कॉलम / नजरिया

बस पर्दा उठने की देर है

बस पर्दा उठने की देर है

मीडियावाला.इन। अब हार-जीत में सिर्फ चंद घंटों का फासला है। पूरा देश धडक़नों को साधे हुए उस घड़ी का इंतजार कर रहा है। इंतजार उन लोगों में सबसे ज्यादा है, जो बदलाव या ठहराव के माध्यम बनने वाले हैं। उनके...

डांवाडोल विपक्ष

डांवाडोल विपक्ष

मीडियावाला.इन। भारत के विपक्षी दलों की दुर्दशा देखने लायक है। चुनाव के पहले वे कोई संयुक्त मोर्चा खड़ा नहीं कर सके और चुनाव के बाद चार दिन निकल गए लेकिन अभी तक वे हवा में लट्ठ घुमा रहे हैं। वे...

मंत्रियों के क्षेत्र से कम वोट मिलने पर भी   कमलनाथ किसी को नहीं हटा सकेंगे 

मंत्रियों के क्षेत्र से कम वोट मिलने पर भी  कमलनाथ किसी को नहीं हटा सकेंगे 

मीडियावाला.इन।  मध्यप्रदेश में कांग्रेस लोकसभा की कितनी सीटें जीतेगी यह गुरुवार की रात तक स्पष्ट हो जाएगा।यह आंकड़ा कमलनाथ का परफारमेंस भी तय करेगा क्योंकि मुख्यमंत्री के साथ ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष का दायित्व भी उनके ही पास...

चुनाव परिणाम जो भी हो,हासिल क्या ?

चुनाव परिणाम जो भी हो,हासिल क्या ?

करीब चार दशक से पत्रकारिता करते हुए सुन रहा हूँ कि हमारा लोकतंत्र हर चुनाव के बाद परिपक्व होता जा रहा है । सत्रहवीं लोकसभा के लिये सात दौर में सम्पन्न मतदान के बाद सोच रहा हूँ, यह...

एग्जिट पोल  : एक मनोरंजक फ़िल्म "नँद के घर आनंद भयो"

एग्जिट पोल  : एक मनोरंजक फ़िल्म "नँद के घर आनंद भयो"

चुनाव बाद से जो कुछ चल रहा है उसमें अचंभित करनेवाला कुछ भी नहीं है, बीजेपी को फिर बड़ी जीत का भरोसा है तो उसमें गलत क्या है ,कांग्रेस कह रही है ज्यादा उछलें मत नतीजे आने दो...

वाकई कठिन साबित हो रही है भोपाल सीट दिग्गी राजा के लिए

वाकई कठिन साबित हो रही है भोपाल सीट दिग्गी राजा के लिए

मध्य प्रदेश और अन्य प्रदेशों से कई मित्रों ने भोपाल में 12 तारीख को पोलिंग के बाद फोन किया। अभी तक फोन आ रहे हैं। सबकी उत्सुकता ये जानने में थी और है कि भोपाल में कौन जीतेगा।...

भानुमती कौन बनेगा इस बार ?

भानुमती कौन बनेगा इस बार ?

वो जमाना गया जब भारत में किसी एक दल की सरकार बन जाती थी .1977  में नाकाम हुआ गठबंधन का दौर आज चार दशक बाद गठबंधन धर्म में तब्दील हो चुका है. इस गठबंधन सियासत में हर बार...

एक्जिट पोलः अंदाजी घोड़े

एक्जिट पोलः अंदाजी घोड़े

एक्जिट पोल की खबरों ने विपक्षी दलों का दिल बैठा दिया है। एकाध को छोड़कर सभी कह रहे हैं कि दुबारा मोदी सरकार बनेगी। विपक्षी नेता अब या तो मौनी बाबा बन गए हैं या हकला रहे हैं।...

सटोरियों के देश में लोकतंत्र

सटोरियों के देश में लोकतंत्र

जब तक देश में टीवी नहीं था तब तक सब ठीक-ठाक था .न जिंटा हमराह होती थी और न खामखां की अटकलबाजियां चुनाव और मतदाता को प्रभावित करती थीं लेकिन जब से टीवी आया है और जब से...

अब कमान राष्ट्रपति के हाथों

अब कमान राष्ट्रपति के हाथों

मीडियावाला.इन।यदि इस 2019 के चुनाव में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिल जाए और एक स्थिर सरकार बन जाए तो भारतीय लोकतंत्र के लिए इससे बढ़िया बात तो कोई हो ही नहीं सकती। वह सरकार पिछले पांच साल की सरकार से...

मरती नदियां और संकट में आती ज़िन्दगी

मरती नदियां और संकट में आती ज़िन्दगी

मीडियावाला.इन। चौंकिए मत.मैंने सही शब्द इस्तेमाल किये हैं.हमारे देश की अधिकाँश नदियां,बीमार तो छोड़िये,मरणासन्न हैं.उदाहरण के बतौर,तमाम हल्ले,हंगामे और प्रचार के बावजूद,सच तो यह है कि गंगोत्री से डायमंड हार्बर तक,गंगा में प्रतिदिन जितना कचरा छोड़ा जाता है,वह गंगा-किनारे...

मोदी की एतिहासिक पत्रकार-परिषद्

मोदी की एतिहासिक पत्रकार-परिषद्

मीडियावाला.इन।नरेंद्र मोदी भारत के ऐसे पहले और एकमात्र प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने अपने पूरे कार्यकाल में एक भी प्रेस-काॅन्फ्रेंस नहीं की। उम्मीद बंधी थी कि अपने प्रधानमंत्री की अवधि के अंतिम दौर में वे कम से कम एक बार तो पत्रकारों...

कैमरा योग

कैमरा योग

मीडियावाला.इन।     कलिकाल में एक योगी हुए, जिनके पुण्य प्रताप से दशों दिशाएं चमत्कृत थी। जितनी रोशनी सूरज एक दिन में धरती पर फेंकता है, उससे कहीं ज्यादा कैमरे के फ्लैश उनके चेहरे पर पड़ते। जहां जाते...

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर : सन्यास और राजनीति का विस्फोटक मेल...

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर : सन्यास और राजनीति का विस्फोटक मेल...

मीडियावाला.इन।छोटा कद, पैर से कंधे तक भगवा रंग के वस्त्र और सर पर सरदारों की तरह की भगवा पगडी। चलती धीरे हैं मगर बोलती हैं तो आग सी लगाती है। उमर होगी कोई पैंतालीस पचास के आसपास। अपने आपको साध्वी...

धार लोकसभा सीट:कांटाजोड़ मुकाबले में फँसी भाजपा की साख!

धार लोकसभा सीट:कांटाजोड़ मुकाबले में फँसी भाजपा की साख!

मीडियावाला.इन।  इस आदिवासी सीट पर पिछले चुनाव में मोदी लहर का ख़ासा असर था। लेकिन, इस बार माहौल बदला हुआ है। विधानसभा चुनाव में जिले की 7 में से 6 सीटों पर कांग्रेस ने जीत का झंडा लहराया!...

कान और मुंह का फासला

कान और मुंह का फासला

मीडियावाला.इन। आली जनाब आकर बैठे हैं। लोग उत्सुक और उत्साहित हैं कि अब कुछ बात होगी। सब पूरी तैयारी से आए हैं। हालांकि सूचना देर से मिली थी, इसलिए बहुत ज्यादा वक्त तो नहीं मिल पाया, लेकिन हवाओं में ही...

प्रज्ञा अपनी उम्मीदवारी वापिस ले

प्रज्ञा अपनी उम्मीदवारी वापिस ले

मीडियावाला.इन। भोपाल से भाजपा की लोकसभा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने भाजपा को गहरा नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने महाराष्ट्र के स्वर्गीय पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के विरुद्ध बयान देकर महाराष्ट्र में भाजपा को चोट पहुंचाई है। बाबरी मस्जिद गिराने में अपनी...

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

इंदौर के बहाने 'भाजपा' और 'ताई' दोनों की प्रतिष्ठा दाँव पर!

मीडियावाला.इन।  भाजपा ने इस बार इंदौर लोकसभा सीट से सुमित्रा महाजन 'ताई' का टिकट 75 साल के फार्मूले के तहत काट दिया। यहाँ से नए उम्मीदवार शंकर लालवानी को उम्मीदवार बनाया गया। ऐसे में 'ताई'...

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

उथली कहानी, छिछला मनोरंजन। अजय देवगन, तबु और रकुल प्रीत सिंह की दे दे प्यार दे फिल्म को कॉमेडी रोमांस फिल्म कहा जा रहा है, लेकिन इसमें कॉमेडी का पार्ट उतना ही है, जितना इसके प्रोमो में दिखाया...

बचपन को बचाइए सेक्सुअल हैरेसमेंट का पाश उन्हें ताउम्र जकड़ा रहता है..

बचपन को बचाइए सेक्सुअल हैरेसमेंट का पाश उन्हें ताउम्र जकड़ा रहता है..

मीडियावाला.इन | केके बिड़ला फौन्डेशन से बिहारी पुरस्कार प्राप्त उपन्यास स्वप्नपाश  पर चर्चा  "कुछ किताबों में जिंदगी खुद शब्द का रूप लेकर मुखर होती है...हंसती-मुस्कुराती ही नहीं डराती है...सहमाती है...फिर धीरे से चाबी दे जाती है, उस बंद ताले...