कमलनाथ सरकार के ख़िलाफ बीजेपी का घंटानाद आंदोलन : नेताओं ने बजाए शंख-मंजीरे

कमलनाथ सरकार के ख़िलाफ बीजेपी का घंटानाद आंदोलन : नेताओं ने बजाए शंख-मंजीरे

मीडियावाला.इन।

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव जबलपुर में इस प्रदर्शन में शामिल हुए. उन्होंने कहा कांग्रेस सरकार से काम नहीं हो रहा है. सरकार सिर्फ बहानेबाज़ी कर रही है.

भोपाल. कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) के खिलाफ बीजेपी ने बुधवार को प्रदेश भर में घंटानाद आंदोलन किया. बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं के नेतृत्व में नेता और कार्यकर्ताओं ने ज़िला मुख्यालयों में कलेक्ट्रेट के बाहर घंटे-घड़ियाल और ढोल-मंजीरों के साथ पहुंचकर प्रदर्शन किया. बीजेपी का कहना है कमलनाथ सरकार कुंभकर्णी नींद में सो रही है. ऐसे में घंटे-मंजीरे बजाकर उसे जगाना ज़रूरी गया था.

भोपाल में राकेश सिंह उतरे- भोपाल में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह ने आंदोलन का नेतृत्व किया. कार्यकर्ताओं और नेताओं की फौज के साथ वो घंटे-मंजीरे लेकर कमलनाथ सरकार के ख़िलाफ सड़क पर उतरे.
 

भोपाल में घंटा-मंजीरा लेकर कार्यकर्ता सड़क पर उतरे


इंदौर में बैरिकेड तोड़े- इंदौर में पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के नेतृत्व में बीजेपी नेघंटानाद आंदोलन किया. यहां कार्यकर्ताओं ने बेरिकेड तोड़ दिए. ये लोग कलेक्ट्रेट में घुसने की कोशिश में गेट पर चढ़ गए. उस दौरान उनकी पुलिस से झड़प हुई.  बीजेपी कार्यकर्ता घंटे घड़ियाल और सीटी बजाते हुए हरसिद्धि मंदिर से कलेक्ट्रेट तक पहुंचे.
 

इंदौर में कार्यकर्ता गेट पर चढ़ गए और बेरिकेट तोड़ दिए



जबलपुर में गिरफ्तारी-नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव जबलपुर में इस प्रदर्शन में शामिल हुए. उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ़्तारी दी. पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया. गोपाल भार्गव ने कहा कांग्रेस सरकार से काम नहीं हो रहा है. सरकार सिर्फ बहानेबाज़ी कर रही है. सरकार को जगाने के लिए हमने घंटा नाद आंदोलन किया है. कमलनाथ सरकार में चपरासी लिफाफा और मंत्री सूटकेस लेकर काम कर रहे हैं.

बीजेपी ने इस आंदोलन में किसान कर्जमाफी, बेरोजगारी भत्ता, बिजली बिल के साथ-साथ कांग्रेस में मचे घमासान का भी मुद्दा था. भोपाल में राकेश सिंह, विदिशा में शिवराज सिंह चौहान, बुरहानपुर में अर्चना चिटनिस जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव  और ग्वालियर में पूर्व मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने घंटा बजाया.

बुरहानपुर में घंटानाद प्रदर्शन
इन मुद्दों पर बीजेपी ने बजाए ढोल-मंजीरे
बीजेपी ने कांग्रेस सरकार पर 9 महीने में जनता के वायदों की अनदेखी के आरोप लगाए हैं. उसका कहना है किसान से लेकर युवा और महिलाओं से लेकर बच्चे इस सरकार में सभी परेशान हैं. बीजेपी  इस आंदोलन में किसान कर्जमाफी, युवा स्वाभिमान योजना, युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, बिजली के बढ़े हुए बिल जैसे मुद्दों के साथ-साथ कांग्रेस नेताओं के बीच मचे घमासान को लेकर जनता के बीच उतरी.
 

जबलपुर में कार्यकर्ताओं ने सीटी औऱ बिगुल भी बजाया



बड़े नेताओं को ज़िम्मेदारी-विदिशा में घंटानाद आंदोलन का ज़िम्मा पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दिया गया था. भोपाल में राकेश सिंह, सीहोर में नरोत्तम मिश्रा, बालाघाट में गौरीशंकर बिसेन, मुरैना में उमाशंकर गुप्ता, शिवपुरी में माया सिंह, अशोकनगर में जयभान सिंह पवैया, सागर में प्रभात झा, टीकमगढ़ में वीरेंद्र खटीक, दमोह में जयंत मलैया, जबलपुर ग्रामीण में गोपाल भार्गव ने ये ज़िम्मेदारी संभाली.

Source-News18

 

 

0 comments      

Add Comment