Mandsaur Good News: हवाई पट्टी उड़ान योजना में मंदसौर शामिल, CM ने विधानसभा में दी जानकारी

2076

Mandsaur Good News: हवाई पट्टी उड़ान योजना में मंदसौर शामिल,
CM ने विधानसभा में दी जानकारी

डॉ घनश्याम बटवाल की ख़ास ख़बर

भोपाल/मंदसौर। मंदसौर जिले के लिए एक खोज खबर है केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने उड़ान योजना के अंतर्गत मंदसौर की हवाई पट्टी को भी शामिल कर लिया है।
मंदसौर जिले एवं आसपास नीमच , जावरा , प्रतापगढ़ आदि क्षेत्रों के लोगों की आस बंधी है कि शीघ्र ही यह योजना मूर्त रूप लेगी और यहां के लोगों को इसका फायदा मिलने लगेगा।
यह जानकारी मंदसौर विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया के विधानसभा में पूछे गये प्रश्न के उत्तर में स्वयं मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को दी । इसके साथ ही अन्य हवाई सेवा संबंधी सुविधाएं भी मंदसौर को मिल सकेगी ।
वरिष्ठ विधायक श्री यशपाल सिंह सिसोदिया ने विधानसभा में मंदसौर हवाई पट्टी से जुड़ी विभिन्न सुविधाओं का मामला विधानसभा में उठाया। जिसका जवाब मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रस्तुत किया गया।

मुख्यमंत्री ने जवाब में बताया कि मंदसौर की हवाई पट्टी केंद्र की उड़ान योजना में शामिल है।

विधायक श्री सिसोदिया ने और तारांकित प्रश्न क्रमांक 2416 के माध्यम से जानना चाहा था कि क्या मुख्यमंत्री महोदय यह बताने की कृपा करेंगे कि मंदसौर स्थित हवाई पट्टी पर वर्तमान में कौन सी सुविधाएं हैं और कौन सी सुविधाएं प्रचलन में है? वर्तमान में कुल कितने युवा कितने हेलीकॉप्टर से प्रशिक्षण ले रहे हैं? क्या मंदसौर में एयर एंबुलेंस की सुविधा आमजन के लिए की जाएगी यदि हां तो कब तक? क्या मंदसौर से अन्य शहरों के लिए नियमित या साप्ताहिक उड़ान की योजना है?

इसके जवाब में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा प्रस्तुत जवाब में बताया गया कि मंदसौर स्थित हवाई पट्टी पर एविएशन अकादमी के अंतर्गत वर्तमान में प्राइवेट ट्रेनिंग सुविधाएं उपलब्ध हैं। साथ ही एयरोस्पोर्ट्स एक्टिविटी की कार्रवाई प्रचलन में है। वर्तमान में मंदसौर स्थित हवाई पट्टी पर 18 युवा पांच विमानों से पायलट प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। एयर एम्बुलेंस संबंधी अनुमति भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। आवश्यकता होने पर आमजन निजी संस्थाओं से समन्वय स्थापित कर यह सुविधा प्राप्त कर सकते हैं।
भारत सरकार की उड़ान योजना में मंदसौर हवाई पट्टी का भी नाम है। फ्लाइट के संबंध में केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय ही निविदा आमंत्रित कर निर्णय लेता है।