कोरोना: चीन के जिस हुबेई से शुरू हुई थी बीमारी, वहां रेल-बस सेवा शुरू, हर जगह उमड़ रही है भारी भीड़

कोरोना: चीन के जिस हुबेई से शुरू हुई थी बीमारी, वहां रेल-बस सेवा शुरू, हर जगह उमड़ रही है भारी भीड़

मीडियावाला.इन।

31 दिसंबर को चीन के हुबेई प्रांत में कोरोनावायरस का पहला केस सामने आया था. दुनिया इससे पहले नोवल कोरोनावायरस से अनजान थी. हुबेई की राजधानी वुहान में इसका पहला संक्रमण हुआ था. उसके चंद हफ़्ते बाद वुहान समेत पूरे हुबेई में लॉकडाउन कर दिया गया था. लगभग 2 महीने बाद चीन ने कल लॉकडाउन ख़त्म किया तो लोगों के भीतर घरों से बाहर निकलने की बेताबी साफ़ दिखी.


लंबे समय से बंद की मार झेलने के बाद चीन के हुबेई प्रांत में ट्रैवल प्रतिबंधों को हटा लिया गया है. प्रतिबंधों के हटने के बाद हुबेई प्रांत में जब ट्रेन और बस सेवा शुरू हुई तो लोगों की भारी भीड़ नजर आई. सभी लोग अपने रिश्‍तेदारों, दोस्‍तों से मिलने के लिए बेक़रार नज़र आए. हालांकि सार्वजनिक जगहों पर उन्हीं लोगों को जाने की इजाज़त है जो पूरी तरह स्वस्थ हैं.

मेडिकल जांच के बाद ही लोगों को बसों और ट्रेनों में सवारी करने की इजाज़त दी जा रही है. हुबेई के लोगों के लिए लॉकडाउन से मिली ढील किसी राहत से कम नहीं है. हुबेई प्रांत के ही वुहान शहर में पहली बार कोरोनावायरस की शुरुआत हुई थी. इसके बाद आज यह वायरस 198 देशों में फैल चुका है. महामारी बन चुके इस वायरस की चपेट में आकर अब तक चीन में 3,287 लोगों की और पूरी दुनिया में 21 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई है. इस महामारी को रोकने के लिए हुबेई में करीब 2 महीने तक बेहद सख्‍त तरीके तक लॉकडाउन रखा गया था.


लॉकडाउन ख़त्म, लोग घर से बाहर

चीनी प्रशासन ने वायरस मुक्‍त स्‍वस्‍थ लोगों के लिए ग्रीन हेल्‍थ कोड जारी किया है. इस कोड को पाने वाले लोगों को यात्रा करने के लिए अनुमति दे दी गई है. यात्रा की छूट मिलने के बाद बड़ी तादाद में लोग बुधवार को बसों और ट्रेनों में सवार होकर निकल पड़े. इनमें कई ऐसे थे जो काम पर रवाना हुए. हुबेई में अभी स्‍कूल बंद हैं लेकिन लोगों को काम पर लौटने की छूट दे दी गई है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक़ मैचेंग शहर के रेलवे स्टेशन पर काफी भीड़ देखने को मिली.

 

Omar Khan@OmarGuangzhou

Since March 19th trains have arrived from to this is the 8th train to arrive, it came from and its final stop is Shenzhen north. All on board are migrant workers

3

 · 广州南站 Guangzhou South Railway Station

Twitter Ads info and privacy

See Omar Khan's other Tweets

 

वहां बड़े-बुज़ुर्गों के अलावा बच्चे भी रेलवे स्टेशनों पर मास्क पहने दिखे. कई रेलवे स्टेशनों पर लंबी कतारें देखी गईं. हर जगह प्लेटफॉर्म पर सुरक्षा बल लोगों को निर्देश देते देखे गए. सरकारी न्यूज़ एजेंसी शिनुआ की तस्वीरों के मुताबिक़ इस वायरस से सबसे ज़्यादा पीड़ित शहरों में एक हुआनगैंग की रेलगाड़ियों में प्रवासी कामगारों की संख्या सबसे ज़्यादा थी.

हुबेई की कल की तस्वीर


मेडिकल स्टाफ ने ली राहत की सांस

दरअसल, एक ओर जहां पूरी दुनिया लॉकडाउन हो रही है, चीन के हुबेई प्रांत से ट्रैवल बैन हटा दिया गया है. इस बैन के हटने से करीब 5 करोड़ लोगों को राहत है. एक डॉक्टर ने जश्न मनाते हुए कहा, "हर दिन हमने गंभीर रूप से बीमार लोगों की संख्या कम होते हुए देखी, हालात सुधरने लगे और लोग अस्पताल से डिस्चार्ज होने लगे. डॉक्टर और नर्स हर दिन के साथ और ज्यादा राहत महसूस कर रहे हैं. मैं बहुत खुश हूं." हालांकि, चीन में कोरोनावायरस से सबसे प्रभावित हुए वुहान को फ़िलहाल इस राहत के लिए इंतज़ार करना होगा. यहां 8 अप्रैल से लोगों को बाहर जाने की इजाज़त होगी.

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment