'आसमान से गिरे, खजूर में अटके', अमिताभ ने की 'पुलिस दंपति के मिलन' की अपील, उलटा पड़ गया मामला

'आसमान से गिरे, खजूर में अटके', अमिताभ ने की 'पुलिस दंपति के मिलन' की अपील, उलटा पड़ गया मामला

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। मशहूर टीवी शो 'कौन बनेगा करोड़पति' को होस्ट कर रहे बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और अक्सर अपनी पोस्ट के जरिए शो में आने वाले लोगों की प्रेरणा देने वाली कहानी शेयर करते हैं। हाल ही में केबीसी में मध्य प्रदेश पुलिस में ट्रैफिक कांस्टेबल के पद पर तैनात विवेक परिहार शामिल हुए और शो के दौरान उन्होंने बताया कि वो और उनकी पत्नी दोनों पुलिस में हैं, लेकिन अलग-अलग जिलों में तैनात हैं। इसके बाद अमिताभ बच्चन ने मध्य प्रदेश के सीएम और डीजीपी से उनकी मदद करने की अपील की, लेकिन मामला पूरी तरह उलटा हो गया।

क्या है पूरा मामला

TOI की खबर के मुताबिक, पूरा मामला कुछ इस तरह है कि 'कौन बनेगा करोड़पति' शो में कंटेस्टेंट के तौर पर आए विवेक परिहार ने हॉट सीट पर अमिताभ बच्चन के सवालों के जवाब दिए और 25 लाख रुपए की धनराशि जीती। शो में बातचीत के दौरान विवेक ने अमिताभ बच्चन को बताया कि वो मंदसौर में रहते हैं, जबकि उनकी पत्नी जो खुद भी मध्य प्रदेश पुलिस में हैं, ग्वालियर में तैनात हैं। विवेक ने बताया कि नौकरी की वजह से उन्हें और उनकी पत्नी को अलग रहना पड़ता है, जिसकी वजह से दोनों के सामने कई दिक्कतें आती हैं।

विवेक की बातें सुन अमिताभ ने की अपील

विवेक की बातें सुन अमिताभ बच्चन ने शो के दौरान ही मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और पुलिस अधिकारियों से निवेदन किया कि अगर संभव हो तो उनकी मदद करते हुए पति-पत्नी का एक ही जिले में ट्रांसफर कर दिया जाए। अमिताभ बच्चन ने अपनी अपील में कहा, 'मध्य प्रदेश में जो भी अधिकारी ट्रांसफर की जिम्मेदारी संभालते हैं, मेरा उनसे निवेदन है कि कृपया इन पति-पत्नी को साथ मिलाने के लिए इनका ट्रांसफर एक ही जिले में कर दें। इसमें आपका कुछ नहीं जाएगा, लेकिन इनकी मदद हो जाएगी।'

प्रीति ने भी जाहिर की विवेक के साथ रहने की इच्छा

अमिताभ बच्चन की इस अपील को सुनने के बाद मंदसौर से भाजपा विधायक यशपाल सिसोदिया ने भी ट्वीट करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान और मध्य प्रदेश के डीजीपी से विवेक परिहार और उनकी पत्नी को एक ही जिले में ट्रांसफर करने की गुजारिश की। वहीं, ग्वालियर के इंद्रगंज पुलिस थाने में तैनात विवेक की पत्नी प्रीति ने कहा कि अपने पति के साथ रहकर नौकरी करने की इच्छा जाहिर की।

प्रीति का ट्रांसफर हुआ, लेकिन मुश्किलें बढ़ीं

मामला लाइमलाइट में आया और आखिरकार 18 जनवरी को मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय से विवेक की पत्नी प्रीति के ट्रांसफर के आदेश जारी हो गए। प्रीति परिहार को मंदसौर के नारकोटिक्स विभाग में तीन साल के लिए डेप्यूटेशन पर भेज दिया गया है। हालांकि अपनी पत्नी के इस ट्रांसफर ने विवेक परिहार की मुश्किलों को और बढ़ा दिया। दरअसल विवेक परिवार के माता-पिता ग्वालियर में रहते हैं और उनकी पत्नी के मंदसौर आ जाने के बाद माता-पिता की देखभाल करने वाला कोई नहीं है।

विधायक यशपाल सिसोदिया ने भी किया ट्वीट

अपनी पत्नी के ट्रांसफर पर विवेक परिहार ने कहा, 'ग्वालियर में मेरे बूढ़े माता-पिता को देखने वाला अब कोई नहीं है। अब तो हमारी मुश्किल और ज्यादा बढ़ गईं हैं।' वहीं इस मामले को लेकर भाजपा विधायक यशपाल सिसोदिया ने भी ट्वीट करते हुए कहा, 'आदरणीय अमिताभ बच्चन जी के आग्रह पर मध्य प्रदेश के डीजीपी जी आपने समस्या का समाधान किया धन्यवाद आपका, लेकिन समाधान की बजाए समस्या बढ़ गई है। दोनों एक जगह तो आ गए, पर दोनों के बुजुर्गों की परिशानियां बढ़ जाएंगी। अतः आदेश संशोधित कर विवेक को मंदसौर से स्थानांतरित करने के आदेश प्रदान करें।'

OneIndia.com

RB

 

 

 

0 comments      

Add Comment