पाकिस्तान छोड़ने से पहले हाई कमिश्नर अजय बिसारिया ने किया ये आखिरी काम

पाकिस्तान छोड़ने से पहले हाई कमिश्नर अजय बिसारिया ने किया ये आखिरी काम

मीडियावाला.इन।

भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव के बाद पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया दिल्ली लौट आए हैं. लेकिन स्वदेश लौटने से पहले अजय बिसारिया एक बार फिर से पाकिस्तान को महात्मा गांधी की याद दिला गए. पाकिस्तान में भारत के हाई कमिश्नर के रूप में अजय बिसारिया ने दूतावास परिसर में 150 पौधे लगाए और हरे-भरे पर्यावरण का संदेश दिया.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म होने के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. पाकिस्तान ने भारत से कूटनीतिक संबंध लगभग खत्म कर दिए हैं. पाकिस्तान ने पिछले बुधवार को ही अजय बिसारिया को इस्लामाबाद छोड़ने को कह दिया था.

India in Pakistan✔@IndiainPakistan

Planting a greener future. has planted 150 trees in its chancery and residential complex as homage to for his . The 150th sapling on our green campus was planted by HC @AjayBis. @DrSJaishankar @MEAIndia @PMOIndia

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

748

10:39 AM - Aug 11, 2019

Twitter Ads info and privacy

171 people are talking about this

इस्लामाबाद छोड़ने से पहले हाई कमिश्नर ने भारतीय दूतावास परिसर में एक अनोखा कार्यक्रम आयोजित किया. इस कार्यक्रम में भारतीय दूतावास के सारे स्टाफ शामिल हुए और पूरे 150 पौधे लगाए. 150वां पौधा हाई कमिश्नर अजय बिसारिया ने लगाया. बता दें कि भारत इस साल महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहा है. इस मौके पर भारत के अलावा विदेश में भी कई कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं.

कार्यक्रम के बारे में भारतीय दूतावास ने ट्वीट कर कहा, "एक हरे-भरे भविष्य के लिए पौधरोपण, महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देते हुए हमने दूतावास और आवासीय परिसर में उनकी 150वीं जयंती पर 150 पौधे लगाए हैं. इस मौके पर 150वां पौधा हाई कमिश्नर अजय बिसारिया ने लगाया."

सूत्रों का कहना है कि अजय बिसारिया रविवार को दिल्ली वापस आ गए हैं. इससे पहले पाकिस्तान यह स्पष्ट कर चुका है कि वह अपने नवनियुक्त उच्चायुक्त मोइन उल हक को नई दिल्ली नहीं भेजने जा रहा है. पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त सोहेल महमूद को विदेश सचिव बनाए जाने के तीन महीने बाद हक की नियुक्ति की गई थी.

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment