Monday, February 24, 2020
इमरान खान ने खुद खोली पाकिस्तान की आर्थिक हालत की पोल, दावोस में बताया यह हाल

इमरान खान ने खुद खोली पाकिस्तान की आर्थिक हालत की पोल, दावोस में बताया यह हाल

मीडियावाला.इन।

दावोस. पाकिस्तान की आर्थिक हालात की स्थिति किसी से छिपी नहीं है. अब इसकी पोल खुद इमरान खान ने खोली है. वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) में अपनी यात्रा को 'सबसे सस्ती'आधिकारिक यात्रा करार देते हुए पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने कहा कि उनकी यात्रा को उनके दो दोस्तों और जाने-माने व्यापारियों इकराम सहगल और इमरान चौधरी ने फंड किया था. पाकिस्तान के अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के अनुसार, 'ब्रेकफास्ट एट दावोस' के दौरान गुरुवार को पाथफाइंडर ग्रुप और मार्टिन डाउ ग्रुप द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि पूर्ववर्ती नेताओं के मुकाबले उनकी यात्रा की लागत 10 गुना कम है. उन्होंने बताया कि साल नवंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा में उनकी यात्रा की लागत 160,000 डॉलर थी, जो पूर्व राष्ट्रपति आसिफ जरदारी ($ 1.4 मिलियन), पूर्व प्रधानमंत्रियों नवाज शरीफ ($ 1.3 मिलियन) और शाहिद खकान अब्बासी (800,000 डॉलर) की यात्राओं से सस्ती थी.

'नौ लाख से अधिक पाकिस्तानियों पर भरोसा'
एक सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी और पाथफाइंडर समूह के अध्यक्ष सहगल को शुक्रिया अदा करते हुए इमरान खान ने कहा, 'वह मुझे यहां लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं. अन्यथा, मैंने अपनी सरकार पर दो रातों के लिए 450,000 डॉलर का भुगतान करने के लिए दबाव नहीं बनाया था.' खान ने कहा कि सरकार को विदेशों में रह रहे नौ लाख से अधिक पाकिस्तानियों पर भरोसा करना चाहिए. उन्होंने कहा, "मेरी राय में उन नौ लाख विदेशी पाकिस्तानियों की जीडीपी 20 करोड़ लोगों की पाकिस्तान (कुल) जीडीपी का लगभग 50 प्रतिशत है. इसलिए हम इस संसाधन का उपयोग कर सकते हैं और वे इन चीजों को प्रायोजित कर सकते हैं.' इमरान खान ने कहा कि उन्होंने अपने मंत्रियों को दावत पर जाने से रोक दिया था.'

इमरान ने कहा, जब भी मंत्री कहीं जाने को कहते हैं, मैं उस यात्रा तब तक अनुमति नहीं देता जब तक कि वह मुझे यह समझाने में सफल नहीं हो जाते कि यह देश के लिए किस तरह से फायदेमंद होगा.'

News18 via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment