कॉलम / नजरिया

रिटायर्ड नहीं, युवा जोश से भरी अनुभवी और युवा लोगों की पार्टी है 'सपाक्स'

रिटायर्ड नहीं, युवा जोश से भरी अनुभवी और युवा लोगों की पार्टी है 'सपाक्स'

मध्यप्रदेश में सपाक्स पार्टी के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिद्वंदी पार्टियां ये प्रचारित करने में लगी हैं कि ये रिटायर्ड लोगों का संगठन है। इस पार्टी में ज्यादातर वे सरकारी अफसर हैं, जो नौकरी के बाद...

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

मप्र में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। अब अगले दो माह चुनाव प्रचार का शोर होगा। जीत का जश्‍न होगा, हार पर आगे बढ़ने का संकल्‍प होगा। कुछ मुद्दे इन दिनों पर भारी होंगे और ये...

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

माण्डू , बेस्ट हेरिटेज सिटी अव इंडिया

इन दिनों मध्यप्रदेश में सफ़ाई में आगे रहने की होड़ लगी हुई है , इंदौर और भोपाल पूरे देश में सबसे साफ़ सुथरे शहरों की गिनती में पहले और दूसरे नम्बर पर आए हैं , तो हाल ही में...

मतदाता की कसौटी पर कसे जाने का पर्व है चुनाव

मतदाता की कसौटी पर कसे जाने का पर्व है चुनाव

बज गया है। मतदाता की अहमियत का पर्व और मानमुनव्वल का जश्न शुरु होने वाला है। वादे, दावे की महफिल सजने वाली है। सरकार कसौटी पर कसी जाएगी, विपक्ष की सजगता, संघर्ष भी तोला जाएा। हर पांच वर्ष...

शिवराज जी! चिंता कीजिए, गेहलोत और नंदकुमार के ऐसे आचरण पर

शिवराज जी! चिंता कीजिए, गेहलोत और नंदकुमार के ऐसे आचरण पर

बात पुरानी है। थावरचंद गेहलोत तब केवल विधायक थे। विधानसभा में एक दिन वह छा गये। उनकी सीधी भिड़ंत अपने ही जैसे तीखे मिजाज वाले उप मुख्यमंत्री सुभाष यादव से हो गई। यादव ने गरजते हुए कहा, 'सहकारिता...

अंधों का हाथी हो गई है खेती-बाड़ी

अंधों का हाथी हो गई है खेती-बाड़ी

अपने देश की एक पुरानी बोधकथा है कि कुछ अंधों को हाथी का वर्णन करना था.सबने अपने अपने हाथ में आये उसके अंगों को ही पूरा हाथी समझकर अपना अंतिम निर्णय दे दिया. समझ की इस दर्दनाक कमी...

आचार संहिता की रात

आचार संहिता की रात

मीडियावाला.इन।  आचार संहिता लागू हो गई है। नेताजी कमरे में बैठे हैं। जैसे मौत के पहले जिंदगी की कहानी आंखों मैं तैरने लगती है। नेताजी को भी पांच साल का किया-धरा याद आ रहा है। कुछ खास सहयोगियों...

‘मी टू’ या ‘यू टू’: स्त्री-पुरूष में नैसर्गिक विश्वास टूट  न हो जाए...

‘मी टू’ या ‘यू टू’: स्त्री-पुरूष में नैसर्गिक विश्वास टूट  न हो जाए...

अनचाहा संयोग है कि जब दुनिया भर  में महिलाअों के यौन प्रताड़ना के वैश्विक ‘हैशटैग मी टू कैम्पेन’ की बरसी इसी माह मनने वाली हो, उसी मौके पर भारत में बाॅलीवुड में अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा जाने माने...

जनता ने सबको मौका दिया मगर जनता को आगे बढ़ने का मौका किसी ने नहीं दिया

जनता ने सबको मौका दिया मगर जनता को आगे बढ़ने का मौका किसी ने नहीं दिया

2009 में यूपीए टू के आने से पहले की बात है। राहुल गांधी उत्तराखंड के दौरे पर थे। स्टूडेंटों के बीच। आरक्षण का सवाल उन दिनों भी बहुत गर्म था। छात्रों में नाराजगी भी थी और कई सवाल...

अब आदर्श आचार विचार का मामला है

अब आदर्श आचार विचार का मामला है

अभी तक जो हुआ सो हुआ। सरकार को जो करना था सो किया। पर अब टाइम ओवर हो गया। उम्मीद तो बहुत थी कि 12 अक्टूबर तक का समय मिल जाएगा तो जितने हाथ पाँव मारने हैं मार...

भारत-रुसः दाल में काला नहीं

भारत-रुसः दाल में काला नहीं

रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ एस-400 प्रक्षेपास्त्र की खरीद का समझौता हुआ। ट्रायंफ नामक इस मिसाइल के पांच स्क्वेड्रन 40 हजार करोड़ रु. में आएंगे लेकिन आश्चर्य है कि 60 हजार करोड़ के रेफल विमानों की तरह...

लोकमाता की साड़ी देखने आए थे मोटा भाई ! 

लोकमाता की साड़ी देखने आए थे मोटा भाई ! 

मीडियावाला.इन। पैदल तो चले नहीं, खुली जीप में भी आधा ही महाजनसंपर्क किया और कार से निकल लिए बाकी किसी की समझ में आए ना आए अपनी तो समझ में आ गया है कि मोटा भाई...

हाथी की ढाई घर चाल का मतलब समझिए

हाथी की ढाई घर चाल का मतलब समझिए

शतरंज की बिसात पर हाथी जब घोड़े जैसे ढाईघर चाल चलने लगे तो समझ जाइए खेल का अंजाम क्या होगा? बहन मायावती का मध्यप्रदेश में बसपा का काँग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने, इसका ठीकरा दिग्विजय सिंह पर फोड़ने...

तेल के दामः दाल पतली

तेल के दामः दाल पतली

सरकार ने पहले अनाज के दाम बढ़ाकर किसानों को राहत दी और अब पेट्रोल और डीजल के दाम घटाकर आम आदमी के गुस्से को ठंडा किया। ये दोनों काम तारीफ के लायक हैं। उचित समय पर किए गए...

कार्तिकेय की पत्तल में लड्डू देखना चाहते हैं पंगत में बैठे मंत्री-सांसद-विधायक 

कार्तिकेय की पत्तल में लड्डू देखना चाहते हैं पंगत में बैठे मंत्री-सांसद-विधायक 

इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा के वो सारे विधायक-सांसद जो अपने पुत्र, बहू या अन्य किसी पारिवारिक सदस्य को टिकट दिलाना चाहते हैं ये सब मुख्यमंत्री पुत्र कार्तिकेय को टिकटोद्धारक की नजर से देख रहे हैं।...

माना कि मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन प्रेम पत्र नहीं है, फिर भी...!

माना कि मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन प्रेम पत्र नहीं है, फिर भी...!

मीडियावाला.इन। मामला डाॅक्टरों द्वारा गलत इलाज का नहीं, बल्कि इलाज के सही नुस्खे की अबूझ लिखावट का है। हाल में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने इलाज की पर्ची में खराब और अपठनीय हैंडराइटिंग के तीन अलग...

गांधीमुक्त कांग्रेस की नौटंकी

गांधीमुक्त कांग्रेस की नौटंकी

गांधी जयंति पर वर्धा में कांग्रेस ने खूब नौटंकी रचाई। सोनिया-राहुल अपने नाम के पीछे गांधी उपनाम जरुर लगाते हैं लेकिन उनका महात्मा गांधी से क्या लेना-देना है ? इनका उपनाम गांधी है, फिरोज गांधी की वजह से...

क्यों दम तोड़ रहे हैं गुजरात के शेर !

क्यों दम तोड़ रहे हैं गुजरात के शेर !

ये चिंताजनक खबर किसी ‘राजनीतिक जंगल’ की नहीं, बल्कि गुजरात के मशहूर गिर अभयारण्य के शेरो से जुड़ी है। 2015 तक जिन शेरों की बढ़ती तादाद और हलचल से गुजरात सहित सारे देश में खुशी और गर्व का...

सुई धागा , मेड इन इण्डिया 

सुई धागा , मेड इन इण्डिया 

काम नहीं है वरना यहाँ आपकी दुआ से सब ठीक ठाक है” गुलज़ार का लिखा मेरे अपने फ़िल्म का ये गीत तो आप सब को याद ही होगा | दरअसल हिंदुस्तानी आदमी से जब भी पूछो “ क्या हाल...

इस बार कुछ अलग ही मूड में है,मालवा निमाड़ की राजनीति

इस बार कुछ अलग ही मूड में है,मालवा निमाड़ की राजनीति

मीडियावाला.इन।  मालवा-निमाड़ का राजनीतिक मूड मध्यप्रदेश राजनीति का संकेत देता है। ये वो इलाका है, जहाँ के बारे में कहा जाता है कि जो भी पार्टी यहाँ आगे रहती है, वही प्रदेश में सरकार बनाती है। ये इलाका...