केजरीवाल ने बीच में भाषण छोड़ा; रोड-शो में मारपीट,मुर्दाबाद के नारे लगे

1427
हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए सोलन पहुंचे अरविंद केजरीवाल के रोड शो में खूब हंगामा हुआ। बताया। जा रहा यहां पंजाब से कुछ शिक्षक आम आदमी पार्टी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे, जिनके साथ मारपीट हुई है। पंजाब से आए ये लोग आम आदमी पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। आम आदमी पार्टी सोलन के कार्यकर्ता उनके साथ उलझ गए व दोनों पक्ष में मारपीट हुई

गुरुवार को सोलन में रोड-शो कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने लोग मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। इस पर AAP कार्यकर्ता नारे लगाने वालों से भिड़ गए। दोनों ओर से जमकर लात-घूंसे चले। स्थिति यह बनी कि केजरीवाल को बीच में ही भाषण छोड़कर लौटना पड़ा।

03 11 2022 kejriwal road show dispute solan 23179683 154550942

हिमाचल प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी सभी 68 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। चुनाव अभियान में गुरुवार को पहली बार अरविंद केजरीवाल पहुंचे थे। वे सोलन सीट से उम्मीदवार अंजू राठौर के लिए रोड-शो कर रहे थे, तभी हंगामा हो गया। हिमाचल में 12 नवंबर को वोटिंग होना है।

केजरीवाल की तरफ पर्चे फेंकने पर कार्यकर्ताओं ने कर दी पिटाई

केजरीवाल की तरफ पर्चे फेंकने पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भड़क गए और उन्होंने हंगामा कर रहे लोगों की पिटाई कर दी। पुलिस ने बीच-बचाव करके कुछ लोगों को बचाया। यह पूरा हंगामा अरविंद केजरीवाल के भाषण के दौरान हुआ।अरविंद केजरीवाल ने इस पर प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि यह आम आदमी पार्टी नहीं भाजपा और कांग्रेस के गुंडे हैं, जिन्‍होंने यह हंगामा किया है। केजरीवाल ने कहा गुंडागर्दी के लिए आम आदमी पार्टी में कोई स्‍थान नहीं है।

केजरीवाल सोलन शहर में पुराने DC ऑफिस से खुली गाड़ी में सवार होकर निकले। उनके साथ शिमला संसदीय क्षेत्र की 17 विधानसभा सीटों के पार्टी के उम्मीदवार और कार्यकर्ता थे। खुली गाड़ियों में उनका रोड शो पुराने बस स्टैंड पहुंचा जहां केजरीवाल ने गाड़ी से भाषण शुरू किया।

वे 5 मिनट ही बोले थे कि कुछ लोगों ने केजरीवाल मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। नारे लगाने वालों ने ETT-TET पास अध्यापक एसोसिएशन के पर्चे भी उछाले। इस पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नारे लगाने वालों को पीटते हुए धक्के देना शुरू कर दिया। इसके बाद दोनों ओर से लात-घूंसे चलने लगे।

माहौल बिगड़ता देखकर पुलिस ने बीच-बचाव करते हुए नारेबाजी करने वालों को रोड-शो से हटा दिया। हालांकि उसी समय केजरीवाल ने यह कहते हुए अपना भाषण बंद कर दिया कि अगर किसी को गुंडागर्दी ही करनी है तो वह भाजपा या कांग्रेस के पास चले जाएं। इसके बाद केजरीवाल रोड शो छोड़कर चले गए।