सुप्रीम कोर्ट ने पलटा संसद बर्खास्त करने का राष्ट्रपति सिरिसेना का फैसला

सुप्रीम कोर्ट ने पलटा संसद बर्खास्त करने का राष्ट्रपति सिरिसेना का फैसला

मीडियावाला.इन।


सर्वोच्च न्यायालय ने आकस्मिक चुनाव की तैयारियों पर भी रोक लगाने का आदेश दिया
राष्ट्रपति सिरिसेना ने आकस्मिक चुनाव के लिए 5 जनवरी की तारीख तय की थी

कोलंबो. श्रीलंका की सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के संसद बर्खास्त करने के फैसले को पलट दिया। साथ ही, आकस्मिक चुनाव की तैयारियां रोकने का आदेश भी दिया। मुख्य न्यायाधीश नलिन परेरा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच ने यह फैसला सुनाया।

 

सुप्रीम कोर्ट के इस कदम से श्रीलंका में चल रहे राजनीतिक संकट ने नया मोड़ ले लिया है। 26 अक्टूबर को राष्ट्रपति सिरिसेना ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की गठबंधन सरकार को बर्खास्त कर दिया था। इसके बाद विक्रमसिंघे की जगह दो बार देश के राष्ट्रपति रह चुके महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री नियुक्त कर दिया था।

 
देश में राजनीतिक विवाद बढ़ने पर राष्ट्रपति ने संसद भंग कर दी थी और 5 जनवरी को आकस्मिक चुनाव कराने का आदेश दिया था। इसके बाद महिंदा राजपक्षे ने सिरिसेना की श्रीलंका फ्रीडम पार्टी से 50 साल पुराना गठबंधन खत्म कर दिया और पिछले साल गठित श्रीलंका पीपुल्स पार्टी में शामिल हो गए थे।

0 comments      

Add Comment