कॉलम / नजरिया

अब भगवान ही खेती की रक्षा करके दिखा दें

अब भगवान ही खेती की रक्षा करके दिखा दें

मीडियावाला.इन। हम लोग जब किसी भी देव की पूजा करते हैं, तब पहले या आखिर में उस देवता से यह जरूर कहते हैं कि "मैं मन्त्र नहीं जानता, न ही यन्त्र, और स्तुति का तो मुझे बिलकुल...

शाह और सलवार योग

शाह और सलवार योग

मीडियावाला.इन। दिल्ली का एक फॉर्म हाउस, जिसे अब आश्रम कहा जाता है, वहां दो महानुभावों की मुलाकात हुई। कैमरे के फ्लश लाइट की चमक-दमक में दोनों ने एक-दूसरे को देखा और मुस्कराए। संपर्क फॉर समर्थन...

प्रोफेसर संजीव का ‘शादी डांस’ और मध्यप्रदेश का पानी...

प्रोफेसर संजीव का ‘शादी डांस’ और मध्यप्रदेश का पानी...

मीडियावाला.इन। शादी में दिल से किया गया एक डांस भी आपको वैश्विक शोहरत कैसे  दिलवा सकता है, यह ‘डांसिंग अंकल’ के नाम से मशहूर हुए संजीव श्रीवास्तव के डांस से साबित हुआ। यह भी सिद्ध हुआ कि...

'बोल्डनेस' के नाम पर यह सब क्यों झेलें हम? आपको ही मुबारक यह घटियापन! 

'बोल्डनेस' के नाम पर यह सब क्यों झेलें हम? आपको ही मुबारक यह घटियापन! 

क्या हो गया है हमारे फिल्मकारों को? बोल्डनेस के नाम पर क्या परोस रहे हैं वे? कुछ फिल्म समीक्षकों को वे भले ही पट्टी पढ़ाकर अपनी वाहियात फिल्म के लिए ढेर सारे  स्टार बटोर लेते हो, लेकिन मुझे लगता है...

कश्मीर में पत्थरबाजी : एक छद्म युद्ध - एन.के. त्रिपाठी

कश्मीर में पत्थरबाजी : एक छद्म युद्ध - एन.के. त्रिपाठी

मीडियावाला.इन।  प्रदेश के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी एन. के. त्रिपाठी, 2009-10 में जम्मू-कश्मीर में सी.आर.पी.एफ. में स्पेशल डी.जी. के रूप में पदस्थ रहे। आपने उस दौरान पत्थरबाजी और आतंकवाद के संदर्भ में सबसे कठिन समय को रूबरू...

शिवराजसिंह का सच्चाई से साक्षात्कार हुआ या नहीं?

शिवराजसिंह का सच्चाई से साक्षात्कार हुआ या नहीं?

मीडियावाला.इन। कोई सरकार अपने कार्यकाल में किसी तबके के लिए क्या- क्या कर सकती है, यह देखना हो तो मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार की समीक्षा जरुरी है। शिवराज ने पहली बार शपथ ली थी तभी...

लाख छावनी बना दो, डाकन ने घर देख लिया है - मंदसौर किसान आंदोलन

लाख छावनी बना दो, डाकन ने घर देख लिया है - मंदसौर किसान आंदोलन

मीडियावाला.इन।  देश और प्रदेश के सूचना माध्यमों से खबर मिल रही है कि मंदसौर का किसान आंदोलन असफल हो गया है। आंदोलन की सफलता या असफलता का आंकलन करना राजनैतिक दृष्टिकोण  है। लेकिन हाँ,मंदसौर-नीमच का आम आदमी,...

राष्ट्रीय मुंह बंद करो अभियान

राष्ट्रीय मुंह बंद करो अभियान

मीडियावाला.इन। चार वर्ष के जश्न में सवाल बड़ी खलल मचा रहे हैं। ये कोई तरीका नहीं हुआ कि कोई आपके बीच उत्सव मनाने आए और आप उसकी पीठ पर सवालों का चाबूक चला दो। अब...

प्रणब मुखर्जी ने मंदिर वहीं बनाया

प्रणब मुखर्जी ने मंदिर वहीं बनाया

मीडियावाला.इन। क्या आपको पता है कि प्रणब मुखर्जी ने एक ऐसे प्राचीन जीर्णशीर्ण मंदिर का पुनर्निर्माण कराया था, जिसकी तुलना बीरभूम और बोलपुर के इलाके के लोग सरदार वल्लभ भाई पटेल के साेमनाथ मंदिर निर्माण से करते हैं। प्रणब...

राइट क्लिक वालमार्ट डील

राइट क्लिक वालमार्ट डील

मीडियावाला.इन। कौन बदलेगा? आयोग की नी‍ति या मंच की स्वदेशी की परिभाषा...  मोदी सरकार द्वारा गठित नीति आयोग ने हाल में आरएसएस के अनुषांगिक संगठन स्वदेशी जागरण मंच को अपनी स्वदेशी की...

फिर भी ईवीएम पर अविश्वास की ‘लू’ तो उतारनी ही होगी !

फिर भी ईवीएम पर अविश्वास की ‘लू’ तो उतारनी ही होगी !

मीडियावाला.इन। अगर ईवीएम को ‘लू’ लग जाए तो चुनावी नतीजा क्या होता है, इसे देश के 9 राज्यों में चार लोकसभा और 10 विधानसभा उपचुनावों के नतीजों से समझा जा सकता है। बीजेपी के लिए इन उपचुनावों...

रीवा आई थी राजकपूर की बारात

रीवा आई थी राजकपूर की बारात

2 जून को राजकपूर जी की पुण्यतिथि होती है। उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने का इससे बढ़िया मुहूर्त और क्या हो सकता है। लगभग बीस करोड़ की लागत से बने इस विश्वस्तरीय ऑडिटोरियम के लोकार्पण समारोह में बालीवुड का प्रतिष्ठित...

नीमच-मंदसौर छावनी जरूर बने हैं, गुस्सा वहीँ का वहीँ है

नीमच-मंदसौर छावनी जरूर बने हैं, गुस्सा वहीँ का वहीँ है

मीडियावाला.इन। परसों (30 मई को) हिंदी पत्रकारिता दिवस था.हिंदी पत्रकारिता पर बढ़ रहे दबावों और उसके कम होते प्रभाव को लेकर विद्वान लोग बड़े चिंतित थे,क्योंकि,उन्हें कुछ बदलाव दिख रहा है.लेकिन,मेरा अपना आज का अनुभव...

उप चुनाव के संकेत

उप चुनाव के संकेत

मीडियावाला.इन। उप चुनावों के नतीजे बीजेपी के लिये ख़तरे की घंटी बजा रहे हैं । यदि कुछ माह पूर्व हुए उप चुनावों के परिप्रेक्ष्य मे इन्हें देखा जाय तो स्थिति बीजेपी के लिये और ख़तरनाक...

देश गन्ने से चलता है

देश गन्ने से चलता है

मीडियावाला.इन। कैराना के परिणामों ने एक बात फिर साबित कर दी कि देश गन्ने से चलता है। जिन्ना के नाम पर अस्थाई तौर पर वैमनस्यता तो फैलाई जा सकती है, लेकिन उससे बड़े धु्रवीकरण का ख्वाब पूरा...

तो अगला चुनावी संग्राम दिलचस्प होगा

तो अगला चुनावी संग्राम दिलचस्प होगा

मीडियावाला.इन। वे आम चुनाव होते हैं, जब राजनीति की लहरें नापी जाती हैं और हवा देखी जाती है। लहर या हवा जब तेज हो, तो जीतने वाला जीतता चला जाता है और हारने वाला कुछ...

'समय के पेट में और पंक्तियों के बीच में' कोई तो पढ़े

'समय के पेट में और पंक्तियों के बीच में' कोई तो पढ़े

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश में पिछले साल इन्हीं दिनों में हुए किसान आंदोलन की बरसी,नए उपद्रवों का कारण न बने इसलिए यहाँ की सरकार बेहद चिंतित है। सरकार सहित सबकी चिंता वाजिब भी है, क्योंकि अब जिनके हाथों में...

कांग्रेस में तीन बार ठगाये गये प्रणब दा

कांग्रेस में तीन बार ठगाये गये प्रणब दा

प्रणब मुखर्जी भले ही प्रधानमंत्री नहीं बने हो, लेकिन उनका सम्मान कभी भी प्रधानमंत्री पद से कम नहीं रहा। बाद में कांग्रेस ने इसकी भरपाई उन्हें राष्ट्रपति बनाकर की।

कांग्रेस को ऊर्जा मिली और शिवराज को संजीवनी

कांग्रेस को ऊर्जा मिली और शिवराज को संजीवनी

मीडियावाला.इन। इसे अभयदान नहीं कह सकते लेकिन राजजीवन का नव संजीवन तो है ये... जी, मैं बात प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह की कर रहा हूँ। उन्हें कर्नाटक चुनाव से संजीवनी मिली लगती है वे आतुर...