Fake Modeling : बोल्ड फोटो मंगवाकर ब्लैकमेल करने वाले को पकड़ा

सोशल मीडिया पर मॉडलिंग में रुचि रखने वालों को फंसाने की हरकत

490

Indore : फर्जी मॉडलिंग कंपनी बनाकर लड़कियों को सिलेक्शन का लालच देकर व बोल्ड फोटो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने वाले को सायबर सेल ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के टारगेट पर मॉडलिंग में रूचि रखने वाले लड़के व लड़कियां रहते थे। आरोपी इंस्टाग्राम आईडी के जरिए संपर्क करता था।

मॉडलिंग में चांस देने के नाम पर लड़कियों से बोल्ड फोटो और विडियो मंगवाकर उन्हें ब्लैकमेल करता था। रजिस्ट्रेशन के नाम पर भी पीड़ीतों से करवाता और रुपए मांगता था। आरोपी ने ‘राइजिंग ब्रांड स्टार्स इनफ्लूएंसर मॉडलिंग’ के नाम से इंस्टाग्राम पेज बनाया था।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सायबर सेल) योगेश देशमुख ने सोशल मीडिया पर आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के त्वरित निवारण करने के निर्देश दिए गए थे।

इसी के तहत पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर सेल जितेन्द्र सिंह ने बताया कि 30 जनवरी को फरियादी नकिता (परिवर्तित नाम) ने राज्य सायबर सेल में शिकायत दर्ज कराई थी, कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा फरियादी का वर्चुअल सम्पर्क राईजिंग स्टार नाम की इन्स्टाग्राम  आईडी से वर्ष 2020 फरवरी में हुआ था।

जिसमें फरियादी को मॉडलिंग का ऑफर मिला था। फरियादी मॉडलिंग का शौक रखती थी। इस ऑफर पर भरोसा करके फरियादी ने कंपनी की ईमेल आईडी पर पोर्टफोलियो भेजे थे।

2020 में लॉकडाउन लगने के कारण कंपनी की तरफ से किसी भी तरह की सूचना न मिलने पर फरियादी ने मॉडलिंग की बात भूल चुकी थी।

2021 में जनवरी में फरियादी के द्वारा मॉडलिंग के लिए भेजे गए पोर्टफोलियो फरियादी की इंस्टाग्राम आईडी मैसेंजर पर एक अज्ञात इंस्टाग्राम आईडी से भेजे जा रहे हैं।

मॉडलिंग में सिलेक्शन के नाम पर रजिस्ट्रेशन फीस जमा करने के लिए भी मैसेज किए गए। फरियादी को फर्जी आईडी का अंदेशा होने पर तुरंत सायबर सेल से सम्पर्क किया गया।

सायबर सेल ने फर्जी इंस्टाग्राम आईडी तथा ईमेल की जानकारी प्राप्त की। जिसमें पाया गया कि संदिग्ध विग्नेश शेट्टी जो पुणे में रहता है, के द्वारा उक्त ईमेल आईडी तथा इंस्टाग्राम आईडी बनाने की जानकारी प्राप्त हुई।

शिकायत जांच में प्राप्त जानकारी के आधार पर आईटी एक्ट के तहत मामला कायम कर विवेचना में लिया गया।

संदिग्ध के पते पुणे जाकर टीम ने तस्दीक की तथा आरोपी को पूछताछ के लिए राज्य सायबर सेल इंदौर बुलाया गया।

प्रकरण में आए तथ्यों के आधार पर संदिग्ध विग्नेश से पूछताछ की गई। जिसने अपना नाम विग्नेश पिता कृष्ण प्रसाद शेट्टी बताया।

उसने अपराध घटित करना भी स्वीकार किया। आरोपी से अपराध में प्रयुक्त मोबाइल फोन तथा मोबाइल सिम जब्त की गई।

आरोपी ने बताया कि वह मॉडलिंग के नाम पर लड़के-लड़कियों के पोर्टफोलियो मंगाकर रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे जमा करवाता था।

जो रूपए जमा कर देता, उसी समय उसे ब्लॉक कर देता। फिर बोल्ड फोटो व वीडियो वायरल करने की धमकी देता।

आरोपी से अन्य अपराध में शामिल होने से संबंध में भीजानकारी निकाली जा रही है।