पत्नी से अवैध संबंधों को लेकर पति ने उतारा पत्नी के प्रेमी को मौत के घाट

726

रतलाम से रमेश सोनी की रिपोर्ट

धोलावाड़ क्षेत्र के जंगल में दो दिन पहले मिली लाश के मामले में पुलिस ने हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारे की पत्नी और मृतक का संबन्ध हत्या का कारण बना। अवैध संबंधों के मामले की जानकारी लगने पर आरोपी ने पत्नी के प्रेमी की हत्या कर डाली थी

रतलाम: जिले के धोलावाड़ क्षेत्र में दो दिन पहले मिली लाश के मामले में पुलिस ने हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया है।हत्यारे की पत्नी और मृतक के बीच प्रेम संबंध थे,जिसकी जानकारी लगने पर आरोपी ने उसकी हत्या की। हत्या करने के बाद एक साथी की सहायता से उसके शव को मृतक की ही मोटरसाइकिल से धोलावाड़ लेकर पहुंचा और फेंक दिया। साथ ही तीसरे साथी की मदद से दोनों अपने गांव आ गए।

एसपी गौरव तिवारी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि पुलिस को 28 नवंबर को सूचना मिली थी कि धोलावाड़ क्षेत्र में लाश मिली है। और लाश पर चोट के निशान है। लाश प्लास्टिक बोरी में भरी होकर अर्धनग्न अवस्था में थी।

मामले में एसडीओपी संदीप निगवाल के मार्गदर्शन में रावटी थाना प्रभारी लोकेंद्रसिंह ठाकुर ने मृतक की शिनाख्त के लिए टीम के माध्यम से जानकारी निकाली तो मृतक का नाम वालचंद्र पिता भीलजी डोडियार उम्र 26 साल निवासी जोतपुरा बिंटी होना पाया गया, इसके बाद हत्या का मामला देखते हुए एसपी के निर्देश पर एक टीम गठित की गई जिसमें बाजना थाना प्रभारी रेवरसिंह बर्डे सहित एसआई रामसिंह खपेड़, अल्केश सिंगाड़, लक्ष्मण सिंह दायदा, किशनलाल रजक आदि के साथ साईबर और फोरेंसिक टीम अनुसंधान में जुटी।

भूरी घाटी के जंगल में की निर्मम हत्या फिर लाए लाश

टीम ने मौके से साक्ष्य बरामद किए और पीएम रिपोर्ट से मृतक के गुप्तांग और गले पर धारदार हथियार से हत्या होना पाया। पुलिस टीम को जांच में पता चला कि मृतक का प्रेम प्रसंग बेहरिंग मईड़ा निवासी भूरीघाटी की पत्नी के साथ था। महिला और मृतक एक ही गांव के थे, जिनका संबंध महिला की शादी से पहले से ही था और शादी के बाद भी महिला का प्रेम प्रसंग उससे चलता रहा।

घटना वाली रात को भी वह महिला से मिलने भूरी घाटी बाजना जाने वाले रास्ते पर रात 8.30 बजे आया था।इसी दौरान उसके पति बेहरिंग को भी खबर लग गई जो पीछे आया। बेहरिंग ने दोनों को साथ देखा तो दराते से वालचंद्र की हत्या कर दी। इसके बाद उसने अपने पड़ोसी विकास पिता रसीया मईड़ा उम्र 20 साल निवासी भूरीघाटी को बुलाया। दोनों आरोपियों ने वालचंद्र की लाश को आधा प्लास्टिक की बोरी में भरकर उसकी ही मोटरसाईकिल से धोलावाड़ लाए।धोलावाड़ पहुँच कर लाश के साथ ही उसकी मोटरसाईकिल भी वहीं फैंक दी। इसके बाद अपने गांव से एक नाबालिक किशोर को मोटरसाईकिल लेकर बुलाया और उसके साथ दोनों अपने घर आ गए।

खून सने कपड़े, मोबाइल भी जप्त

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि अंधे कत्ल की विवेचना में गठित टीम ने बहुत मेहनत की और पहले दिन से अनुसंधान सही दिशा पर चला। इससे आरोपियों तक तुरंत पहुंच गए। उनसे पूछताछ के आधार पर आरोपियों को खून लगने कपड़े,हत्या में उपयोग किया गया दराता, जहां हत्या की गई वहां की मिट्टी, मृतक का मोबाइल भी बरामद कर लिया गया है। एसपी तिवारी ने अनुसंधान के लिए टीम की सराहना की।