पांच राज्यों में बढ़े ब्लैक फंगस के केस: 2 प्रदेशों में फ्री में होगा इलाज, जानें क्या है इसके लक्षण

पांच राज्यों में बढ़े ब्लैक फंगस के केस: 2 प्रदेशों में फ्री में होगा इलाज, जानें क्या है इसके लक्षण

मीडियावाला.इन।

हेल्थ डेस्क. कोरोना संक्रमण (covid-19) के बढ़ते मामलों के बीच देश में ब्लैक फंगस (black fungus) के मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना के कारण ब्लैक फंगस का खतरा तेजी से कई राज्यों में बढ़ रहा है। इसे म्यूकोमायकोसिस के नाम से भी जाना जाता है। अकेले महाराष्ट्र में 2000 से अधिक मामले आ चुके  हैं। महाराष्ट्र के अलावा देश के कई राज्यों में इसके मामले सामने आ रहे हैं। आइए जानते हैं  किन राज्यों में ब्लैक फंगस के केस बढ़ रहे हैं और इससे निपटने के लिए क्या इंतजाम किए गए हैं।

<p><strong>क्या है ब्लैक फंगस</strong><br />
यह एक फंगल इन्फेक्शन है जो म्यूकोरमाइसेट्स नाम के फफूंद यानि मोल्ड या फंगस के समूह की वजह से होता है। जिस इंसान की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है वे जल्दी इसका शिकार हो रहे हैं।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

क्या है ब्लैक फंगस

यह एक फंगल इन्फेक्शन है जो म्यूकोरमाइसेट्स नाम के फफूंद यानि मोल्ड या फंगस के समूह की वजह से होता है। जिस इंसान की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है वे जल्दी इसका शिकार हो रहे हैं।

<p><strong>क्या हैं लक्षण</strong><br />
ब्लैक फंगस नाक और साइनस के जरिए इंसान की बॉडी में प्रवेश करता है। यह आंख पर हमले के बाद दिमाग को संक्रमित करता है। पलकों पर सूजन आना, बुखार, सिरदर्द, खफ, सांस की कमी, मानसिक तनाव और उल्टी आना। &nbsp;&nbsp;</p>

क्या हैं लक्षण

ब्लैक फंगस नाक और साइनस के जरिए इंसान की बॉडी में प्रवेश करता है। यह आंख पर हमले के बाद दिमाग को संक्रमित करता है। पलकों पर सूजन आना, बुखार, सिरदर्द, खफ, सांस की कमी, मानसिक तनाव और उल्टी आना।

<p><strong>महाराष्ट्र</strong><br />
महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राज्य में अब तक 2000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 8 लोगों की मौत हो चुकी है।<br />
<strong>क्या इंतजाम-</strong> ब्लैक फंगस के खतरे से निपटने के लिए बीएमसी (BMC) ने एक टास्क फोर्स का गठन किया है। यहां ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का फ्री में इलाज किया जाएगा।</p>

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राज्य में अब तक 2000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 8 लोगों की मौत हो चुकी है।

क्या इंतजाम- ब्लैक फंगस के खतरे से निपटने के लिए बीएमसी (BMC) ने एक टास्क फोर्स का गठन किया है। यहां ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का फ्री में इलाज किया जाएगा।

<p><strong>मध्यप्रदेश</strong><br />
ब्‍लैक फंगस से अब तक दो लोगों की जान जा चुकी है। इसके साथ ही राज्य में इसके 50 से ज्यादा मामले सामने आए हैं।&nbsp;<br />
<strong>क्या इंतजाम- </strong>मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस के केस को लेकर सरकार ने बड़ी घोषणा की है। मध्यप्रदेश सरकार ने कहा है कि गरीब परिवारों का पूरा इलाज सरकार के द्वारा किया जाएगा।&nbsp;</p>

मध्यप्रदेश

ब्‍लैक फंगस से अब तक दो लोगों की जान जा चुकी है। इसके साथ ही राज्य में इसके 50 से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

क्या इंतजाम- मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस के केस को लेकर सरकार ने बड़ी घोषणा की है। मध्यप्रदेश सरकार ने कहा है कि गरीब परिवारों का पूरा इलाज सरकार के द्वारा किया जाएगा।

<p><strong>गुजरात</strong><br />
राज्य के सूरत, अहमदाबाद समेत कई शहरों में ब्लैक फंगस के 60 से अधिक मरीज मिले हैं। इसमें से कई मरीजों की आंख की रोशनी तक जा चुकी है।<br />
<strong>क्या इंतजाम- </strong>ब्लैक फंगस के इलाज के लिए राजकोट अस्पताल में अलग से स्पेशल वार्ड बनाया गया है। सरकार ने इसके इलाज में काम आने वाली दवा की 5,000 शीशियों पहले से ही &nbsp;खरीद ली हैं।<br />
&nbsp;</p>

गुजरात

राज्य के सूरत, अहमदाबाद समेत कई शहरों में ब्लैक फंगस के 60 से अधिक मरीज मिले हैं। इसमें से कई मरीजों की आंख की रोशनी तक जा चुकी है।

क्या इंतजाम- ब्लैक फंगस के इलाज के लिए राजकोट अस्पताल में अलग से स्पेशल वार्ड बनाया गया है। सरकार ने इसके इलाज में काम आने वाली दवा की 5,000 शीशियों पहले से ही खरीद ली हैं।

<p><strong>राजस्थान</strong><br />
राजस्‍थान में ब्‍लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ब्‍लैक फंगस से संक्रमित कई मरीजों की आंख की रोशनी तक जा चुकी है।</p>

<p><strong>क्या इंतजाम- </strong>राज्य के सीएम अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार से इस बीमारी पर रिसर्च करने की मांग की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बीमारी की रोकथाम में काम आने वाली जरुरी दवाइयों और इंजेक्शन जैसे एम्फोटिसिरिन की व्यवस्था करनी चाहिए।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

राजस्थान

राजस्‍थान में ब्‍लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ब्‍लैक फंगस से संक्रमित कई मरीजों की आंख की रोशनी तक जा चुकी है।

क्या इंतजाम- राज्य के सीएम अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार से इस बीमारी पर रिसर्च करने की मांग की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बीमारी की रोकथाम में काम आने वाली जरुरी दवाइयों और इंजेक्शन जैसे एम्फोटिसिरिन की व्यवस्था करनी चाहिए।

<p><strong>उत्तर प्रदेश</strong><br />
कोरोना संक्रमण के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में ब्लैक फंगस इंफेक्शन ने भी दस्तक दे दी है। प्रदेश में अब तक 76 मरीज मिले चुके हैं। जिनमें से तीन लोगों की मौत हो चुकी है। &nbsp;</p>

<p><strong>क्या इंतजाम-</strong> प्रदेश के सभी अस्पतालों को अलर्ट किया है। ब्लैक फंगस के मरीजों की समय पर पहचान करने को कहा गया है। लक्षण मिलने पर मरीज को मेडिकल कॉलेज रेफर करने को कहा गया है। मेडिकल कॉलेजों में अलग से वार्ड बनाकर ऐसे मरीजों को भर्ती करने का इतजाम किया गया है।</p>

उत्तर प्रदेश

कोरोना संक्रमण के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में ब्लैक फंगस इंफेक्शन ने भी दस्तक दे दी है।

क्या इंतजाम- प्रदेश के सभी अस्पतालों को अलर्ट किया है। ब्लैक फंगस के मरीजों की समय पर पहचान करने को कहा गया है। लक्षण मिलने पर मरीज को मेडिकल कॉलेज रेफर करने को कहा गया है। मेडिकल कॉलेजों में अलग से वार्ड बनाकर ऐसे मरीजों को भर्ती करने का इंतजाम किया गया है।

<p><strong>इन राज्यों में भी केस</strong><br />
इसके अलावा झारखंड, दिल्ली-एनसीआर, कर्नाटक और तेलंगाना भी भी ब्लैक फंगस के केस सामने आ रहे हैं।&nbsp;</p>

<p>&nbsp;</p>

<p><strong>Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona</strong></p>

इन राज्यों में भी केस

इसके अलावा झारखंड, दिल्ली-एनसीआर, कर्नाटक और तेलंगाना भी भी ब्लैक फंगस के केस सामने आ रहे हैं।

Asianetnews

RB

0 comments      

Add Comment