Tuesday, February 25, 2020

कॉलम / नजरिया

पंडित जी मेरे मरने के बाद

पंडित जी मेरे मरने के बाद

मीडियावाला.इन।मरने के बाद भी आदमी चैन से नहीं रह सकता ,भाई लोग न जाने कब,कैसे और कहाँ मरने वाले के पीछे पड़ जाएँ ?मरने वालों के पीछे पड़ने के लिए हाथ धोने की भी जरूरत नहीं होती ,पास आपके पास...

अकबर को अब भी महान कहने वालों से ...!

अकबर को अब भी महान कहने वालों से ...!

अकबर, महान नहीं निकृष्टता, क्रूरता, चरित्रहीनता और सांप्रदायिक मतलबपरस्ती की पराकाष्ठा था.. महाराणा प्रताप की जयंती पर श्यामनारायण पांडेय की "हल्दीघाटी का युद्ध" कविता को पोस्ट करने के साथ मैंने संक्षिप्त टिप्पणी दी.. इस पर मेरे एक भूतपूर्व...

ममता बनर्जी का बयान ‘‘मैं मोदी को प्रधानमंत्री नहीं मानती’’ संघ वाद पर कुठाराघात नहीं?

ममता बनर्जी का बयान ‘‘मैं मोदी को प्रधानमंत्री नहीं मानती’’ संघ वाद पर कुठाराघात नहीं?

भारत देश कुल 29 राज्य व 7 केन्द्र शासित प्रदेशों को मिलाकर संघ (यूनियन) बना है। देश का एक प्रमुख पूर्वी राज्य पश्चिम बंगाल की तेजतर्राट मुख्यमंत्री दीदी का यह क्षोभ पैदा करने वाला बयान आया कि गोधरा...

अकबर को अब भी महान कहने वालों से ...!

अकबर को अब भी महान कहने वालों से ...!

मीडियावाला.इन।   अकबर, महान नहीं निकृष्टता, क्रूरता, चरित्रहीनता और सांप्रदायिक मतलबपरस्ती की पराकाष्ठा था.. महाराणा प्रताप की जयंती पर श्यामनारायण पांडेय की "हल्दीघाटी का युद्ध" कविता को पोस्ट करने के साथ मैंने संक्षिप्त टिप्पणी दी.. इस पर मेरे...

कठघरे में देवता

कठघरे में देवता

मीडियावाला.इन।   तो उसने खड़े होकर अंगुली से इशारा किया और सरे आम न्याय के देवता पर आरोप लगा दिया। रोज कठघरे में खड़ा कर हजारों लोगों को मिमयाते देखने के अभ्यस्त देवता के चारों ओर लकडिय़ां जमने लगीं।...

क्लीनचिट ले लो,क्लीनचिट 

क्लीनचिट ले लो,क्लीनचिट 

मीडियावाला.इन हमारे मुल्क में सब कुछ आसानी से मिलता है .फिर 'क्लीनचिट  'का तो कहना ही क्या ?'क्लीनचिट 'पाने के लिए आपका क्लीनचिट देने वालों से सौहार्दपूर्ण रिश्ता होना चाहिए .आप चाहे जितना काला-पीला कीजिये लेकिन...

नरेन्द्र मोदी और भाजपा के इमेज मेकर्स

नरेन्द्र मोदी और भाजपा के इमेज मेकर्स

सन 2013 से राजेश जैन भारतीय जनता पार्टी के इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी रणनीतिज्ञ हैं। उन्होंने ही सबसे पहले फेसबुक और वाट्सएप का उपयोग भाजपा के प्रचार में करना शुरू किया। यह भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का काम रहा...

तालिबान से भारत बात करे

तालिबान से भारत बात करे

अफगान-समस्या का हल करने के लिए अमेरिका आजकल पूरा जोर लगा रहा है। अमेरिकी सरकार के विशेष दूत जलमई खलीलजाद कई महिनों से काबुल, दोहा, दिल्ली और इस्लामाबाद के चक्कर लगा रहे हैं। खलीलजाद यों तो मूलतः अफगान...

'ताई' की राजनीतिक विरासत का सही उत्तराधिकारी कौन!  

'ताई' की राजनीतिक विरासत का सही उत्तराधिकारी कौन!  

मीडियावाला.इन।  इंदौर की भविष्य की राजनीति का सिक्का हवा में उछल चुका है! जब ये सिक्का नीचे गिरेगा तो ऊपर 'चित' आता है या 'पट' कोई नहीं जानता! तीन दशकों से जिस लोकसभा सीट पर सुमित्रा...

मुद्दों का पिंडदान कर राजनीति ने पहनी राष्ट्रवाद की पगड़ी

मुद्दों का पिंडदान कर राजनीति ने पहनी राष्ट्रवाद की पगड़ी

पांच चरण के बाद और अगले चरण की इस बेला में चुनाव प्रचार पर नजर दौड़ाएं तो लगता है कांग्रेस गांधी-नेहरू के पदचिन्हों को छोड़कर दूसरी पगडंडी पर निकल पड़ी है। यह रास्ता- भ्रम है या जानबूझकर मंजिल...

ब्राह्मणत्व जन्म नहीं आचरण का विषय 

ब्राह्मणत्व जन्म नहीं आचरण का विषय 

"यदि शूद्र में सत्य आदि उपयुक्त लक्षण हैं और ब्राह्मण में नहीं हैं, तो वह शूद्र शूद्र नहीं है, न वह ब्राह्मण ब्राह्मण। युधिष्ठिर कहते हैं कि हे सर्प जिसमें ये सत्य आदि ये लक्षण मौजूद हों, वह...

खेती का संकट:विकल्प तो अपने आसपास ही हैं 

खेती का संकट:विकल्प तो अपने आसपास ही हैं 

भारत में रोज गहरा रहा खेती का संकट,किसानों के कर्जे,उनका मजदूरी के लिए शहरों की तरफ भागना,खेतों का बंजर होते जाना,खेती में लगने वाली चीज़ों का रोज महंगा होना और बीमार मिट्टी से बीमार ही अन्न का उपजना...

कसौटी पर चढ़ती सियासत

कसौटी पर चढ़ती सियासत

एक पखवाड़े बाद देश की सियासत का नया चेहरा दुनिया के सामने होगा .बुंदेलखंड में एक कहावत है कि-'मौ दूर कई थापर 'यानि प्रतीक्षा की घड़ियां ज्यादा दूर नहीं है ,इसलिए ज्यादा उतावला होने की जरूरत नहीं है.देश...

रफाल से आप डरी हुई क्यों हैं?

रफाल से आप डरी हुई क्यों हैं?

रफाल-सौदे के बारे में सरकार ने अदालत के सामने जो तर्क पेश किए हैं, वे बिल्कुल लचर-पचर हैं। वे सरकार की स्थिति को कमजोर करते हैं। सरकार का कहना है कि अरुण शौरी, यशवंत सिंहा और प्रशांत भूषण...

वेब सीरीज से मुकाबले में पिछड़ने लगे टीवी और सिनेमा!

वेब सीरीज से मुकाबले में पिछड़ने लगे टीवी और सिनेमा!

मनोरंजन के अभी तक कुछ ही माध्यम मौजूद थे। दो दृश्य माध्यम सिनेमा और टीवी और एक श्रवण माध्यम यानी रेडियो! करीब तीन दशकों से यही चल रहा था। लेकिन, अब मनोरंजन के एक और माध्यम 'वेब...

थप्पड़,जूते का लोकतंत्र 

थप्पड़,जूते का लोकतंत्र 

मीडियावाला.इन। आज गर्व से नहीं,लज्जा से ,ग्लानि से भरा हूँ इसलिए नहीं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को किसी ने फिर थप्पड़ मारा बल्कि इसलिए कि इस घ्रणित वारदात पर भी देश विभाजित है .एक तरफ वारदात की निंदा...

विंध्य में कांग्रेस की जमीन इसलिए खिसकी..!

विंध्य में कांग्रेस की जमीन इसलिए खिसकी..!

मीडियावाला.इन।   राहुल गांधी गुरुवार को रीवा में कांग्रेस के चुनावी अभियान को फायनल टच देंगे। रीवा और सतना लोकसभा सीट के लिए 6 मई को वोट पड़ने हैं। कांग्रेस मुद्दतों बाद अपनी खोई हुई जमीन को...

लोकसभा चुनाव: न मुद्दे हैं ना कोई लहर, हां, नेता अपनी भाषा और मर्यादा तोड़ने का कीर्तिमान जरूर रच रहे हैं

लोकसभा चुनाव: न मुद्दे हैं ना कोई लहर, हां, नेता अपनी भाषा और मर्यादा तोड़ने का कीर्तिमान जरूर रच रहे हैं

मीडियावाला.इन। लोक सभा चुनाव धीरे धीरे अपनी परिणिति की ओर बढ़ रहा है, यद्यपि अभी अत्यधिक महत्वपूर्ण एक तिहाई सीटें बची हुई हैं। पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपने पुराने इतिहास और भविष्य के वादों के साथ जनता के हृदय...

नक्सलियों से कैसे निपटें ?

नक्सलियों से कैसे निपटें ?

मीडियावाला.इन।महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलवादियों के हमले में 15 पुलिस के जवान और एक ड्राइवर मारा गया। गढ़चिरौली का यह इलाका छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव से लगा हुआ है। वास्तव में छत्तीसगढ़ तो नक्सलगढ़ बना हुआ है। वहां आए दिन नक्सली...

गुब्बारा और आलपिन

गुब्बारा और आलपिन

मीडियावाला.इन।   दुनिया जानती है कि महाकार हाथी एक हाथ के अंकुश से और एक बड़ा गुब्बारा छोटी सी आलपिन से डरता है .ठीक ऐसा ही काशी के तेज बहादुर से लोग डर गए.लोकतंत्र के महायज्ञ में जोर आजमाइश...