Tuesday, February 25, 2020

कॉलम / नजरिया

भारत  बेरोजगारी की राजधानी  और 77% जॉब्स असुरक्षित

भारत बेरोजगारी की राजधानी और 77% जॉब्स असुरक्षित

मीडियावाला.इन। डॉ अरविन्द जैन भोपाल  आज बाजार की स्थिति ऐसी हो गयी हैं की व्यापारी रोजगार करते हुए बेरोजगार हैं .कारण विगत दो वर्षों से अधिक समय हो गया जबसे सरकार ने नोट बंदी और जी एस टी के...

कैंसर एक्सप्रेस का अगला स्टेशन मालवा...!

कैंसर एक्सप्रेस का अगला स्टेशन मालवा...!

मीडियावाला.इन। दोपहर करीब 2 बजे मैं अपने खेत पर आम के पेड के नीचे बैठा आसमान में उडते पंछियों की तरफ टकटकी लगाए देख रहा था। स्वच्छंद वातावरण में उडते इन पंछियों की तरह खुद को शहर की...

अब कई बातें देखने लायक होंगी कांग्रेस में

अब कई बातें देखने लायक होंगी कांग्रेस में

अब यह बात देखने लायक होगी। इस तरह की और भी कई बातें होंगी। यह सब होगा मध्यप्रदेश की कांग्रेस में। कि क्या कमलनाथ पूरी तरह मैदान में पसीना बहाते दिखने लगेंगे। कि ज्योतिरादित्य सिंधिया भी दिल्ली दरबार से...

माल्या की टॉयलेट कथा

माल्या की टॉयलेट कथा

आपको पान पराग का वह विज्ञापन तो याद ही होगा, जिसमें शम्मी कपूर लडक़ी देखने के लिए दादा मुनी के घर जाते हैं। रिश्ता तय हो जाता है। तभी वे कहते हैं कि हम एक बात तो आपसे कहना...

सभ्यता और धर्म के नाम पर असभ्यता व अधर्म है 'लिंचिंग'

सभ्यता और धर्म के नाम पर असभ्यता व अधर्म है 'लिंचिंग'

यह वाक्य मेरा नहीं है कि "कालजयी व्यंग्यकार स्व.हरिशंकर परसाई यदि आज जिन्दा होते,तो इसी अगस्त महीने में,वे पिच्यानबे वर्ष के हो जाते.और,हम उनसे पूछते कि हमारी आज की परिस्थितियों पर आप क्या लिखेंगे ? तो उनका सीधा सा...

उनके पेट दर्द को न बनाएं अपने सिर का दर्द

उनके पेट दर्द को न बनाएं अपने सिर का दर्द

विनम्र निवेदन है। सवाल का जवाब देने की बजाय मोमबत्ती उठाकर मत चल पड़िए। सोशल मीडिया पर ज्ञानवाणी शुरू ना करें। इसे किसी नरेंद्र मोदी या आरएसएस से जोड़कर न देखें।  किसी राहुल गांधी, ममता बनर्जी या अन्य विपक्षी से...

रस्सी जल गई ऐंठन नहीं गई, लाल बत्ती चली गई सायरन लग गया

रस्सी जल गई ऐंठन नहीं गई, लाल बत्ती चली गई सायरन लग गया

प्रधानमंत्री मोदी ने देश मे लाल बत्ती का चलन बन्द कर वी आइ पी संस्कृति पर एक जोरदार प्रहार किया था।राष्ट्रपति सहित मूर्द्धन्य संवैधानिक पदाधिकारियों ने अपनी लाल बत्तियाँ गाड़ियों से उतार दी।भारतीय नागरिक समानता की स्वच्छ वायु में...

आखिर एमपी के आईएएस अफसर क्यों नहीं होते दिल्ली में इंपैनल्ड

आखिर एमपी के आईएएस अफसर क्यों नहीं होते दिल्ली में इंपैनल्ड

मीडियावाला.इन। गत सप्ताह भारत सरकार में 89 और 90 बैच के आईएएस अधिकारियों का एडिशनल सेक्रेटरी रैंक में इंपनेलमेंट हुआ। इनमें 90 बैच के एमपी कैडर के 8 अफसरों में से केवल 3 और 89 बैच के 6 अफसरों...

अब किस दुनिया में जिएं प्रेमचंद के झूरी काछी, हीरा-मोती

अब किस दुनिया में जिएं प्रेमचंद के झूरी काछी, हीरा-मोती

आज प्रेमचंद जयंती पर विशेष आज प्रेमचन्द जयंती है। आज के दिन प्रेमचंद बड़ी शिद्दत से याद किए जाते हैं। हमारे यहां एक रिवाज है जिसे न मानना हो उसको पूजना शुरु कर दो।

घातक साबित न हो, कांग्रेस का अति-आत्मविश्वास!

घातक साबित न हो, कांग्रेस का अति-आत्मविश्वास!

मध्यप्रदेश में कांग्रेस इन दिनों अति-आत्मविश्वास से चूर नजर आ रही है। कांग्रेस के नेताओं की भाव-भंगिमाएं, बोल व्यवहार से लगाकर चेहरे के हाव-भाव दर्शा रहे हैं कि सत्ता के दरवाजे उनके लिए खुल गए! चुनाव तो बस उस...

बावरिया जी! बचिए कि दिल्ली बहुत दूर है

बावरिया जी! बचिए कि दिल्ली बहुत दूर है

पता नहीं वह पुलिस अफसर कौन था। लेकिन उसके सामने थर-थर कांपते शख्स का नाम आज भी याद है। गोविंद सिंह राजपूत। उनके कुर्ते पर जितनी सिलवटें पड़ी हुई थीं, उससे ज्यादा बल उनकी पेशानी पर देखे जा सकते...

मायावती की राह में ममता ने फंसाया पेंच

मायावती की राह में ममता ने फंसाया पेंच

राहुल गांधी, मायावती और ममता बनर्जी वो तीन नाम हैं जो 2019 में मोदी के खिलाफ विपक्षी खेमे की ओर से पीएम पद के लिए लिये जा रहे हैं।  इन तीन चेहरों में ही एकता बनती नहीं दिख रही...

पुलिस कैसे यकीन दिलाए कि गुलाब का यह फूल, ‘फुल गेंदवा’ नहीं है...

पुलिस कैसे यकीन दिलाए कि गुलाब का यह फूल, ‘फुल गेंदवा’ नहीं है...

यह देश की पुलिस के मानवीय व्यवहार पर भी भरोसा न कर पाने का असली ट्रैजिक किस्सा है। मामला यूपी की राजधानी लखनऊ का है। वहां ट्रैफिक पुलिस यातायात सुरक्षा सप्ताह के तहत दुपहिया वाहन चालकों को हेलमेट पहनने...

अविश्वास, अहं और कलह के जाल में उलझी कांग्रेस कैसे मुक़ाबला करेगी

अविश्वास, अहं और कलह के जाल में उलझी कांग्रेस कैसे मुक़ाबला करेगी

इंदौर। मध्यप्रदेश में कांग्रेस इन दिनों अविश्वास, अहं और कलह के जिस जाल में उलझी हुई है उससे मुक्ति की राह नहीं खोजी गई तो लगता नहीं कि वह भाजपा को चौथी बार सरकार बनाने से रोकने के...

क्या इमरान ख़ान बदल सकेंगे अपने आपको ? 

क्या इमरान ख़ान बदल सकेंगे अपने आपको ? 

इमरान ख़ान तैयार हैं ।दो दशक से वे इस घड़ी का इंतज़ार कर रहे थे । फ़ौजी समर्थन ने उनकी किस्मत का बन्द दरवाज़ा खोल दिया । जानना दिलचस्प है कि जिस वोट की ताक़त ने उनकी ज़िंदगी...

मैं नर्मदा आज बहुत व्यथित हूं……..

मैं नर्मदा आज बहुत व्यथित हूं……..

इसे आप शोकगीत की तरह पढ़ सकते हैं। मैं नर्मदा हूं। भारत की प्रमुख नदियों में से एक। पुराणों के मुताबिक मुझे प्राचीनकाल से पूजा जाता है। वेदों में मेरे बारे में लिखा गया है- ‘गंगा में सौ बार...

राम नाम के पुनियानी

राम नाम के पुनियानी

कल राम पुनियानी को सुनने का मौका मिला। उनके बारे में बहुत सुना था। यू-ट्यूब पर कुछ लेक्चर भी सुने थे। मगर रूबरू सुनने का यह पहला मौका था। बारिश के बावजूद हर उम्र के लोग उन्हें सुनने...

गिरोहबंदी के खिलाफ गुस्सा तो आएगा ही

गिरोहबंदी के खिलाफ गुस्सा तो आएगा ही

मीडियावाला.इन। कर्नाटक में भाजपा के विधायक बासनगौड़ा पाटिल यतनाल के कथन पर बवाल मचना स्वाभाविक है। नि:संदेह किसी को मंत्री रहते हुए भी यह हक नहीं कि केवल विचारों की अभिव्यक्ति के लिए किसी को गोली मारने का आदेश...

अझेलनीय, असहनीय, क्रूरता भरी फिल्म ‘साहेब, बीवी और गैंगस्टर -3’

अझेलनीय, असहनीय, क्रूरता भरी फिल्म ‘साहेब, बीवी और गैंगस्टर -3’

काश, संजय दत्त अभी जेल में ही होते तो दर्शकों को ऐसी फिल्म नहीं झेलनी पड़ती तिग्मांशु धूलिया को लगता है कि भारत के तमाम पुराने राजा-रजवाड़े कोढ़ हैं। वे अय्याशी, षड्यंत्र, छल-कपट के अलावा कुछ कर ही...

सफाई से नहीं इंकार फिर भी पानी पूरी से है बे‍इंतिहा प्यार!

सफाई से नहीं इंकार फिर भी पानी पूरी से है बे‍इंतिहा प्यार!

सेहत के लिए ही सही किसी शहर में हर दिल अजीज पानी पुरी पर प्रतिबंध लगा दिया जाए तो पानी पुरी प्रेमियों के लिए इससे बुरी खबर शायद कोई हो नहीं सकती। क्योंकि पानी पूरी का मतलब ही...