इंदौर लोकसभा में कांग्रेस के साथ जो हुआ उसका डर दिखा अमरवाड़ा में, धीरन शा के बाद एक और से भरवाया नामांकन

292

इंदौर लोकसभा में कांग्रेस के साथ जो हुआ उसका डर दिखा अमरवाड़ा में, धीरन शा के बाद एक और से भरवाया नामांकन

भोपाल: इंदौर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ जो उसका डर अमरवाड़ा विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस नेताओं में दिखाई दिया। कांग्रेस ने इंदौर जैसी स्थिति न बन सके, इसके लिए इस बार एक और ताकरवर नेता से यहां पर नामांकन दाखिल करवाया है। हालांकि कांग्रेस धीरन शा को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त है, फिर भी कोई रिस्क नहीं लेते हुए यहां से जिला पंचायत के एक सदस्य का भी नामांकन दाखिल करवाया गया है।

सूत्रों की मानी जाए तो इंदौर में लोकसभा चुनाव में जो हुआ उसके बाद इस उपचुनाव में कांग्रेस फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। प्रदेश कांग्रेस को दिल्ली से यह हिदायत मिली है कि इंदौर लोकसभा जैसा यहां न हो कि उम्मीदवार ही एन वक्त पर पार्टी छोड़कर चला जाए, इसलिए एक और मजबूत नेता का यहां से नामांकन भरवाया जाए। इस पर आनन-फानन में जिला पंचायत सदस्य नवीन मरकाम का भी नामांकन भरवाया गया। नवीन मरकाम ने भी अपना नामांकन धीरन शा इनवाती के साथ ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी और पार्टी के अन्य नेताओं के साथ भरा।

नवीन मरकाम का टिकट था तय
नवीन मरकाम का टिकट लगभग यहां से तय माना जा रहा था, लेकिन कमलनाथ और कांग्रेस के कुछ नेता चाहते थे कि आंचलकुंड दरबार से जुड़ा परिवार यदि चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो जाए तो कांग्रेस और मजबूत हो जाएगी। इसी रणनीति के तहत कमलनाथ ने धीरन शा से बात की और उन्हें चुनाव लड़ने को तैयार किया। कमलनाथ से बात होने के बाद ही धीरन शा ने अपनी नौकरी से इस्तीफा दिया और चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार बनें।

कुल दो लाख रुपए प्रत्याशी के पास
धीरन शा ने अपने नामांकन के दौरान दिए एफिडेविट में बताया कि उनके पास दो लाख रुपए नकद हैं। उनके एक बैंक में 2800 और एक बैंक में 42 हजार रुपए जमा है। उनके पास एक मोटर साइकिल है जो पत्नी के नाम पर है। धीरन के पास तीन लाख 45 हजार और पत्नी के पास एक लाख 30 हजार रुपए की सम्पत्ति है।