कॉलम / नजरिया

अंधे युग की आहट है नफरत की सियासत

अंधे युग की आहट है नफरत की सियासत

मीडियावाला.इन।  देश के लिए ये बहुत गहरे अंधरे की शुरुआत है, जिसका अंतिम छोर अनदेखा है। आजादी के बाद कभी इतने बड़े प्रतिमान दांव पर नहीं रहे। शहरी नक्सली जैसे शब्द की रोशनी में प्रधानमंत्री की हत्या की...

दलितों में ‘दलित’ कहलाने की छटपटाहट इसलिए है भाई !

दलितों में ‘दलित’ कहलाने की छटपटाहट इसलिए है भाई !

मीडियावाला.इन। दलित शब्द और दलित वोट लगता है मोदी सरकार के गले की हड्डी बनता जा रहा है। स्वयं मोदी और राज्यों में भाजपा की सरकारें जितना ज्यादा दलित प्रेम दिखा रही हैं, पांसे उतने ही उलटे पड़ते दिख...

सोशल मीडिया ही तय करेगा, इस बार चुनाव नतीजे

सोशल मीडिया ही तय करेगा, इस बार चुनाव नतीजे

सोशल मीडिया ने राजनीतिक पार्टियों और नेताओं की परंपरागत पहचान और लोकप्रियता को पूरी तरह बदल दिया। हैशटैग-वॉर राजनीति का नया अखाड़ा बन गया। नेताओं और लोगों के बीच संचार में सोशल मीडिया असरदार माध्यम बन गया! इससे...

सेना के अधिकारियों और सैनिकों की सर्वोच्च न्यायालय में याचिका : रक्षा मंत्रालय के लिए बड़ी चुनौती

सेना के अधिकारियों और सैनिकों की सर्वोच्च न्यायालय में याचिका : रक्षा मंत्रालय के लिए बड़ी चुनौती

सेना के लगभग 700 सेवारत अधिकारियों और सैनिकों ने सर्वोच्च न्यायालय में AFSPA के अंतर्गत दिए गए अधिकारों की रक्षा के लिए याचिका दी है. अपने आप में ये पहला ऐसा मौक़ा है जब कि इतनी बड़ी संख्या में...

स्त्री - फिल्म समीक्षा

स्त्री - फिल्म समीक्षा

आम तौर पर डरावनी फिल्में जिनमे भूत प्रेत मनोरंजन का विषय हों, मुझे देखना पसंद नहीं है, पर स्त्री मैंने दो कारणों से देखी। एक तो राजकुमार राव और दूसरा चन्देरी जो ना केवल अपनी रेशमी साड़ियों के लिए...

फेंकिए.. इस ओढी हुई गुलामी को

फेंकिए.. इस ओढी हुई गुलामी को

मीडियावाला.इन।  एक मित्र ने सवाल उठाया--जब फोर्ब्स और ट्रान्सपेरेसी इन्टरनेशनल आपको दुनियाभर में भ्रष्टतम बताती हैं तो आपको बुरा लगता है लेकिन ऐसी ही एजेन्सियां जब उपलब्धियों का बखान करती हैं तो आप न सिर्फ मुदित होते हैं...

परिवारों की नई चुनौतियों से निपट सकेगी बीएचयू ट्रेंड ‘आदर्श बहू’

परिवारों की नई चुनौतियों से निपट सकेगी बीएचयू ट्रेंड ‘आदर्श बहू’

मीडियावाला.इन। इसे वक्त की जरूरत कहें या बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ( बीएचयू) की अभिनव पहल कि विवि के आईआईटी विभाग ने भारतीय परिवारों में लड़कियों को आदर्श बहू बनाने के उद्देश्य से तीन माह का कोर्स शुरू करने...

अदालत की फटकार पर जागी सरकार,ई-नशे पर लगाई रोक

अदालत की फटकार पर जागी सरकार,ई-नशे पर लगाई रोक

मीडियावाला.इन। सिगरेट सरीखी धूम्रपान की अत्याधुनिक तरीकों पर रोक लगाने के लिए अदालत ने फटकार लगाई तो केंन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रोक लगाई। सवाल यह है कि देश भर में इस पर अमल हो और सख्त कार्रवााई भी...

अब तो जानलेवा हो गए ये लालसा,स्वार्थ और असंयम

अब तो जानलेवा हो गए ये लालसा,स्वार्थ और असंयम

मीडियावाला.इन। ज्ञात मानव इतिहास में,कुछ वाक्य तो ऐसे कहे या लिखे गए हैं कि वे कभी भी  संदर्भहीन नहीं होंगे.क़यामत तक ये एक समान अर्थवान और नित्य-नए सन्दर्भों में उपयुक्त ही बने रहेंगे.इन्हीं कई सर्वकालिक वाक्यों में से...

कृष्ण, मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण, मुक्ति संघर्ष के महानायक

मीडियावाला.इन। सावन और भादौं तिथि-त्योहारों के महीने हैं। यह सिलसिला कातिक के डिहठोन(देवउठनी एकादशी) तक चलता है। इन्हीं महीनों में एक महान राष्ट्रीय पर्व पंद्रह अगस्त पड़ता है उसके आगे पीछे या कभी-कभी साथ में ही कृष्णजन्माष्टमी आती है।...

जन्माष्टमी पर गाय और गोरस को लेकर पेटा का घटिया तंज

जन्माष्टमी पर गाय और गोरस को लेकर पेटा का घटिया तंज

जन्माष्टमी के अवसर पर पशु अधिकारों की आवाज उठाने  वाली संस्था ‘पीपुल्स फाॅर द ‍‍एथिकल ट्रीटमेंट आॅफ एनीमल’ ( पेटा) ने जो शरारत भरा ट्वीट किया, उससे न सिर्फ गाय में गहरी आस्था रखने वालों बल्कि उसे दुधारू...

राजनीति को तरुण संदेश, धर्म पर चले राजनीति 

राजनीति को तरुण संदेश, धर्म पर चले राजनीति 

जैन समाज के क्रांतिकारी संत तरुण सागर जी महाराज का समाधि महोत्सव संपन्न हो चुका है। मध्यप्रदेश से तरुण सागर महाराज का गहरा नाता था। वे दमोह जिले में जन्मे थे। तेरह साल की उम्र में दीक्षा लेकर...

अबकी जीतेगी बीजेपी, अबकी जीतेगी कांग्रेस.....

अबकी जीतेगी बीजेपी, अबकी जीतेगी कांग्रेस.....

मीडियावाला.इन। और ये शर्मा जी थे जिन्होंने मिलते ही वो सवाल दाग दिया जिसका जबाव हमें इन दिनों बार बार देना पडता है। तो भाई क्या खबर है कौन जीतेगा इस बार। और इसके लिये हमने भी जबाव तैयार...

राष्ट्रद्रोह को असहमति के साथ मत फेंटिए जनाब!

राष्ट्रद्रोह को असहमति के साथ मत फेंटिए जनाब!

मीडियावाला.इन। डाक्टर राममनोहर लोहिया ने कहा था- जब हम किसी का जिंदाबाद बोलते हैं तो उसका मुर्दाबाद करने का अधिकार स्वमेव मिल जाता है। डाक्टर लोहिया नेहरू युग में असहमति के प्रखर स्वर रहे हैं। स्वस्थ लोकतंत्र में असहमति...

कड़वे प्रवचन वाले तरुण सागरजी का मृत्यु महोत्सव : समय रहते समाज को क्यों नहीं मिली बीमारी की जानकारी

कड़वे प्रवचन वाले तरुण सागरजी का मृत्यु महोत्सव : समय रहते समाज को क्यों नहीं मिली बीमारी की जानकारी

सांसारिक लोग जिस अटल सत्य मौत से आंखें चुराते हैं संत उसी मौत को निर्भय मन से खुशी खुशी आमंत्रित करते हैं ।मुनि तरुणसागरजी ने भी तो यही किया।  जिस तरह उनके बिगड़ते स्वास्थ्य को उनके निकटस्थ...

फेक न्यूज की आड़ में कहीं ‘नेक’ न्यूज का गला भी न दब जाए...!

फेक न्यूज की आड़ में कहीं ‘नेक’ न्यूज का गला भी न दब जाए...!

बहुत से लोग इस बात से खुश हो सकते हैं ‍कि चलो ‍िकसी ने तो वाॅ्टस एप पर नकेल डालने की सोची। कारण वाॅट्स एप उस लड्डू सा हो गया है कि जिसे मोबाइलधारी खाएं तो पछताएं और न...

क्रांतिकारी संत अब आत्मा के डॉक्टरों की देखरेख में समाधिमरण की राह पर

क्रांतिकारी संत अब आत्मा के डॉक्टरों की देखरेख में समाधिमरण की राह पर

क्रांतिकारी मुनि तरुण सागरजी को अस्पताल से शुक्रवार को राधेपुरी स्थित चातुर्मास भवन ले जाया गया है। अब वे आत्मा के डॉक्टरों (जैन संतों) की देखरेख में हैं और सल्लेखना ले ली है। दिल्ली और आसपास जिन भी जैन...

बात जो सीधे दिल से निकली है

बात जो सीधे दिल से निकली है

मध्यप्रदेश के सतना जिले में एक गाँव है चूँद। इलाके में इसे शहीदों के गाँव के तौर पर जाना जाता है।  सोमवंशी राजपूतों के इस गाँव में हर तीसरे घर का कोई न कोई जवान सरहद में मोर्चा लेते...

एक संत की संलेखना

एक संत की संलेखना

सदियों से सुन रहे हैं कि जन्म लेते ही हमारा कदम मृत्यु की ओर बढ़ता है। रोज रात को नींद में हम पूर्वाभ्यास भी करते हैं। बावजूद इसके हर वक्त इसी कोशिश में रहते हैं कि कैसे मृत्यु को...