Counterattack on Smriti Irani : ‘चल झूठी, इतना सिली झूठ बोलते हुए शर्म नहीं आती!’ 

राहुल गांधी पर निशाना साधने में गलत बयान देकर फंसी स्मृति ईरानी

1876

Counterattack on Smriti Irani : ‘चल झूठी, इतना सिली झूठ बोलते हुए शर्म नहीं आती!’ 

New Delhi : स्मृति ईरानी के बारे में चर्चित है कि वे बिना तथ्यों को जाने बेसिर पैर के बयान दिया करती है। फिर अपने बुने जाल में ऐसी फंसती हैं कि उन्हें निकलने की जगह नहीं मिलती। उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। कांग्रेस ने दावा किया कि स्मृति ईरानी ने फिर हमेशा की तरह फिर गलत बयानबाजी की। कांग्रेस नेताओं ने स्मृति ईरानी के वीडियो को शेयर कर उसे प्रोपेगेंडा बताते हुए तंज कसा है। वहीं आम सोशल मीडिया यूजर्स ने भी स्मृति ईरानी ट्रोल करने की कोशिश की है।

स्मृति ईरानी ने बेंगलुरु में शनिवार को ‘जन स्पंदन’ कार्यक्रम में राहुल गांधी पर राजद्रोह का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘आज मैं कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहती हूं कि आप कहते हैं कि भारत को जोड़ने के लिए आप यात्रा कर रहे हैं। अरे, मगर कन्याकुमारी से चले तो कम से कम इतनी निर्लज्जता तो न दिखाते, स्वामी विवेकानंद जी को प्रमाण करके तो जाते, लेकिन वो भी राहुल गांधी को स्वीकार नहीं।’ स्मृति ईरानी के इस बयान के बाद कांग्रेस के नेताओं ने राहुल गांधी के विवेकानंद मेमोरियल जाने का वीडियो शेयर कर दिया। इसके बाद स्मृति ईरानी की तो बोलती बंद हो गई, पर कांग्रेस ने उनकी घेरे बंदी कर दी।

कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने स्मृति ईरानी के बयान को प्रोपेगेंडा बताते हुए कहा ‘चल झूठी, इतना सिली झूठ बोलते हुए शर्म नहीं आती।’ अपने इस पोस्ट के साथ कांग्रेस नेता ने विवेकानंद को प्रणाम करते राहुल गांधी का वीडियो भी शेयर किया है। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने स्मृति ईरानी को टैग कर लिखा ‘झूठ बहुत बोलती हैं, बार-बार पकड़ ली जाती हैं। कांग्रेस नेत्री अलका लांबा ने स्मृति ईरानी और उनके दफ्तर को टैग करते हुए लिखा ‘भाई मैं टैग कर देती हूं सिली सोल बार वाली को। चल झूठी कहीं की।’

कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने स्मृति ईरानी का नाम लिए बिना कमेंट किया कि झूठ और धोखे की केंद्रीय मंत्री। महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष डाटा डिसूजा ने इस वीडियो पर लिखा ‘फर्जी खबर फैलाने वालों से सावधान।’ कांग्रेस नेता गौरव गांधी ने स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए लिखा ‘मुझे बताया गया है, बीजेपी ने भारत जोड़ो यात्रा के खिलाफ हर रोज एक फर्जी मुद्दा बनाने के लिए बीजेपी और आरएसएस के सात मंत्रियों और 15 वरिष्ठ पदाधिकारियों की अनौपचारिक समिति बनाई है। इस यात्रा में पैदल चलकर यात्री जहां कड़ी मशक्कत कर रहे हैं, वहीं बीजेपी का अपना संघर्ष है।’

अशोक कुमार पांडे नाम के ट्विटर यूजर ने इस वीडियो पर लिखा ‘एक होता है झूठ, एक होता है सफेद झूठ और फिर आता है सिल्ली सोल झूठ। कमाल है।’ निशा नाम की एक ट्विटर यूजर ने लिखा ‘आजकल बीजेपी अपना ही नुकसान करवाने में लगी हुई है, अब तो केंद्रीय मंत्री ने भी गलत बयानबाजी करके अपनी छवि खराब कर ली।’ राघवेंद्र नाम के एक यूजर ने कमेंट किया ‘मैडम तो गजब का प्रोपेगेंडा चला लेती हैं, इसी सब के भरोसे तो इन लोगों का काम चल रहा है।’ पर अभी बीजेपी का कोई नेता या मीडिया सेल स्मृति ईरानी का बचाव करने सामने नहीं आए।