Farmer Movement Block on ‘X’ : असहमति के बावजूद सरकार का आदेश माना, ‘एक्स’ पर किसान आंदोलन ब्लॉक

एक्स ने किया दावा, केंद्र सरकार ने पोस्ट और अकाउंट ब्लॉक कराए!

243

Farmer Movement Block on ‘X’ : असहमति के बावजूद सरकार का आदेश माना, ‘एक्स’ पर किसान आंदोलन ब्लॉक

New Delhi : असहमति के बावजूद एलन मस्क ने भारत सरकार का आदेश माना और ‘एक्स’ पर कई एकाउंट व पोस्ट को ब्लॉक करवा दिया। दरअसल ‘एक्स’ प्लेटफॉर्म ने भारत सरकार के आदेशों के प्रति अपनी असहमति जाहिर की है। ‘एक्स’ ने पोस्ट में कहा कि हम इन अकाउंट्स और पोस्ट्स को केवल भारत में ही ब्लॉक करेंगे। सूत्रों का कहना है कि केंद्र ने किसान आंदोलन से जुड़े ‘एक्स’ अकाउंट और पोस्ट को ब्लॉक किया है।
‘एक्स’ प्लेटफॉर्म के अकाउंट से पोस्ट करके बताया कि भारत सरकार के आदेश के बाद हम कुछ अकाउंट और पोस्ट को ब्लॉक कर रहे हैं। लेकिन, उसे ब्लॉक करने को लेकर हम असहमत हैं। एलन मस्क के ‘एक्स” प्लेटफॉर्म ने एक पोस्ट किया है, जिसमें बताया है कि भारत सरकार ने हाल ही में ‘एक्स’ प्लेटफॉर्म को कुछ अकाउंट और पोस्ट को ब्लॉक करने के ऑर्डर दिए थे।
एक्स ने कहा कि हम इस आदेश को मानते हैं और हमने उन अकाउंट पर एक्शन लिया है, लेकिन साथ ही अपनी असहमति दर्ज की है। उन्होंने कहा कि लोगों को बोलने की आजादी होनी चाहिए। हालांकि, अभी तक ब्लॉक अकाउंट की डिटेल्स सामने नहीं आई है। ‘एक्स’ का पुराना नाम ट्वीटर था। ट्वीटर की पॉलिसी थोड़ी अलग हैं, जिसकी वजह से कई बार भारत सरकार और ट्वीटर आमने-सामने आ चुके हैं। हालांकि अभी कंपनी के मालिक बदल गए हैं। अब इस कंपनी की कमान एलन मस्क के पास है।

पहले सहमत नहीं थे
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ ने चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन से संबंधित अकाउंट और पोस्ट को ब्लॉक करने पर पहले असहमति जताई गई थी। साथ ही प्रभावित पोस्ट पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बढ़ाने का आह्वान भी किया था। सूत्रों के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने गृह मंत्रालय के अनुरोध पर सोशल मीडिया प्लेटफार्मों को 177 अकाउंट को अस्थायी रूप से ब्लॉक करने का आदेश दिया था। ये सभी पोस्ट और अकाउंट किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़े थे।
सरकार ने ‘एक्स’ को विशिष्ट अकाउंट और पोस्टों पर कार्रवाई करने के लिए कार्यकारी आदेश जारी किए, जो महत्वपूर्ण जुर्माना और कारावास सहित संभावित दंड के अधीन हैं। ‘एक्स’ ने आदेशों के अनुपालन में कहा कि हम इन खातों और पोस्टों को केवल भारत में रोकेंगे। हालांकि, हम इससे असहमत हैं। ‘एक्स’ ने एक पोस्ट में कहा कि इन कार्रवाइयों और इस बात को बनाए रखें कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता इन पोस्टों तक विस्तारित होनी चाहिए।