कौन हैं यशवर्धन सिन्हा, बनेंगे नए CIC, कांग्रेस क्यों कर रही विरोध

कौन हैं यशवर्धन सिन्हा, बनेंगे नए CIC, कांग्रेस क्यों कर रही विरोध

मीडियावाला.इन।

पूर्व IFS अधिकारी यशवर्धन सिन्हा अगले मुख्य सूचना आयुक्त (CIC) बनने जा रहे हैं. बिमल जुल्का के सेवानिवृत्त होने के बाद 27 अगस्त से यह पद खाली पड़ा हुआ था. जानें कौन हैं यशवर्धन सिन्हा.

यशवर्धन सिन्हा पूर्व आईएफएस अफसर नए चीफ इन्फॉर्मेशन कमिश्नर बनने वाले हैं. बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने सर्च कमेटी द्वारा CIC और सूचना आयुक्तों (IC) के पदों के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों को लेकर सरकार को एक असहमति नोट सौंपा था. लोकसभा में विपक्ष के नेता (LoP) अधीर रंजन चौधरी ने चयन प्रक्रिया के दौरान पारदर्शिता की कमी का आरोप लगाया था. 

सूत्रों ने इंडिया टुडे टीवी को बताया कि 1981 बैच के सेवानिवृत्त IFS अधिकारी यशवर्धन सिन्हा देश के अगले CIC बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. केंद्र सरकार की ओर से जल्द ही केंद्रीय सूचना आयोग में अन्य रिक्त पदों को भरने की संभावना है. बता दें कि यशवर्धन सिन्हा पहले भी सूचना आयुक्त रह चुके हैं. यशवर्धन सिन्हा 1981 बैच के भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी थे. वो ब्रिटेन में भारत के उच्चायुक्त भी रह चुके हैं. 

एजुकेशन की बात करें तो यशवर्धन सिन्हा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से एमए हिस्ट्री से पढ़ाई की है. इसके अलावा अमेरिका की एक यूनिवर्सिटी से अरेबिक में एडवांस डिप्लोमा किया है. प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री और लोकसभा में विपक्ष के नेता सहित उच्च-स्तरीय चयन समिति की बैठक पिछले सप्ताह नियुक्तियों पर मुहर लगाने के लिए हुई.

इंडिया टुडे टीवी को मिली जानकारी के अनुसार विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने CIC और IC के लिए नामों की शॉर्टलिस्टिंग में एक असहमतिपूर्ण नोट दिया था. उच्चस्तरीय समिति की बैठक के दौरान अधीर रंजन ने आरोप लगाया था कि खोज समिति पारदर्शी नहीं थी क्योंकि उसमें सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन किया गया था.

Aajtak

RB 

0 comments      

Add Comment