निर्वाचन में लगे अधिकारी- कर्मचारियों को हुआ मानदेय का भुगतान,अभी ड्यूटी ख़त्म भी न हुई थी और भुगतान का मेसेज देख चौंके निर्वाचन कर्मी

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी की पहल पर हुई शीघ्र भुगतान की कार्यवाही

560

निर्वाचन में लगे अधिकारी- कर्मचारियों को हुआ मानदेय का भुगतान,अभी ड्यूटी ख़त्म भी न हुई थी और भुगतान का मेसेज देख चौंके निर्वाचन कर्मी

इंदौर: मतदान समाप्ति के साथ जब निर्वाचन की महत्वपूर्ण ड्यूटी समाप्त हो रही थी उसी बीच निर्वाचन में लगे कर्मचारियों ने अपने बैंक के अकाउंट में राशि जमा होने का संदेश देखा तो उन्हें हर्ष मिश्रित आश्चर्य हुआ। निर्वाचन के इतिहास में पहली बार इंदौर में मतदान के दिन ही निर्वाचन कर्मियों को उनके मानदेय का भुगतान कर दिया गया है। कलेक्टर डॉक्टर इलैयाराजा टी की जुदा कार्यशैली और संवेदनशीलता के कारण यह संभव हो सका है।

विधानसभा निर्वाचन में लगे विभिन्न विभागों के अधिकारी -कर्मचारियों को आज मानदेय का भुगतान कर दिया गया है। जहां पहले मतदान समाप्त होने के कई महीनो बाद मानदेय मिलता था वही संभवत यह पहली बार है कि निर्वाचन में अपनी सेवाएं देने वाले अधिकारी कर्मचारियों को मतदान दिवस पर ही मानदेय का भुगतान प्राप्त हो गया है । कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ इलैया राजा टी की पहल पर मानदेय के शीघ्र भुगतान की कार्यवाही की गई है।

इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर निर्वाचन में संलग्न कर्मचारियों को मानदेय भुगतान की त्वरित कार्रवाई की गई है। निर्वाचन में FST/SST/VST/VVT/AT/AET/MCMC/call centre आदि में सेवाएं देने वाले अधिकारी कर्मचारियों  के खाते में आज ट्रेजरी द्वारा राशि जमा करा दी गई है।

ट्रेजरी ऑफिसर  ने बताया कि शेष बचे अधिकारी कर्मचारी  के खाते में राशि के भुगतान की कार्रवाई निरंतर जारी है। उन्होंने बताया कि अभी तक 7,15,800 रुपए  का भुगतान विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इंदौर जिले के सभी विधानसभा क्षेत्र में निर्वाचन कार्य के लिए नियुक्त 9,984 अधिकारी कर्मचारियों को  98 लाख 66 हजार 750 रुपए का भुगतान किया जाना है।

कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने शेष बचे सभी अधिकारी कर्मचारियों को शीघ्र से शीघ्र मानदेय का भुगतान करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही इंदौर जिले में शांतिपूर्ण मतदान संपन्न होने पर निर्वाचन में अपनी सेवाएं देने वाले सभी अधिकारी कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुए आभार व्यक्त किया है।