दक्षिण पश्चिम समुद्र में चक्रवात का बनना अभी भी जारी,MP में 16 दिसंबर तक न्यूनतम पारा गिरने से ठंड का प्रकोप रहेगा

423

दक्षिण पश्चिम समुद्र में चक्रवात का बनना अभी भी जारी,MP में 16 दिसंबर तक न्यूनतम पारा गिरने से ठंड का प्रकोप रहेगा

 

दिनेश सोलंकी की खास रिपोर्ट

 

मिचौंग चक्रवात के जाते ही पश्चिमी हवाओं का दखल भारत में शुरू हो गया है जिससे ठंड की लहर शुरू हो गई है। हालांकि अभी भी पश्चिम दिशा से आने वाले बादल ऊंची हवाओं के साथ उत्तर भारत से गुजर रहे हैं लेकिन संभावना है कि अगले दो दिनों में इनका रुख राजस्थान से मध्य प्रदेश की ओर होगा तब न्यूनतम पारे में तेजी से गिरावट आएगी।

 

रात में न्यूनतम पारा मध्य प्रदेश के मालवा निमाड़ में 12 से 14 डिग्री तक जा सकता है जबकि ग्वालियर में 10 डिग्री तक। कश्मीर में न्यूनतम पारा माइनस ज़ीरो डिग्री तक जा सकता है। ठंड का असर राजस्थान, दिल्ली, यूपी आदि तक छाया हुआ है।

 

मध्य प्रदेश में अगले दो दिन तक मौसम साफ रहेगा, बादल कम दिखाई देंगे। इसके बाद फिर बादलों का प्रवेश शुरू हो जाएगा। हवाओं से ठिठुरन रहेगी।

 

भारत के दक्षिण पश्चिम महासागर में बन रहा चक्रवात अभी भी आकार नहीं ले पा रहा है, लेकिन उसकी गतिविधियां हवाओं के हिसाब से चल रही है। अगले 24 से 48 घंटे में इसकी स्थिति पता चल सकती है कि यह पूर्ण होगा या अपूर्ण रहकर बिखर जाएगा। इसके प्रभाव से केरल कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में बारिश हो रही है।