कॉलम / नजरिया

सबरीमालाः नेताओं का भौंदूपन 

सबरीमालाः नेताओं का भौंदूपन 

मीडियावाला.इन। नए सर्वोच्च न्यायाधीश रंजन गोगोई को मेरी बधाई कि उन्होंने सबरीमाला मंदिर के मामले में लगाई गई याचिकाओं को तत्काल सुनने से मना कर दिया है। ये याचिकाएं इसलिए लगाई गई थीं कि 18 अक्तूबर से केरल...

काँग्रेस का गुरूर ही कहीं उसे ले न डूबे

काँग्रेस का गुरूर ही कहीं उसे ले न डूबे

अखिलेश यादव का यह कदम मौका देखकर चौका नहीं अपितु आहत मन से किया गया जवाबी प्राहार है।  मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड इलाके की एक सभा में उन्होंने टिकट वंचित काँग्रेस नेताओं को समाजवादी पार्टी से लड़ने का न्योता...

ईवीएम की ‘पवित्रता’ पर भी ‘मोहर’ लगाएंगे पांच राज्यों के चुनाव !

ईवीएम की ‘पवित्रता’ पर भी ‘मोहर’ लगाएंगे पांच राज्यों के चुनाव !

मध्यप्रदेश सहित पांच राज्यों के अगले दो माह में होने वाले चुनाव सत्ता का सारथी तय करने के साथ-साथ इलेक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीन ( ईवीएम) की विश्वसनीयता की अग्नि परीक्षा भी होंगे। अगर इन चुनावों के नतीजों पर भी...

न्यायपालिका पर राजनैतिक खेल

न्यायपालिका पर राजनैतिक खेल

पर्यटन से लौट कर सभी पुराने समाचार पत्र पढ़े। चुनाव संबंधी निरर्थक सूचनाओं के बीच बीते दिनों के सुप्रीम कोर्ट के महत्वपूर्ण निर्णय ध्यानाकर्षित करने वाले हैं। विदेश जाने से पूर्व मैंने प्रतीक्षित निर्णयों की सूची के बारे...

राम मंदिर का मसला मजहबी नहीं

राम मंदिर का मसला मजहबी नहीं

विश्व हिंदू परिषद ने राम मंदिर का मोर्चा दुबारा खोल दिया है। मुझे आश्चर्य है कि वह पिछले चार साल मौन-व्रत क्यों धारण किए रही ? मेरे लिए अयोध्या में राम मंदिर मजहबी मसला है ही नहीं। उसे...

श्राद्ध पक्ष अपने पुरखों के प्रति श्रद्धा तक सीमित नहीं 

श्राद्ध पक्ष अपने पुरखों के प्रति श्रद्धा तक सीमित नहीं 

हाल ही में हिन्दू धर्म का श्राद्ध पक्ष समाप्त हुआ।  प्रत्येक धर्म-पंथ में ऐसे अवसर, प्रसंग, पररंपराएं होती हैं , जब आप अपने परिवार के उन पूर्वजों को श्रद्धापूर्वक याद कर सकते हैं, जो परलोक सिधार चुके हैं।...

 तब के सहपाठी और अब पत्रकारों ने किया अपने साथी का सम्मान

 तब के सहपाठी और अब पत्रकारों ने किया अपने साथी का सम्मान

मीडियावाला.इन। तब के सहपाठी और अब पत्रकारों ने किया अपने साथी-नगर भाजपा अध्यक्ष गोपी नेमा का सम्मान इंदौर की हवा में ये जो मुहब्बत भरी है, बाकी शहरों में नजर नहीं आती इंदौर(अवंतिका न्यूज) पत्रकार किसी...

रिटायर्ड नहीं, युवा जोश से भरी अनुभवी और युवा लोगों की पार्टी है 'सपाक्स'

रिटायर्ड नहीं, युवा जोश से भरी अनुभवी और युवा लोगों की पार्टी है 'सपाक्स'

मध्यप्रदेश में सपाक्स पार्टी के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिद्वंदी पार्टियां ये प्रचारित करने में लगी हैं कि ये रिटायर्ड लोगों का संगठन है। इस पार्टी में ज्यादातर वे सरकारी अफसर हैं, जो नौकरी के बाद...

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

मप्र में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। अब अगले दो माह चुनाव प्रचार का शोर होगा। जीत का जश्‍न होगा, हार पर आगे बढ़ने का संकल्‍प होगा। कुछ मुद्दे इन दिनों पर भारी होंगे और ये...

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

इन दिनों मध्यप्रदेश में सफ़ाई में आगे रहने की होड़ लगी हुई है , इंदौर और भोपाल पूरे देश में सबसे साफ़ सुथरे शहरों की गिनती में पहले और दूसरे नम्बर पर आए हैं , तो हाल ही में...

मतदाता की कसौटी पर कसे जाने का पर्व है चुनाव

मतदाता की कसौटी पर कसे जाने का पर्व है चुनाव

बज गया है। मतदाता की अहमियत का पर्व और मानमुनव्वल का जश्न शुरु होने वाला है। वादे, दावे की महफिल सजने वाली है। सरकार कसौटी पर कसी जाएगी, विपक्ष की सजगता, संघर्ष भी तोला जाएा। हर पांच वर्ष...

शिवराज जी! चिंता कीजिए, गेहलोत और नंदकुमार के ऐसे आचरण पर

शिवराज जी! चिंता कीजिए, गेहलोत और नंदकुमार के ऐसे आचरण पर

बात पुरानी है। थावरचंद गेहलोत तब केवल विधायक थे। विधानसभा में एक दिन वह छा गये। उनकी सीधी भिड़ंत अपने ही जैसे तीखे मिजाज वाले उप मुख्यमंत्री सुभाष यादव से हो गई। यादव ने गरजते हुए कहा, 'सहकारिता...

अंधों का हाथी हो गई है खेती-बाड़ी

अंधों का हाथी हो गई है खेती-बाड़ी

अपने देश की एक पुरानी बोधकथा है कि कुछ अंधों को हाथी का वर्णन करना था.सबने अपने अपने हाथ में आये उसके अंगों को ही पूरा हाथी समझकर अपना अंतिम निर्णय दे दिया. समझ की इस दर्दनाक कमी...

आचार संहिता की रात

आचार संहिता की रात

मीडियावाला.इन।  आचार संहिता लागू हो गई है। नेताजी कमरे में बैठे हैं। जैसे मौत के पहले जिंदगी की कहानी आंखों मैं तैरने लगती है। नेताजी को भी पांच साल का किया-धरा याद आ रहा है। कुछ खास सहयोगियों...

‘मी टू’ या ‘यू टू’: स्त्री-पुरूष में नैसर्गिक विश्वास टूट  न हो जाए...

‘मी टू’ या ‘यू टू’: स्त्री-पुरूष में नैसर्गिक विश्वास टूट  न हो जाए...

अनचाहा संयोग है कि जब दुनिया भर  में महिलाअों के यौन प्रताड़ना के वैश्विक ‘हैशटैग मी टू कैम्पेन’ की बरसी इसी माह मनने वाली हो, उसी मौके पर भारत में बाॅलीवुड में अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा जाने माने...

जनता ने सबको मौका दिया मगर जनता को आगे बढ़ने का मौका किसी ने नहीं दिया

जनता ने सबको मौका दिया मगर जनता को आगे बढ़ने का मौका किसी ने नहीं दिया

2009 में यूपीए टू के आने से पहले की बात है। राहुल गांधी उत्तराखंड के दौरे पर थे। स्टूडेंटों के बीच। आरक्षण का सवाल उन दिनों भी बहुत गर्म था। छात्रों में नाराजगी भी थी और कई सवाल...

अब आदर्श आचार विचार का मामला है

अब आदर्श आचार विचार का मामला है

अभी तक जो हुआ सो हुआ। सरकार को जो करना था सो किया। पर अब टाइम ओवर हो गया। उम्मीद तो बहुत थी कि 12 अक्टूबर तक का समय मिल जाएगा तो जितने हाथ पाँव मारने हैं मार...

भारत-रुसः दाल में काला नहीं

भारत-रुसः दाल में काला नहीं

रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ एस-400 प्रक्षेपास्त्र की खरीद का समझौता हुआ। ट्रायंफ नामक इस मिसाइल के पांच स्क्वेड्रन 40 हजार करोड़ रु. में आएंगे लेकिन आश्चर्य है कि 60 हजार करोड़ के रेफल विमानों की तरह...

लोकमाता की साड़ी देखने आए थे मोटा भाई ! 

लोकमाता की साड़ी देखने आए थे मोटा भाई ! 

मीडियावाला.इन। पैदल तो चले नहीं, खुली जीप में भी आधा ही महाजनसंपर्क किया और कार से निकल लिए बाकी किसी की समझ में आए ना आए अपनी तो समझ में आ गया है कि मोटा भाई...