2028 तक मोदी का सितारा बुलंद रहेगा

2028 तक मोदी का सितारा बुलंद रहेगा

मीडियावाला.इन।

इस समय मीडिया के एक तबके और विपक्ष द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोपों की बौछार की जा रही है, उनके जनाधार को कमजोर होता बता रहे हैं, उससे मोदी समर्थकों में थोड़ी बैचेनी स्वाभाविक है। मैं यहां ज्योतिषीय आकलन के मद्देनजर ये बताना चाहता हूं कि यह अल्पकालिक दौर जुलाई में कमजोर हो जाएगा। इसके बाद मोदीजी एक बार फिर से ताकतवर, लोकप्रिय बनकर उभरेंगे। उनका चमकदार समय 2028 तक चलने की संभावना है। 

नरेंद्र मोदी की जन्म पत्रिका में  कई ऐसे योग बन रहे हैं जो उन्हें आने वाले समय में और ज्यादा मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर सकती है ।  हां यह निश्चित है चूंकि पत्रिका में विरोधियों का हमेशा प्रभाव रहा है और वह हमेशा उनके ऊपर हावी होते रहे,लेकिन अभी आने वाले समय में खासतौर पर जुलाई के महीने से उनकी जन्मपत्रिका में मंगल ग्रह की महादशा शुरू होने वाली है। मंगल उनकी पत्रिका में इतना प्रभावशाली हैं जो कि उनको अधिनायक या कह सकते हैं कि अपनी शक्तियों का और ज्यादा इस्तेमाल करने की छूट देता है ।जब मंगल की दशा आएगी तब ऐसे कड़े फैसले लेंगे जिस का विरोध बहुत होगा,लेकिन दूरगामी परिणाम उसके बहुत अच्छे दिखाई देंगे। जो अभी तक उनके और भाजपा के घोषणा पत्र में अधूरे वादे हैं उनको पूरा करेंगे। विदेशों में अपनी साख को मजबूत करने, देश को मजबूत करने के लिए कोई ठोस कदम उठाएंगे,जिससे फिर से भारत एक नए मजबूत देश की ओर जा सकता है।

देश के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी जी  की जन्म पत्रिका का  विश्लेषण  करने के बाद यह कह सकता हूं कि प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए एक राजनेता के रूप में बड़ी उपलब्धियां हासिल करेंगे।

वृश्चिक लग्न और वृश्चिक राशि की ही प्रधानमंत्री की पत्रिका है  और 20 जून 2021 से मंगल ग्रह की महादशा प्रारंभ होने वाली है। यह मंगल की दशा उनके जीवन में  खट्टे मीठे अनुभव देंगी। बाधाएं आएंगी,मगर वे उन से बाहर निकल आएंगे। यही समय रहेगा  जब वह  अपने आप को और मजबूत करने की कोशिश करेंगे।  20 जून 2028 को यह महादशा समाप्त हो जाएगी। जिस मंगल ग्रह की दशा लगेगी  वह उनकी राशि का स्वामी होकर  पत्रिका में रूचक योग का निर्माण करता है। यह दशा काल बहुत ही लाभदायक  होगा देश के लिए। विदेश में  देश की प्रतिष्ठा  इस समय और ज्यादा बढ़ सकती है। इसका लाभ प्रधानमंत्री को अपने व्यक्तित्व को, अपनी छवि को और प्रतिष्ठित करने में प्राप्त होगा। इस महादशा के समय सेना,पुलिस ऐसे विभागों में  बहुत ज्यादा एक्टिविटी देखने को मिलेगी। दक्षिण दिशा की यात्राओं से लाभ होगा। वह विदेश यात्रा हो चाहे देश के प्रांतों की यात्रा हो।

मैं अब आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की जन्म पत्रिका में जो विशेष योग हैं, उनके ऊपर कुछ विवेचना करता हूं। पहले मैंने लिखा कि उनकी पत्रिका में रूचक योग है,क्योंकि मंगल ग्रह में केंद्रीय स्थान पर है। यह मनुष्य को  उच्च पद तक पहुंचाता है। विदेशों में प्रतिष्ठा दिलवाता है। यह सेना व पुलिस के ऊपर गहरा प्रभाव बनाता है। यदि दुश्मन देशों से युद्ध होता भी है तो विजय प्राप्त होती है।

 दूसरा नीच भंग राजयोग है। चंद्रमा क्षीण अवस्था में है बल्कि दुर्बल भाव का अधिपति  है और केंद्र में है। इसके कारण से नीच भंग राजयोग बनता है। यह अति भाग्यवान बना कर उच्च स्थान दिलवाता है।

 (लेखक देश के माने हुए ज्योतिषाचार्य हैं) RB

 

कैलाश नागर

जीवन परिचय 


* जन्म : 6 सितम्बर 1960 ,आरोलिया (आष्टा ) मप्र 

* शिक्षा : कला स्नातक 1981 

* इंदौर आगमन : 1978 में 

* स्नातक के बाद अखबारों में विभिन्न जिम्मेदारियों का निर्वहन 

* ज्योतिष व् आध्यात्मिक सलाहकार : 1991 से प्रारम्भ 

* आज तक टीवी चैनल पर 5 वर्ष तक ज्योतिष सलाह का प्रसारण 

* हिमालय में 16 हजार फ़ीट की ऊंचाई पर एकांतवास में कठोर साधना की।  भृगु संहिता, रावण काली संहिता , होरा पाराशर शास्त्र का अध्ययन।  

* ज्योतिष सलाह के लिए मुंबई, दुबई, मॉरीशस , लंदन आदि जगह का प्रवास।  

0 comments      

Add Comment