भोपाल: जिन्हें मामू और नानू कहती थी मासूम बच्ची, उन्होंने ही कर दी हैवानियत की हदें पार

भोपाल: जिन्हें मामू और नानू कहती थी मासूम बच्ची, उन्होंने ही कर दी हैवानियत की हदें पार

मीडियावाला.इन।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से रविवार को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। गौरतलब है कि भोपाल में एक छह वर्ष की नन्ही बच्ची के साथ उन्हीं दो लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है, जिन्हें वो मामू और नानू बुलाती थी। दोनों आरोपितों की उम्र क्रमश: 20 वर्ष और 48 वर्ष बताई जा रही है। पीड़ित बच्ची की मां की शिकायत के बाद दोनों आरोपितों के खिलाफ दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

स्थानीय पुलिस के मुताबिक एक 25 वर्षीय महिला कोलार में अपने पति और दो बच्चों के साथ रहती है। उसकी बेटी छह साल की है और एक तीन साल का बेटा है। महिला निजी काम करती है। खबरों के मुताबिक दोनों आरोपितों का बच्ची के घर आना-जाना था। इसी की आड़ में उन्होंने इस घिनौने कांड को अंजाम दिया।

 

दुष्कर्म के बाद उन्होंने बच्ची को किसी के सामने मुंह न खोलने की धमकी भी दी। नतीजतन मासूम बच्ची सात दिन तक किसी को भी अपनी आपबीती नहीं बता पाई। लेकिन एक सप्ताह तक उसकी बिंगड़ी हुई हालत को देखते हुए जब उसकी मां ने उससे प्यार से पूछा तो बच्ची ने अपने साथ हुई दरिदंगी को बयान कर दिया। हालांकि शुरुआत में बच्ची ने मां को सिर्फ पेट दर्द के बारे में बताया था।

 

लेकिन जब मां ने जोर देकर पूछा तो बच्ची ने बता दिया कि पड़ोस में रहने वाले मुंहबोले मामा उसे सप्ताह भर पहले समोसा दिलने ले गए थे, उससे पहले वे उन्हें नाना के घर ले गए, जहां दोनों ने उसके साथ गलत काम किया। दर्द ज्यादा होने पर वे उसे एक समोसा और 20 रुपए देकर वापिस छोड़ गए। साथ ही किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

0 comments      

Add Comment