कॉलम / नजरिया

भारत-पाक रिश्ते और अटलजी

भारत-पाक रिश्ते और अटलजी

वक्त के स्लेट की इबारत को समझिए अटलबिहारी वाजपेयी के निधन पर आश्चर्यजनक तौर पर जो सबसे मार्मिक प्रतिक्रिया आई वह पाकिस्तान से थी। वहां के प्रायः सभी अखबारों में भारत पाकिस्तान के बीच शांति के प्रयासों के...

जब अटलजी ने इंदौर प्रेस क्लब में खूब हंसी-ठट्टा किया

जब अटलजी ने इंदौर प्रेस क्लब में खूब हंसी-ठट्टा किया

मीडियावाला.इन। यह वो दौर था , जब अटल बिहारी वाजपेई नाम की शख्सियत पूरे देश में प्रमुख विपक्षी नेता , ओजस्वी वक्ता  , वाक  पटु व्यक्ति के तौर पर विख्यात थे।  देश के  प्रमुख विपक्षी राजनितिक दल भारतीय...

‘आत्म प्रवंचित बौने के दरबार’ किस राजनीतिक दल में नहीं हैं?

‘आत्म प्रवंचित बौने के दरबार’ किस राजनीतिक दल में नहीं हैं?

आम आदमी पार्टी में जारी भीतरी घमासान के फलस्वरूप चल रहे इस्तीफों के ताजा दौर के बाद ‘आप’ नेता और कवि कुमार विश्वास ने अपने अंदाज में पार्टी के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लेकर एक सटीक...

फिल्म समीक्षा: हैप्पी फिर भाग जाएगी, बेचारी हैप्पी कित्ती बार भागेगी?

फिल्म समीक्षा: हैप्पी फिर भाग जाएगी, बेचारी हैप्पी कित्ती बार भागेगी?

हैप्पी 2016 में भागी थी। दो साल बाद फिर भाग गई। पहली बार भागी, तो दर्शक उतना अनहैप्पी नहीं हुए, जितना अब हो गए। पिछली बार वह भागकर गलती से पाकिस्तान पहुंच गई थी। इस बार बाप को मुंबई...

बाबाओं के मकड़जाल में

बाबाओं के मकड़जाल में

मेरे एक मित्र हैं ज्योतिष के पंडित। ज्योतिष की पंडिताई कालेज में पढ़ी, पीएचडी की और वहीं कालेज में पढ़ाने लगे। इसे धंधा नहीं बनाया। मैंने सुझाया..प्रभू कालेज छोड़ो धंधे में निकलो, देखो सड़कछापों का महीने का टर्नओवर लाखों...

हंसी ठट्ठे में हवा होती अटल आस्था

हंसी ठट्ठे में हवा होती अटल आस्था

मीडियावाला.इन। घर का बुजुर्ग, बाप मरा हो तब भी दाग के तीसरे दिन उठावने के बाद परिजन शोक भुलाने की कोशिश करते हुए रोजमर्रा के जीवन वाली राह पर चल पड़ते हैं।फिर ये तो अटलजी थे, रहे होंगे...

एक चश्मदीद का जाना

एक चश्मदीद का जाना

मीडियावाला.इन। वक्त की चादर पर रोज नई सिलवटें होती हैं। अधिकतर उसे देखते हैं, महसूस भी करते हैं, लेकिन अक्सर मौके पर अभिव्यक्त करने से चूक जाते हैं। कई साहस जुटाते भी हैं तो बेबाकी के मोर्चे पर...

कितनी झिलमिलाएगी बहनजी की ये ‘राजनीतिक राखी’?

कितनी झिलमिलाएगी बहनजी की ये ‘राजनीतिक राखी’?

बसपा सुप्रीमो बहन मायावती जन्म दिन के अलावा एक  त्यौहार उत्साह से मनाती हैं और वह है रक्षा बंधन। उनका यह रक्षा बंधन वास्तव में राजनीतिक रक्षाबंधन होता है। इस बार यह सौभाग्य इंडियन नेशनल लोक दल (...

जय हिंद से ऐसी क्या नाराजगी

जय हिंद से ऐसी क्या नाराजगी

हजरत बल दरगाह में ईद की नमाज पढऩे गए जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्लाह के साथ बदसलूकी की गई। धक्कामुक्की हुई, उनकी तरफ जूते उछाले गए। इबादत से रोकने की कोशिश की गई। गो बैक के...

'गुलाबी गाल और लाल खून' वाली अर्थव्यवस्था हमारी तो नहीं हैं

'गुलाबी गाल और लाल खून' वाली अर्थव्यवस्था हमारी तो नहीं हैं

वर्ष 2000 में जब दूसरी सहस्त्राब्दि समाप्त होकर,तीसरी सहस्त्राब्दि शुरू हुई थी,तब संयुक्त राष्ट्र संघ में 189 देशों ने एक मसौदे पर बाक़ायदा दस्तखत कर 'सहस्त्राब्दि विकास लक्ष्य' निर्धारित किये थे,व इन्हें अपने सभी कामों में सर्वोच्च प्राथमिकता...

मोदी से आगे निकलना चाहते हैं इमरान! 

मोदी से आगे निकलना चाहते हैं इमरान! 

हमारे नरेंद्र मोदी ने संसद में प्रवेश करने से पहले जिस तरह संसद भवन की चौखट पर प्रणाम किया था, सारे देश का सीना उस पल छप्पन इंच सा हो गया था।भावुकता के वो पल थे ही ऐसे...

दादी-पोती के मार्मिक मिलन की उस तस्वीर में छिपे कड़वे सच...

दादी-पोती के मार्मिक मिलन की उस तस्वीर में छिपे कड़वे सच...

हाल में जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, वह ‍किसी बाॅलीवुड फिल्म के मेलोड्रामा जैसी थी। तस्वीर में एक बूढ़ी दादी और उसकी किशोर पोती आपस में मिलकर रो रहे थे। मानो दो बिछड़े बरसों बाद मिले...

​​​​​​​पूर्व सैनिक के विरुद्ध अनुसूचित जाति /जनजाति अधिनियम का गलत प्रयोग : CCTV फुटेज ने किया सच का पर्दाफाश

​​​​​​​पूर्व सैनिक के विरुद्ध अनुसूचित जाति /जनजाति अधिनियम का गलत प्रयोग : CCTV फुटेज ने किया सच का पर्दाफाश

76 वर्षीय कर्नल वीरेंद्र प्रताप सिंह चौहान (सेवा निवृत्त) नॉएडा के सेक्टर 29 के निवासी हैं और न केवल एक सम्मानित नागरिक हैं बल्कि एक दशक से भी अधिक से समाज कल्याण और युवाओं के मार्गदर्शन का काम...

आस्था और फंतासी के बीच ओरछा

आस्था और फंतासी के बीच ओरछा

हाल ही ओरछा से लौटा। दिल-ओ-दिमाग में रामराजा के मंदिर व जहांगीर महल की ताजा छवियों को लिए हुए। नव घोषित झाँसी से राँची राष्ट्रीय राजमार्ग से। यह राजमार्ग अपने लिए भावनात्मक इसलिए भी क्योंकि इतिहास के कूड़ेदान...

चश्मे से बाढ़

चश्मे से बाढ़

एक राज्य में बाढ़ आ गई। शुरुआती समाचार आया कि अतिवृष्टि की स्थिति है। घर, खेत, गांव डूब रहे हैं। लोग छतों पर चढ़े हैं, दाना-पानी बह गया। मवेशी गुजर गए। चीख-पुकार मची हुई है। देवभूमि पर सब एक-एक...

प्राग जाने से पहले: यात्रा संस्मरण

प्राग जाने से पहले: यात्रा संस्मरण

मीडियावाला.इन।  चेकोस्लोवाकिया की यात्रा पर जाने से पहले मैंने यादों के कोनों को खंगालकर पुरानी बातों को बाहर निकाला । ऐसा मैं प्रायः करता हूँ । उस स्थान के बारे में...

नीयत साफ न हुई तो ‘फेक न्यूज’ के सांप आस्तीन से निकलते रहेंगे... 

नीयत साफ न हुई तो ‘फेक न्यूज’ के सांप आस्तीन से निकलते रहेंगे... 

फेक न्यूज का मामला भी कुछ ‘गुड़ खाएं पर गुलगुलों से परहेज’ जैसा है। फेक न्यूज कोई नहीं चाहता, लेकिन कोई इसे सख्ती से रोकना भी नहीं चाहता। फेक न्यूज ( फर्जी खबर) की दुनिया में भी सबसे...

विधानसभा चुनाव नहीं, ये भाजपा की अग्नि परीक्षा होगी!

विधानसभा चुनाव नहीं, ये भाजपा की अग्नि परीक्षा होगी!

इस बार का विधानसभा चुनाव कई मामलों में पिछले तीन चुनाव से अलग होगा! सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा भारतीय जनता पार्टी के लिए होगी, जिसे मतदाताओं के सामने साबित करना होगा कि उसकी सरकार हर मोर्चे पर खरी उतरी...

केरल के जल प्रलय में तैरती इंसानियत को सलाम!

केरल के जल प्रलय में तैरती इंसानियत को सलाम!

क्या विडंबना है कि ‘देवताअों की अपनी भूमि’ ही ईश्वर निर्मित पंचमहाभूतों में से एक  जल के तांडव से कराह रही है। जब इस हरे-भरे केरल राज्य में अोणम की तैयारियां जारी थीं, ठीक उसके पहले जल प्रलय...