Monday, January 27, 2020
केस दर्ज कराने गई युवती दे बैठी दारोगा को दिल, शादी से पहले हुआ ये खुलासा

केस दर्ज कराने गई युवती दे बैठी दारोगा को दिल, शादी से पहले हुआ ये खुलासा

मीडियावाला.इन।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में सिविल लाइंस की युवती ने दिल्ली के दारोगा पर नौकरी दिलाने के नाम पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। दरोगा मूल रूप से मेरठ का रहना वाला है। एसएसपी से की गई शिकायत में युवती ने  तीन लाख रुपये ठगने और शादी के फर्जी कागजात तैयार कराने का भी आरोप लगाया है। एसएसपी ने मामले में महिला एसओ को जांच के आदेश दिए हैं।

गुरुवार को एसएसपी के समक्ष पेश हुई युवती ने बताया कि वह स्नातक है और पॉलिटेक्निक का कोर्स कर रखी है। 
2017 में पूर्वी दिल्ली के सकरपुर थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने उसका एटीएम और बैंक खाता हैक कर लिया था। उसने आरोपी के खिलाफ सकरपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। युवती के अनुसार उसी थाने में मेरठ के कंकरखेड़ा निवासी उप निरीक्षक से उसका परिचय हुआ।

आरोप है कि मदद करने के बहाने दरोगा ने उससे मोबाइल पर बातें करनी शुरू कर दी। उसने सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा दिया और अपने शैक्षणिक प्रमाणपत्र और तीन लाख रुपये मांगे। युवती ने पैसे भेज दिए, लेकिन नियुक्ति पत्र नहीं मिला। काफी समय बीतने पर आरोपी दरोगा ने कहा कि जब तक नियुक्ति पत्र नहीं आता तुम्हें में प्राइवेट जॉब दिला देता हूं। वह युवती को पूर्वी दिल्ली में ही एक कंपनी में प्राइवेट जॉब दिला दी और अपने आवास पर ही उसे रख लिया। 

आरोप है कि दरोगा ने युवती का दुष्कर्म किया और उसकी अश्लील वीडियो क्लीपिंग बना ली। बाद में वीडियो क्लीप वायरल करने की धमकी देकर उसका यौन शोषण करता रहा। इस बीच आरोपी ने युवती के शैक्षणिक प्रमाणपत्रों की मदद से शादी का कागजात तैयार कर लिए। हाल में ही युवती को पता चला कि दरोगा पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं।

युवती ने इस संबंध में शिकायत करने की बात की तो दरोगा साथियों के साथ मिलकर उसे बेहोश करके 30 दिसंबर की रात पाकबड़ा में फेंक कर भाग गया। पीड़ित ने पुलिस में इसकी शिकायत की तो आरोपी छह जनवरी को उसके घर आकर धमकी देकर गया।  युवती के आरोपों को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी अमित पाठक ने महिला थाना एसओ ज्योति सिंह को जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। ​​​​​

Live Hindustan

RB

0 comments      

Add Comment