम न्यायालय का माफी मांगने की शर्त के साथ जमानत पर छोड़ने  का असाधारण आदेश!

पश्चिम बंगाल की भाजपा युवा मोर्चा नेत्री प्रियंका शर्मा के द्वारा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फोटो की ‘‘मीम’’ को सोशल मीडिया में शेयर करने के कारण हावड़ा पुलिस तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता द्वारा की गई शिकायत...

नहीं है हिंसा का जबाब हिंसा

नहीं है हिंसा का जबाब हिंसा

मीडियावाला.इन। लोकसभा चुनाव में बंगाल का रंग हमेशा की तरह लाल है .पहले यहां का रंग वामपंथियों की वजह से लाल हुआ करता था ,उन्होंने यहां से कांग्रेस का तम्बू उखाड़ा और लगातार 25  साल राज किया .कांग्रेस...

क्या हुआ बंगाल में ? 

क्या हुआ बंगाल में ? 

दिनांक 12 मई को मतदान के दिन और 14 मई को कलकत्ते में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा की घटनाओं के बारे में मीडिया और राजनीतिक क्षेत्रों में काफ़ी चर्चा है। अपने बंगाल के सूत्रों...

बोलती गुड़िया क्या मुख्य भूमिका में आएगी?

बोलती गुड़िया क्या मुख्य भूमिका में आएगी?

मीडियावाला.इन। अरे इंदिरा गाँधी की पोती आई है...बिलकुल इंदिरा जी जैसा बोलती है...साड़ी उनकी ही तरह पहनती है...बिलकुल उनकी कॉपी है...कितना अच्छा बोला ना...प्रिंयका गांधी...रोड शो में यहां से वहां तक हर जगह भीड़, हर जगह उनकी एक झलक पाने...

ताई इतनी काबिल है तो, फिर टिकट क्यों काटा?

ताई इतनी काबिल है तो, फिर टिकट क्यों काटा?

मीडियावाला.इन।     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को चुनावी सभा को संबोधित करने इंदौर आए थे! उन्होंने अपनी लच्छेदार बातों से भीड़ को जमकर प्रभावित किया! लोगों से तालियां भी बजवाई! पर, अपने पीछे कुछ अनुत्तरित सवाल छोड़...

सबसे बडा सवाल, अब कौन जीतेगा भोपाल ? 

सबसे बडा सवाल, अब कौन जीतेगा भोपाल ? 

मीडियावाला.इन। फोन चाहे हाल चाल जानने के लिये ही आया हो मगर आखिर का पुछल्ला यही होता था कि क्या हो रहा है भाई आपके भोपाल में, बता तो दो कौन जीतेगा भोपाल। हम पत्रकारों से भी लोग कुछ ज्यादा...

पानी में मीन पियासी रे

पानी में मीन पियासी रे

मीडियावाला.इन।सत्रहवीं लोकसभा के लिए चुनाव प्रचार थमने में अब कुछ ही दिन बाक़ी है और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी अपनी अंतिम चुनावी सभा अपने निर्वाचन क्षेत्र काशी में कर 23 मई तक के लिए आराम करने चले जायेंगे .खबर है...

उसे बहुमत तो मिलने से रहा

उसे बहुमत तो मिलने से रहा

मीडियावाला.इन। 2019 का चुनाव अब अंतिम चरण में है। लोग पूछ रहे हैं कि सरकार किसकी बनेगी ? यह क्यों पूछ रहे हैं ? क्योंकि किसी की भी बनती नहीं दिख रही है याने किसी की भी...

पश्चिमी मध्यप्रदेश में अनसोचे नतीजों से इंकार नहीं!

पश्चिमी मध्यप्रदेश में अनसोचे नतीजों से इंकार नहीं!

मीडियावाला.इन। पूरे देश में चुनाव की गर्मी ठंडी हो गई! लेकिन, पश्चिमी मध्यप्रदेश के मालवा-निमाड़ में मौसम और चुनाव की गर्मी जोश पर है। यहाँ की 8 लोकसभा सीटों पर सातवें चरण में मतदान होगा! अब यहाँ ...

बालाकोट टर्निग पाईंट था तो नतीजे तय करेंगे देश की दिशा

बालाकोट टर्निग पाईंट था तो नतीजे तय करेंगे देश की दिशा

एक सप्ताह बाद सारी ईवीएम  मशीनें स्ट्रागरूम में कैद होते ही सभी उम्मीदवारों के भाग्य मशीनों की गिरफ्त में होंगे । 19 मई से 23 मई की पूर्व रात्रि तक मतदान बाद के सर्वेक्षण धड़कने बढ़ाते घटाते रहेंगे...

मुनाफे की आग जैसी हवस और उसमें झुलसता अपना दूध

मुनाफे की आग जैसी हवस और उसमें झुलसता अपना दूध

मीडियावाला.इन।   यूं ही याद आया,कि अगले महीने की पहली तारीख को 'विश्व दूध दिवस' है.भारत की सबसे बड़ी अदालत ने,पिछले तीन-चार सालों में अपने यहाँ बिकने वाले दूध और दूध से बने पदार्थों की बिक्री को लेकर अत्यधिक...

अयोध्या-विवाद का हल यह है

अयोध्या-विवाद का हल यह है

मीडियावाला.इन। कि अदालत सारे मामले को टाले जा रही है। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व के इस एतिहासिक मामले को सर्वोच्च न्यायालय में आए 10 साल हो गए और वह अभी तक इसे लटकाए हुए हैं, इसका क्या मतलब निकाला जाए...

मासूमों का लोकतंत्र

मासूमों का लोकतंत्र

मीडियावाला.इन। राहुल गांधी की सभा खत्म होती है। भीड़ बाहर आती है, जिसमें ढेर सारे चेहरे हैं। अलग-अलग रूप-रंग और आकार-प्रकार के चेहरे, लेकिन लौटते समय ज्यादातर पर कोई भाव नहीं है। जबकि इनमें से कई लोगों ने तालियां पीटी,...

गडकरी उवाच,झूठ या साँच

गडकरी उवाच,झूठ या साँच

मीडियावाला.इन।नितिन गडकरी भाजपा के वरिष्ठ और गंभीर नेता हैं.वे जब कुछ बोलते हैं तो उसे गंभीरता से लिए जाता है ,क्योंकि उनकी बातें भविष्य को ध्वनित करती हैं.गडकरी ने आज ही कहा है की भाजपा कभी भी व्यक्तिनिष्ठ पार्टी नहीं...

डिवाइडर इन चीफ 

डिवाइडर इन चीफ 

भस्मासुर की कहानी तो सभी ने सुनी ही होगी। वही की एक असुर था, भगवान शिव को तपस्या कर प्रसन्न कर लिया। वरदान मांगा कि जिसके सिर पर हाथ रख दूं, वह भस्म हो जाए। भोलेनाथ ने भक्त...

भ्रष्टाचार के बिना नेतागीरी कैसे ?

भ्रष्टाचार के बिना नेतागीरी कैसे ?

मीडियावाला.इन।मुझसे दर्जनों पाठकों और मित्रों ने कहा कि हम ‘चोर’ और ‘भ्रष्टाचारी न. 1’ शब्दों पर आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे हैं। आप इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं ? चुप इसलिए रहे हैं कि यह मुद्दा ही अपने...