सर्दी-जुकाम को समझा कोरोना का अटैक, फांसी लगाकर दे दी जान

सर्दी-जुकाम को समझा कोरोना का अटैक, फांसी लगाकर दे दी जान

मीडियावाला.इन।

कोरोनावायरस यानी कोविड 19 का डर लोगों के दिमाग में इस कदर बैठ गया है कि अब लोग डर से आत्महत्या करने लगे हैं. खुदकुशी भी इसलिए की गई ताकि उसकी वजह से किसी को कोविड 19 कोरोनावायरस का संक्रमण न हो. कोई उसकी वजह से बीमार न हो. ये सुसाइड की घटना आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले की है.

चित्तूर जिले के थोट्टमबेडू गांव के बालाकृष्णैया को लगा कि उन्हें कोविड 19 कोरोनावायरस का संक्रमण हो गया है. अब इसका कोई इलाज तो है नहीं. उनकी वजह से और लोग बीमार न हो इसलिए उन्होंने अपनी मां की कब्र के पास ही एक पेड़ से लटककर खुदकुशी कर ली.

54 वर्षीय बालाकृष्णैया शनिवार को रुइया सरकारी अस्पताल में गए थे जांच के लिए. वहां पता चला कि उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन है. लेकिन डॉक्टरों से बातचीत के दौरान कोई कन्फ्यूजन हुआ जिसकी वजह से उन्हें लगा कि वे कोविड 19 कोरोनावायरस से संक्रमित हैं.

बालाकृष्णैया के बेटे ने मीडिया वालों को बताया कि मैंने पिता जी को समझाने की कोशिश की थी कि उन्हें कोविड 19 कोरोनावायरस का संक्रमण नहीं है. लेकिन वे काफी शांत थे. वे ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं थे. इसलिए डॉक्टर की बात भी नहीं समझ पाए. उन्हें लगा कि उन्हें कोरोनावायरस है.

शनिवार को अस्पताल से आने के बाद बालाकृष्णैया अजीबोगरीब तरीके से व्यवहार कर रे थे. सोमवार की सुबह उन्होंने खुदकुशी कर ली. बालाकृष्णैया की पत्नी ने बताया कि डॉक्टरों ने बालाकृष्णैया को बताया कि उन्हें इंफेक्शन है. उन्हें मास्क लगाना चाहिए. इसके बाद बालाकृष्णैया को लगा कि उन्हें कोविड 19 कोरोनावायरस का संक्रमण है. परिवार और गांव के लोगों में ये बीमारी न फैले इसलिए उन्होंने खुदकुशी कर ली.
 

कोविड 19 कोरोनावायरस से अब तक दुनिया में 44,833 लोग संक्रमित हो चुके हैं. जबकि 1112 लोगों की मौत हो चुकी है. अब कोविड 19 के नाम से ही यह जानलेवा वायरस पूरी दुनिया को डराएगा.

कोविड 19 कोरोनावायरस की वजह से सिर्फ चीन में ही 44,318 लोग बीमार हैं. जबकि, 1110 लोगों की मौत हो चुकी है. कोविड 19 नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिया है.

Aaj Tak via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment