Child dies after falling in borewell : सारी कोशिशों के बाद भी प्रियांश को जीवित नहीं निकाला जा सका 

खेत के बोलवेल में 17 फ़ीट में फंसा था मासूम 

1055

Damoh : बोरवेल के गड्ढे में गिरा करीब 5 साल के मासूम प्रियांश को प्रशासन की 6 घंटे की मेहनत के बाद भी बचाया नहीं जा सका। डॉक्टर के मुताबिक, जब उसे निकाला गया उसके दो घंटे पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। 17 फीट की गहराई में फंसे मासूम प्रियांश को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए गए। पुलिस एवं जिला प्रशासन के अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी मौके पर मौजूद रही।

यह घटना दमोह जिले के पटेरा थाना क्षेत्र के बरखेरा बैस की है। सभी ने मिलकर बच्चे को बोरवेल के गड्ढे से बाहर निकालने का काम युद्धस्तर पर जारी किया, पर कोई सार्थक नतीजा नहीं निकला। जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर पटेरा थाना क्षेत्र के ग्राम बरखेड़ा बैस में रविवार दोपहर एक खेत में खुले बोरवेल के गड्ढे में खेलते समय मासूम गिर गया था। मासूम के बोरवेल में गिरने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

इस घटना की जानकारी लगते ही पटेरा थाना पुलिस और जिला प्रशासन स्वास्थ्य विभाग एवं SDRF की टीम मौके पर पहुंची और बोरवेल के गड्ढे से मासूम प्रियांश पिता धर्मेंद्र अठ्या को गड्ढे से बाहर निकालने की कोशिश शुरू की।

हटा SDM अभिषेक सिंह ठाकुर ने बताया है कि प्रियांश खेत में खेलते समय बोरवेल के गड्ढे में गिर गया, जो करीब 16-17 फीट गहराई में फंसा हुआ था। जेसीबी मशीन और पोकलेन मशीन की मदद से बोरवेल के गड्ढे के समानांतर गड्ढा खोदने की कोशिश की गई। साथ ही बोरवेल में फंसे बच्चे को ऑक्सीजन भी दी गई। दूसरी ओर मासूम के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल रहा। सभी प्रियांश के सकुशल बाहर निकालने के लिए प्रार्थना कर रहे थे। लेकिन, दुखद हुआ कि उसे जीवित नहीं निकाला जा सका।