कांग्रेस आदिवासियों को साधने की तैयारी में,घर-घर देगी दस्तक, बताएंगी प्रदेश सरकार की नाकामी

75
MP By Elections

भोपाल: कांग्रेस उपचुनाव के साथ ही मिशन 2023 की तैयारियों में जुटने जा रही है। इस मिशन के तहत उसका फोकस आदिवासियों पर भी है। इसके चलते ही कांग्रेस अब हर आदिवासी के घर पर दस्तक देकर प्रदेश सरकार की नाकामी सहित आदिवासियों से जुड़े अन्य मुद्दो पर उनसे चर्चा करेगी। प्रदेश कांग्रेस जल्द ही इस अभियान के लिए प्रदेश से लेकर जिला स्तर तक एक टीम बनाने जा रही है।

आदिवासी मेल-मिलाप अभियान

दरअसल, कांग्रेस मध्य प्रदेश में आदिवासी मेल मिलाप अभियान चलाने जा रही है। कांग्रेस आदिवासियों से मेल मिलाप का अभियान घर-घर जाकर आदिवासियों को एनसीआरबी के आदिवासी अपराध के आंकड़ो को बताएगी इसके अलावा आदिवासियों से जुड़े अन्य मुद्दे भी उन्हें बताएंगे जाएंगे। इसके साथ ही आदिवासियों से सीधा संवाद भी प्रदेश कांग्रेस के नेता करेंगे। इसके लिए कांग्रेस की टीम तैयार होगी और आदिवासियों से मेल मिलाप करेगी जिसमें विधायक भी शामिल होंगे।

इसलिए सियासत में महत्वपूर्ण आदिवासी

प्रदेश में अलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित है। वहीं खंडवा लोकसभा क्षेत्र में भी आदिवासी वर्ग खासा है। इन दोनों उपचुनाव में आदिवासियों के वोट जीत के लिए महत्वपूर्ण होंगे। इसके अलावा प्रदेश में आदिवासी वर्ग के लिए 47 सीट आरक्षति हैं। जबकि दो दर्जन से ज्यादा सीटें ऐजी है जो आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित तो नहीं हैं, लेकिन यहां पर आदिवासी वोट जीत हार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।