बाबा महाकाल के दर्शन के लिए लगातार भारी संख्या में पहुच रहे श्रद्धालु, सुलभ दर्शन पाकर भक्त निहाल

1342

उज्जैन । प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग बाबा महाकाल के मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व पर बाबा महाकाल के दर्शन के लिए भारी भीड़ उमड़ रही है । कोरोना महामारी के कारण विगत दो वर्षों से प्रतिबन्ध के चलते सीमित संख्या में श्रद्धालुओं की आवाजाही रही थी । इस वर्ष जब कोरोना समाप्त सा हो गया हैं एवं सरकार द्वारा पूर्ण वैभव से हर त्यौहार एवं कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति दी गई हैं, इसके कारण उज्जैन में हो रहे विभिन्न आयोजनों को लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा गया ।

महाशिवरात्रि के दिन तड़के 2:30 बजे बाबा महाकाल मंदिर के पट खुले एवं महाशिवरात्रि पर्व पर बाबा महाकाल के मंदिर में होने वाली भस्म आरती में सम्मिलित हुए श्रद्धालुओं में खासा उत्साह नजर आया । भस्म आरती के चलते दर्शन रोक दिए गए थे । लगातार दर्शन हेतू मंदिर पहुंच रहे श्रद्धालुओं के कारण बेरीकेट में बनी लाइन चार धाम मंदिर के आगे तक पहुंच गई थी । चारधाम मंदिर के पास भीड़ के दबाव के कारण कुछ बैरिकेड व सुरक्षा उपकरण टूट गए थे वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा तुरंत निर्देशित कर व्यवस्था को संभाला एवं भीड़ को नियंत्रित किया ।

WhatsApp Image 2022 03 01 at 11.03.34 AM

उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल, महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थापित किये गए कंट्रोल रूम से बाबा महाकाल के सहज दर्शन के लिये बनाई गई व्यवस्था के हर पॉइन्ट पर नजर बनाए हुए है । वे लगातार मानिटरिंग कर निर्देश दे रहे है । वरिष्ठ अधिकारियों के सीधे निर्देश मिलने से ड्यूटीरत कर्मचारियों में भी मुस्तैदी बनी हुई है । ड्यूटीरत अधिकारी एवं कर्मचारियों को श्रद्धालुओं से व्यवहार में शिष्टाचार बरतने के लिए भी बार बार मेसेज किये जा रहे है ।

दर्शन मार्ग में गंगा गार्डन के पास लगाए गए नि:शुल्क फलाहार एवं स्वल्पाहार केंद्र पर दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालु कुछ देर विश्राम कर यहां नि:शुल्क फलाहार ले रहे है ।

मिडियावाला संवाददाता ने कुछ श्रद्धलुओं से चर्चा कर व्यवस्था के बारे में पुछा तब भोपाल से दर्शन करने आए नीलेश यादव ने बताया कि प्रशासन द्वारा की गई नि:शुल्क पार्किंग व्यवस्था बहुत अच्छी है वह अपने पूरे परिवार के साथ यहां दर्शन के लिए आए थे किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं आई अच्छे से दर्शन हुए ।

इसी तरह भोपाल से अपने परिवार के साथ दर्शन करने आए डॉ श्याम जायसवाल ने बताया कि इतनी भीड़ होने के बावजूद सुव्यवस्थित दर्शन हुए, प्रशासन की ओर से सभी व्यवस्थाएं काफी अच्छी की गई है ।

राजकोट से आई रुक्मिणी बेन मोदी ने बताया कि आज परिवार में सभी का महाशिवरात्रि का व्रत है। हम लोगों को पार्किंग के बाद अधिक चलना भी नहीं पड़ा प्रशासन की ओर से नि:शुल्क ई-रिक्शा की व्यवस्था की गई हम सभी लोग ई-रिक्शा में बैठकर आसानी से मंदिर के समीप पहुंचे हमे किसी प्रकार की असुविधा नहीं हुई । बाबा महाकाल के दर्शन भी बहुत अच्छे से हुए ।