Tuesday, February 25, 2020

कॉलम / नजरिया

कहां चीन और कहां भारत?

कहां चीन और कहां भारत?

मीडियावाला.इन। आज चीन की प्रति व्यक्ति आय के आंकड़े देखकर मेरे दिमाग में कई सवाल एक साथ उठते रहे। चीन की प्रति व्यक्ति आय 10 हजार डाॅलर से ज्यादा है जबकि भारत की प्रति व्यक्ति आय 2000 डाॅलर के...

अविश्वास करने का कोई कारण मौजूद नहीं है मेरे पास

अविश्वास करने का कोई कारण मौजूद नहीं है मेरे पास

मीडियावाला.इन गुनगन थानवी  की बात पर अविश्वास करने का कोई कारण मौजूद नहीं है मेरे पास! हां, विश्वास करने के लिए ढेरों किस्से और चेहरे हैं मेरे पास! जब हम छोटे थे तब लड़कियाँ कहती नहीं थीं क्योंकि कोई...

सिंधिया के भोपाल दौरे के बहाने हो रही कयासबाजी….

सिंधिया के भोपाल दौरे के बहाने हो रही कयासबाजी….

मीडियावाला.इन। जैसा कि हर बार होता है तो इस बार भी होना ही था। कांग्रेस महासचिव  नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का भोपाल दौरा हो और कोई कयासबाजी ना हो ऐसा कैसे हो सकता है। सिधिंया के दौरे के...

माघ सप्तमी:स्वामी रामानंदाचार्य जयंती

माघ सप्तमी:स्वामी रामानंदाचार्य जयंती

मीडियावाला.इन। कल माघ सप्तमी थी स्वामी रामानंद का अवतरण दिवस। जाति-'पाँति पूछै नहिं कोय हरि को भजै सो हरि का होय' का नारा देने वाले इस महान क्रांतिकारी संत को अपन भूल ही गए थे, क्योंकि कहीं कोई आयोजन-प्रयोजन...

मौसम का मिजाज समझो ना !

मौसम का मिजाज समझो ना !

मीडियावाला.इन। हम सब लकीर के फकीर हैं ।मौसम का मिजाज समझना ही नहीं चाहते ,भले ही मौसम के प्रतिकूल होने की वजह से हश्र कुछ भी क्यों न हो ?मौसम के हवाले से मै तीन बड़े आयोजनों का जिक्र...

संवेदना की इस ‘छपाक्’ को वक्त जरूर याद रखेगा !

संवेदना की इस ‘छपाक्’ को वक्त जरूर याद रखेगा !

मीडियावाला.इन। फिल्म बनाना और उसका चलना न चलना, बेशक एक व्यवसाय है, लेकिन कुछ अच्छी और सोद्देश्य फिल्मों का न चलना अथवा कम चलना समाज की संवेदनशीलता और समझ पर भी सवाल खड़े करता है। सवाल ये...

किसान की किस्मत और गरीब की अस्मत

किसान की किस्मत और गरीब की अस्मत

मीडियावाला.इन। किसानों की धान खुले में पड़ी है, मौसम का भरोसा नहीं। खरीद केंद्रों में कड़कड़ाती ठंड में वे अपने ट्रैक्टरों के नीचे सोकर रात गुजार रहे हैं। सोसायटी का मैनेजर रोज-ब-रोज यह कहते हुए पल्ला झाड़ लेता है...

चौबे जी का दुबे हो जाना: मामला पूर्व एडीजी राजेंद्र चतुर्वेदी को पांच साल की सजा

चौबे जी का दुबे हो जाना: मामला पूर्व एडीजी राजेंद्र चतुर्वेदी को पांच साल की सजा

मीडियावाला.इन। चौबे जी का दुबे हो जाना *********************** मध्यप्रदेश के इतिहास में दस्यु उन्मूलन में क्षेत्र में एक अलग अध्याय लिखने वाले मध्यप्रदेश पुलिस के पूर्व एडीजी राजेंद्र चतुर्वेदी को जेल में हुई भर्तियों में लेनदेन के आरोप में...

कश्मीरः सही काम गलत ढंग से

कश्मीरः सही काम गलत ढंग से

मीडियावाला.इन। कश्मीर के कुछ नेताओं को उनके अपने बंगलों में रखा जा रहा है, इंटरनेट की सुविधा कुछ अन्य जिलों में बढ़ाई जा रही है और सबसे बड़ी बात यह कि 36 केंद्रीय मंत्रियों को जम्मू-कश्मीर के लगभग 60...

हां मैं मिला था हाजी मस्तान से !

हां मैं मिला था हाजी मस्तान से !

मीडियावाला.इन। हां मैं कुबूल करता हूं कि मुंबई के डॉन रहे हाजी मस्तान से मैं मिला था।यह मुलाकात इंदौर में ही हुई थी।शायद 33-34 साल पहले 1986 में।  गौर करने लायक यह कि जिला प्रशासन और पुलिस की खुफिया...

उत्तरायण का सूर्य

उत्तरायण का सूर्य

मीडियावाला.इन। उत्तरायण का सूर्य सूरज का भी बड़ा अजीब है ना, जब करीब होता है तो पसीने-पसीने कर देता है। दूर होता है तो कंपकंपी छुड़ा देता है। कभी मन करता है कि सूरज को ओढ़कर बैठ जाए। कभी...

सियासी पतंगबाजी के दौर में भी असली पतंगों का यूं बेखौफ उड़ना...

सियासी पतंगबाजी के दौर में भी असली पतंगों का यूं बेखौफ उड़ना...

मीडियावाला.इन। इस देश में बारहों महीने चलने वाली राजनीतिक पतंगबाजी के इस दौर में भी संक्रांति के मौके पर लोग असली पतंग उड़ाना अभी नहीं भूले हैं, यह देखना सचमुच सुखद है। सुखद इसलिए भी है क्योंकि...

मस्ती और उल्लास के साथ आदिवासी संस्कृति का  भगोरिया पर्व

मस्ती और उल्लास के साथ आदिवासी संस्कृति का भगोरिया पर्व

मीडियावाला.इन। झाबुआ: प्रदेश के पश्चिमी अंचल के आदिवासी क्षेत्रों का प्रमुख आदिवासी लोकपर्व भगोरिया इस वर्ष 3 मार्च से आरंभ होकर 9 मार्च तक चलेगा। वर्ष में एक बार मनाए जाने वाले इस पर्व के कारण हफ्तेभर तक क्षेत्र...

माफिया राज......

माफिया राज......

मीडियावाला.इन। एक समय था जब लोग माफिया शब्द का उच्चारण करने से हिचकते थे। आजकल लोग विपरीत दिशा में इतना आगे निकल गए हैं कि इस शब्द का दिन-ब-दिन प्रयोग बढ़ता जा रहा है। 

भूमाफियाओं को तो घेर लिया, सूदखोरों को सरकार कब पकड़ेगी!

भूमाफियाओं को तो घेर लिया, सूदखोरों को सरकार कब पकड़ेगी!

मीडियावाला.इन। साठ के दशक में एक फिल्म आई थी 'मदर इंडिया' इसमें गाँव का सूदखोर सुक्खीलाल विधवा नर्गिस से कहता है 'तेरे गहने का तो तू मूल नहीं चुका पाई, अब तेरी उम्र ब्याज लौटाने की भी नहीं रही।...

केरल से सीखे सारा देश

केरल से सीखे सारा देश

मीडियावाला.इन। केरल में कल-परसों ऐसा काम हुआ है, जो पूरे देश में बड़े पैमाने पर होना चाहिए। कोची के समुद्रतट के किनारे चार गगनचुंबी भवनों को कुछ ही सेकेंड में जमीदोज़ कर दिया गया। ये भवन 17 से 19...

एनबीटी में फौजी: लेखक बिरादरी पर पाठकों की जीत का परचम...!

एनबीटी में फौजी: लेखक बिरादरी पर पाठकों की जीत का परचम...!

मीडियावाला.इन। देश की सबसे बड़ी सरकारी पुस्तक प्रकाशन संस्था नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) जिसका हिंदी नाम राष्ट्रीय पुस्तक न्यास है, में अहम पदों पर नियुक्तियां वैचारिक आग्रह-दुराग्रहों के कारण तो चर्चा में रही हैं, लेकिन यह पहली...

विपक्ष के सियासी चक्रव्यूह में घिरती जा रही हैं ममता ?

विपक्ष के सियासी चक्रव्यूह में घिरती जा रही हैं ममता ?

मीडियावाला.इन। लगता है पश्चिम बंगाल की राजनीति में प्रदेश की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी) प्रमुख ममता बैनर्जी की स्थिति महाभारत के अभिमन्यु जैसी होती जा रही है। वो वोटों की छीना झपटी के चक्रव्यूह में लगातार धंसती...

अब कैसे पढूँगी कविता ' गुलाबी चूड़ियाँ '

अब कैसे पढूँगी कविता ' गुलाबी चूड़ियाँ '

मीडियावाला.इन। सात साल की बच्ची के पिता के वात्सल्य की कविता एक यौन उत्पीड़क कवि की कलम से लिखी जानकर ----------------------------------------------------------- कुछ रोज़ पहले की बात है एक दोस्त को मैं Neruda की कविता सुना रही थी कविता के...

कश्मीर:अदालत की सफ़ाई

कश्मीर:अदालत की सफ़ाई

मीडियावाला.इन। कश्मीर के सवाल पर सर्वोच्च न्यायालय का जो फैसला आया है, उस पर विपक्षी दल क्यों बहुत खुश हो रहे हैं, यह समझ में नहीं आता। क्या अदालत ने सब गिरफ्तार नेताओं की रिहाई के आदेश...