Husband-Wife Collector in 2 New Districts : दो नए जिलों की कमान पति-पत्नी की IAS जोड़ी को!

दोनों 2015 में UPSC की टॉप-10 लिस्ट में शामिल थे!

2084

Husband-Wife Collector in 2 New Districts : दो नए जिलों की कमान पति-पत्नी की IAS जोड़ी को!

Jaipur : चुनावी साल में राजस्‍थान सरकार में 19 नए जिले बनाए गए। 7 अगस्‍त को सभी 19 जिलों की स्‍थापना के साथ औपचारिक रूप से इन जिलों में जिला कलेक्‍टर एवं मजिस्‍ट्रेट की नियुक्ति की गई। इन पदस्थापनाओं में सबसे महत्वपूर्ण है 2016 बैच के दो आईएएस अधिकारी जसमीत सिंह संधू और अर्तिका शुक्ला को कलेक्टर बनाया जाना। जसमीत को फलौदी और उनकी पत्‍नी अर्तिका शुक्‍ला को दूदू का कलेक्‍टर बनाया गया है। दोनों UPSC 2015 में टॉप-10 में आए थे।
इससे पहले जसमीत सिंह संधू को पहले फलौदी में और आईएएस अर्तिका शुक्‍ला दूदू में पहले विशेषाधिकारी बनाया था। अब इन्‍हें वहीं कलेक्‍टर बना दिया गया। राजस्‍थान कैडर की ये आईएएस पति-पत्‍नी की जोड़ी काफी लोकप्रिय है। बतौर कलेक्‍टर दोनों की पहली पोस्टिंग है और इन्‍हें नए जिले फलौदी व दूदू के पहले कलेक्‍टर बनने का भी गौरव प्राप्‍त हुआ।

दोनों की लव स्‍टोरी

यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2015 में जसमीत सिंह संधू ने अखिल भारतीय स्‍तर पर तीसरी और अर्तिका शुक्‍ला ने चौथी रैंक हासिल की थी। दोनों ट्रेनिंग के लिए मसूरी स्थित LBSNAA पहुंचे। वहां दोस्‍ती हुई, जो बाद में प्‍यार में बदल गई और साल 2017 में दोनों ने शादी कर ली। अब एक साथ जिला कलेक्‍टर बन गए। आईएएस ट्रेनिंग के बाद जसमीत सिंह को राजस्थान और अर्तिका शुक्ला को भारतीय प्रशासनिक सेवा केंद्र शासित प्रदेश कैडर मिला था। बाद में जसमीत सिंह संधू से शादी का हवाला देकर अर्तिका शुक्ला भी राजस्थान कैडर में आ गई।

आईएएस अर्तिका शुक्‍ला उत्तर प्रदेश की

आईएएस अर्तिका शुक्‍ला मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के वाराणासी की रहने वाली हैं। इनका जन्म वाराणसी के डॉ बृजेश शुक्ला व लीना शुक्ला के घर हुआ। अर्तिका शुक्ला ने शुरुआती पढ़ाई सेंट जॉन स्कूल से की। इसके बाद मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया, फिर पीजीआईएमईआर से एमडी भी की। अर्तिका दूदू जिला कलेक्‍टर बनने से पहले ऊर्जा विभाग जयपुर में संयुक्‍त सचिव, सीईओ अलवर, अतिरिक्‍त आयुक्‍त कर विभाग जयपुर व एसडीएम अजमेर व ऋषभदेव पद पर सेवाएं दे चुकी हैं।

आईएएस जसमीत सिंह संधू को चौथे प्रयास में सफलता मिली

UPSC 2015 में तीसरी रैंक हासिल करने वाले जसमीत सिंह संधू दिल्ली के रहने वाले हैं। डॉ जेएस संधू, डीडीजी (फसल विज्ञान) आईसीएआर और सुरिंदर कौर के घर 23 सितम्बर 1987 को जसमीत का जन्म हुआ। इन्होंने लुधियाना के सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट स्कूल से शुरुआती शिक्षा प्राप्त की। IIT से ग्रेजुएशन किया। 2010 में यूपीएससी की तैयारी शुरू की। चौथे प्रयास में आईएएस बनने में सफल हुए। पहले दो प्रयास में फेल हुए. तीसरे प्रयास में 332वीं रैंक पाकर आईआरएस बने थे।