महंगाई भत्ता न देकर सरकार ने तीन महीने में 1680 करोड़ बचाए, – 2480 से 32368 वेतन हर महीने कम मिल रहा

789

Bhopal MP: मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रदेश सचिव Umashankar Tiwari (उमाशंकर तिवारी) ने कहा कि केंद्र सरकार सहित कई राज्यों की सरकार ने अपने कर्मचारियों को 1 जुलाई 2021 से 28% महंगाई भत्ता दिया है। वहीं, मध्यप्रदेश शासन में कार्यरत लाखों कर्मचारियों को जुलाई 2019 से 12% महंगाई भत्ता मिल रहा है। गैस, पेट्रोल, तेल, दाल, अनाज सभी चीज महंगी हो रही! इसके बावजूद महंगाई का सामना करने के लिए कर्मचारियों को महंगाई भत्ता नहीं दिया जा रहा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कई मौकों पर कहा है कर्मचारियों को पाई-पाई दी जाएगी! लेकिन, कर्मचारी पाई-पाई के लिए मोहताज हो रहे हैं। कोरोना काल में शासन का सहयोग किया, लेकिन जब केंद्र सरकार व अन्य राज्य अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ता दे रहे हैं तो मध्यप्रदेश शासन को भी 16% महंगाई भत्ता अविलंब प्रदान करना चाहिए।

हर महीने नुकसान का आंकड़ा
– चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को 2480 से 4640 रुपए।
– तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को 3120 से 11216
– द्वितीय श्रेणी अधिकारियों को 8976 से 18080
– प्रथम श्रेणी अधिकारियों को 19696 से ₹32368