कॉलम / नजरिया

क्या टिकटार्थी का आपराधिक रिकाॅर्ड जानना जरूरी नहीं ?

क्या टिकटार्थी का आपराधिक रिकाॅर्ड जानना जरूरी नहीं ?

चुनावी स्वच्छता से जुड़े एक  गंभीर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला अभी सुरक्षित रखा है, लेकिन जो मुददा उठा है, उस पर सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी का ‍काबिले गौर है। चूंकि यह जन प्रतिनिधियों के खिलाफ...

कड़वे प्रवचन वाले मुनि तरुण सागर जी, चल पड़े मृत्यु को महोत्सव बनाने की राह पर

कड़वे प्रवचन वाले मुनि तरुण सागर जी, चल पड़े मृत्यु को महोत्सव बनाने की राह पर

मीडियावाला.इन। चल पड़े मृत्यु को महोत्सव बनाने की राह पर ‘मुझे गुप्तिसागरजी के पास ले चलें, वही मेरा आगे का जीवन देखें, समाधि आदि दें’ इंदौर सहित देश का दिगंबर जैन समाज क्रांतिकारी संत तरुण सागर...

सरकार को छोटे कारोबारियों की चिंता नहीं, बड़े उद्योगपति उठा रहे सारा फायदा

सरकार को छोटे कारोबारियों की चिंता नहीं, बड़े उद्योगपति उठा रहे सारा फायदा

मीडियावाला.इन। भारत में असमान कारोबारी माहौल और नीतिगत कुंठा अब राष्ट्रीय चिंता का सबब बन चुका है। इन विषयों पर व्यवस्था की रणनीतिक लापरवाही धीरे-धीरे उजागर हो रही है। लेकिन इससे उत्पन्न विषम और भेदभावपूर्ण परिस्थिति की नैतिक...

क्योंकि ध्यानचंद हाँकी के भगवान नहीं बने

क्योंकि ध्यानचंद हाँकी के भगवान नहीं बने

भारतीय इतिहास में दो महापुरुष ऐसे भी हैं जो भारतरत्नों से कई, कई, कई गुना ज्यादा सम्मानित और लोकमानस में आराध्य हैं। प्रथम हैं नेताजी सुभाषचंद्र बोस और दूसरे मेजर ध्यानचंद।  सुभाष बाबू आजादी के...

सियासी कान और विचारों का मुरब्बा

सियासी कान और विचारों का मुरब्बा

एक दुकान में तरह-तरह के कान बिक रहे थे। सबका आकार-प्रकार और रंग तो लगभग एक जैसा था, लेकिन गुण सबके अलग-अलग थे। ऑफ सीजन था इसलिए डिस्काउंट भी अच्छा खासा था। कुछ कानों के साथ स्पेशल ऑफर भी...

निवेशको के हित में बिहार सरकार ने सक्रियता दिखाई तो डरा दिया सहारा इंडिया ने

निवेशको के हित में बिहार सरकार ने सक्रियता दिखाई तो डरा दिया सहारा इंडिया ने

सहारा इंडिया में यूं तो देश भर से निवेशकों ने पैसा लगा रखा है और सब को उच्चतम न्यायालय से ही उम्मीद है क्योंकि राज्य सरकारें  इस कथित धोखाधड़ी से आंखें मूंदे हुए हैं, एक अच्छा बहाना यह भी...

बतखें पालने और सांपो को नाथने ऐसे टोटके क्यों ?

बतखें पालने और सांपो को नाथने ऐसे टोटके क्यों ?

फिर वही सवाल कि देश आगे जा रहा है या पीछे? दो ताजा खबरें और बयान इ‍‍सलिए बेचैन करने वाले हैं कि आखिर इनके पीछे असली मकसद क्या है? केवल अतीत पर आंख मूंद कर भरोसा करना या...

सियासी रंगमंच पर अमर-आजम प्रहसन‍ फिर शुरू...!

सियासी रंगमंच पर अमर-आजम प्रहसन‍ फिर शुरू...!

‍देश के सियासी रंगमंच पर रा‍जनीतिक विदूषकों की कमी को नए सिरे से छिड़े अमर आजम संवाद ने फिर पूरा कर दिया है। पिछले कुछ दिनों से अमरसिंह और आजम खान कुछ चुप-चुप से थे। लगता था मानो...

दो जज, दो फैसले

दो जज, दो फैसले

मध्यप्रदेश की दो महिला जज पिछले हफ्ते अपने दो तेज रफ्तार फैसलों के कारण चर्चा में आईं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में भी इनका जिक्र किया। ये हैं 2003 बैच की निशा गुप्ता, जो मंदसौर...

अब कैसे कहेंगे शो मस्ट गो ऑन

अब कैसे कहेंगे शो मस्ट गो ऑन

मीडियावाला.इन।  पीढिय़ों के बीच न जाने ये कैसा अंतरद्वंद्व है, जो खत्म होने का नाम नहीं लेता। पुरखों से बड़ी लकीर खींचने की जद्दोजहद पता नहीं कब तक हमें अपनी विरासतों से महरूम करती रहेगी। कोई वजह नजर नहीं...

किस अखाड़े गढ़ी जा रही, भाजपा की अगली पीढ़ी! 

किस अखाड़े गढ़ी जा रही, भाजपा की अगली पीढ़ी! 

भोपाल में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि अगले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भाजपा वंशवाद के आधार पर नहीं, बल्कि योग्यता के आधार पर उम्मीदवारों का...

नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया मैनेजर्स का जवाब नहीं!

नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया मैनेजर्स का जवाब नहीं!

रक्षाबंधन के दिन मोदीजी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 55 विशिष्ट महिलाओं को फॉलो करना शुरू कर दिया। इनमें बैडमिंटन खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा, टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा, एथलीट पीटी ऊषा, बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ. स्वरूप सम्पत (परेश रावल...

'नयी दुनिया'के लिए 'अंधी-गुफा'है भ्रष्टाचार 

'नयी दुनिया'के लिए 'अंधी-गुफा'है भ्रष्टाचार 

गरीबी और असमानता के बिना,इस सदी की नयी दुनिया कैसी होगी ? यह सपना वर्ष 2000 की समाप्ति पर संयुक्त राष्ट्र संघ में बैठकर उसके सभी सदस्य देशों ने पूरी सहमति से देखा था.उसके लिए गरीबी,भुखमरी,कुपोषण,असमानता,अज्ञान,अशिक्षा...

दंगा हुआ भी था या नहीं

दंगा हुआ भी था या नहीं

एक भीड़ है जो सडक़ों पर तांडव कर रही है। चुन-चुनकर घर जला रही है। सिर पर पगड़ी देखते ही पीछे दौड़ रही है। उन्हें जिंदगी की कैद से आजाद कर रही है। दुकानों में घुसकर तोडफ़ोड़ मचा...

राजनीति  और  विवाद

राजनीति और विवाद

अभी हाल की कुछ गतिविधियाँ प्रचलित फ़ैशन के अनुसार राष्ट्रीय विवाद बन गई हैं। किसी भी बात को अचानक मुख्य मीडिया और उसका चंचल भाई सोशल मीडिया विवाद बना देने की क्षमता रखते हैं। केरल बाढ़ के लिये...

कमल शक्ति, महिला शक्ति, वोट शक्ति

कमल शक्ति, महिला शक्ति, वोट शक्ति

भोपाल के सीएम हाउस के अंदर गेट के पास ही हमेशा लगा रहने वाला पंडाल उस दिन खास तौर पर महिलाओं के लिये ही सजा था। पांच संभागों से आयीं सैकडों महिलायें मंच के सामने कुर्सियों पर डटकर...

अटलजी और गठबंधन धर्म, लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

अटलजी और गठबंधन धर्म, लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

भारतीय लोकतंत्र में गठबंधन की राजनीति की विवशता को गठबंधन धर्म विशेषता में बदलने का जो युगांतरकारी काम अटल बिहारी वाजपेयी ने किया है वह संसदीय इतिहास में एक स्वर्णिम अध्याय के रूप में स्मरण किया जाएगा। आजादी के...

ऐसे युवाओं का दिल जीता अटल जी ने

ऐसे युवाओं का दिल जीता अटल जी ने

अटल जी द्वारा बोली गई शेर की ये पंक्तियां ''देर से आया हूं, मगर दूर से आया हूँ, गुनाहगार हूँ, मगर माफी का तलबगार  हूँ '' होल्कर विज्ञान महाविद्यालय, इंदौर के पूर्व छात्रों के स्मृति पटल पर आज भी...

विधायक की गाड़ी और महाभारत

विधायक की गाड़ी और महाभारत

जी। लाल पीली हरी बत्तियाँ जो हर चौराहे पर खड़ी आम आदमी (औरत, लड़के, लड़की सब भाई) को मुँह चिढ़ाती हैं, वो विधायक की गाड़ी (यानि उनके ड्राइवर, जो कि स्वयं एक आम आदमी है) के लिए कोई...