CM ने जनजातीय भाईयों के साथ ठुमके लगाए, उनकी आत्मीयता देखते ही बनी*

753

 

खरगोन: जिले में जनदर्शन के दौरान शिवना में जब मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने जनजातीय भाइयों को अपना पारंपरिक नृत्य करते देखा तो वे खुद को रोक नहीं सके और वे भी उनके साथ थिरकने लगे। मामा शिवराज ने भांजियों के साथ केक काटकर जन्मदिन भी मनाया।

खरगोन जिले में जनदर्शन करने पहुंचे CM शिवराज सिंह के आगमन की जैसे ही जानकारी शिवना ग्राम की शिवना की बेटियों को मिली, उन्होंने आज अपने जन्मदिन पर मामा शिवराज के हाथों से ही केक खाने की जिद की। मामा शिवराज ने तुरंत बेटियों को बुलाया और बेटी कृतिक एवं कनक गिरनार का केक काट खिलाया और आशीर्वाद दिया। उन्होंने कहा कि मामा हैं, तो भला कोई भांजी निराश कैसे हो सकती है।

CM ने कहा कि झिरन्या क्षेत्र के गांवों में उद्वहन सिंचाई योजना के माध्यम से पानी उपलब्ध कराया जाएगा। खंडवा और खरगोन को बिजली का हब बनाया जाएगा। साथ ही झिरन्या को नगर पंचायत का दर्जा दिया जाएगा। CM ने जनकल्याण और सुराज कार्यक्रम के तहत आयोजित कार्यक्रम में यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि गरीब की पढ़ाई, रोज़ी-रोटी और मकान के लिए सरकार फिक्रमंद है। परिवार बड़े हो रहे हैं, ऐसे में हर गरीब और आवासहीनों को मकान के लिए जमीन मुहैया करायी जाएगी। प्रदेश की पूर्व सरकार ने गरीबों के लिए ‘सम्बल योजना’ बंद करके उनके मुँह से निवाला छीन लिया था। अब यह योजना फिर से प्रारंभ कर दी गई है।

CM ने कहा कि सरकार के ख़ज़ानों में गरीबों के लिए राशि की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार माता-बेटी और बहनों को आगे बढ़ाना चाहती है। इसलिए हमने स्थानीय निकायों में महिलाओं का आरक्षण बढ़ा दिया था। उन्होंने कहा कि बहनों के बनाए उत्पाद को बढ़ावा दिया जाएगा। स्व सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार के भरपूर अवसर मुहैया कराए जाएंगे। स्कूलों के यूनिफार्म स्व सहायता समूह की महिलाएं ही बनायेंगी। इसमें कोई ठेकेदार नहीं होगा। अनुसूचित क्षेत्रों में जनजातीय कल्याण के लिए पेसा एक्ट लागू किया जाएगा। दूरदराज के गांवों में राशन के लिए भटकना नहीं पड़ेगा और घरों में जाकर गरीबों को राशन दिया जाएगा। CM ने झिरन्या क्षेत्र में जन प्रतिनिधियों द्वारा रखी गई विभिन्न मांगों को पूरा करने की भी घोषणा की।